किराना स्टोर बिजनेस की जानकारी | Grocery Store Business Ideas in Hindi

किराना/जनरल स्टोर की दुकान कैसे खोले पूरी जानकारी

हमें रोजमर्रा की जरूरी चीजों के लिए जो सामान चाहिए होते है, वो सब लेने के लिए हम किराना की दुकान पर जाते है। हमारे देश की जनसंख्या लगातार बड़ रही इसका मतलब है कि रोजमर्रा के जरूरत की चीजों की मांग भी बड़ेगी, ऐसे में आप अपनी नई किराना कि दुकान खोलकर अच्छा मुनाफा कमा सकते है। यह बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जो बारह महीने चलता है, चाहे सर्दी, बरसात या हो गर्मी क्योंकि लोगों को तेल, शक्कर, आटा, मिर्च, मसाले आदि चीजें जीवन निर्वाह के लिए हमेशा चाहिए होती है।

यदि आप इस बिजनेस में पूरे धैर्य के साथ जुड़े रहें यदि आप भी किराना स्टोर बिजनेस शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो, चलिये आज इस बिजनेस से जुड़ी हर बारीकियों की विस्तार से बात करते हैं, और जानते हैं कि इस बिजनेस में कितना इन्वेस्ट करना चाहिए, और उस इन्वेस्टमेंट में हमे कितना फायदा हो सकता है? 

किराना स्टोर खोलने के लिए क्या-क्या चाहिए 

किराना स्टोर खोलने के लिए आपको सबसे पहले एक दूकान की जरूरत पड़ती है और एक सामान का भंडार के लिए गोदाम की। यदि आप शुरूआत में कम प्रोडक्ट ही बेचना चाहते हैं तो आप गोदाम के बिना भी काम चला सकते हैं। इसके बाद कुछ फर्नीचर का काम कराना जरूरी है जिसमें आप प्रोडक्ट को सही से जमा पाएं।

इसके अलावा आपको कस्टमर्स के लिए टेबल अपने लिए कांउटर फर्नीचर आदि की आवश्यकता पड़ती है। दूकान सही से व्यवस्थित हो जाने के बाद आपको किराना स्टोर के लिए सामान खरीदने पड़ेंगे जिन्हें आप बेचना चाहते हैं। अगर आप इस बिजनेस को अकेले मेनेज करना चाहते हैं तो आप कर सकते हैं इतना ही नहीं आप इसे अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं जिससे आपको वर्कर्स की जरूरत नहीं पड़ेगी। यदि आप एक वर्कर को काम पर रखना चाहते हैं तो आप रख सकते हैं।

क्या इस बिजनेस का बाजार है?

यदि आप किराना की दुकान खोल रहे है तो आप इस बात से निश्चिन्त रहे कि इस बिजनेस का मार्किट है या नही क्योंकि किराना की दुकान में ऐसे समान मिलते है जो कोई भी व्यक्ति अपनी शान और शौक पूरा करने के लिए नही लेता है बल्कि वह अपनी जरूरते पूरी करने के लिए लेता है इसलिए व्यक्ति चाहे कोई भी हो उसे किराने की दुकान में तो जाना ही पड़ेगा इसलिए इस बिज़नेस का बाजार तो बहुत बड़ा है जब बाजार ज्यादा बड़ा है तो वहां पर प्रतिस्पर्धा भी ज्यादा होती है इस वजह से आपकी कोशिश सिर्फ इस बात पर होनी चाहिए कि कैसे आप ग्राहकों को अपने दुकान तक खींच कर लाएं

किराना स्टोर खोलने से पहले कुछ बिंदु जान लेना आवश्यक है

किराना की दुकान तो खोल सभी सकते है पर चलती बहुत कम लोगो की है इसके पीछे कई वजह होती है कभी कभी ऐसा भी होता है कि कोई भी समान का मूल्य एक जैसे ही हो फिर भी हम दूर वाली दुकान से सामान लेना ज्यादा पसंद करते हैं, जबकि पास वाली से नही तो जब भी दुकान खोले, कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखें, जिससे आपकी दुकान अच्छे से चल सके

व्यवहार में विनम्रता हो

जब भी कोई व्यक्ति किराने से सम्बंधित कोई सामान किसी दुकान से हर बार खरीदता है, तो उसका उस दुकान से कोई न कोई भावनात्मक रिश्ता जरूर बन जाता है यह रिश्ता आपको किराने के बिजनेस में बहुत फायदा पहुचाने वाला होता है इस लिए कोई भी ग्राहक हो उसे थोड़ा भावनात्मक रिश्ता बनाने की कोशिश जरूर करें उदाहरण के लिए जब वो कोई सामान ले रहा हो तो आप उसे उस वक़्त कोई ऐसी सलाह दे सकते हैं जो उसके परिवार और उसके सेहत को लाभ पहुचाएं इसके साथ ही आपकी भाषा मे विनम्रता होनी बहुत जरूरी है

किराना स्टोर किराए की हो या घर पर खोलें?

किराना स्टोर बिजनेस शुरू करते वक़्त बहुत से लोगो के दिमाग मे यह प्रश्न जरूर आता है कि सबसे अच्छी लोकेशन घर होगी या कही घर के बाहर तो यहां पर के लिए यही उचित होगा कि आप आपकी दुकान उस जगह पर खोलें, जहां ज्यादा भीड़ आती हो यदि आप घर पर ही दुकान खोल लेते है, पर आपके ग्राहक बहुत की कम बन पाते है, क्योंकि आपका घर पहुँच से दूर है

किराना स्टोर खोलने के लिए दुकान की जगह कितनी होनी चाहिए

यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कितनी बड़ी दुकान खोलना चाहते है पर फिर भी यदि एक व्यवस्थित किराना की दुकान खोलनी हो तो आपको कम से कम दुकान में 200 स्क्वायर फीट से 1000 स्क्वायर फ़ीट की जगह जरूर रखनी चाहिए इससे आपको दुकान में अपने सभी सामान को अच्छे से रखने में सुविधा होगी

किराना स्टोर का आंतरिक डिज़ाइन

किराना स्टोर की आंतरिक डिज़ाइन भी महत्व रखती है कोई भी दुकान हो उसकी आन्तरिक डिज़ाइन ऐसी होनी चाहिए जिससे दुकान का लगभग 80% समान तो ग्राहकों को जरूर दिखना चाहिए इसके साथ ही यदि आपके दुकान का आंतरिक डिज़ाइन अच्छा है तो आपको भी समान व्यवस्थित रखने में कोई दिक्कत महसूस नही होगी साथ ही जरूरत के वक़्त आप समान को आसानी से निकाल कर ग्राहक को दे सकते हैं

एक अच्छा आंतरिक डिज़ाइन बिजनेस में भी थोड़ा फायदा पहुंचा सकता है जैसे कई बार ग्राहक कुछ और समान लेने के लिए आता है, पर समान पर नजर पडते ही उसे कुछ और समान की याद आ जाती है और वो वह भी खरीद लेता है

किराना स्टोर में क्या-क्या सामान रख सकते हैं 

किराना दुकान यानि ऐसी दुकान जहां पर लोगों की रोजमर्रा की जरूरी चीजें मिलती हो। आप अपनी किराना की दुकान में बहुत तरह की चीजें रख सकते हो, पर आपको मुख्यत खाने पीने की चीजें रखनी चाहिए जिसकी जरूरत लोगों को रोजाना पड़ती है।

आप इन सामानों को रखें शक्कर, तेल, आटा, डिटर्जेंट पाउडर, शैंपू, साबुन, क्रीम, ब्रश, टूथपेस्ट, पेंसिल, पेन, अगरबत्ती, नमकीन, सेव, माचिस के पैकेट, घी, ड्राई फ्रूट्स, मसाले, मिर्च, हिंग, जीरा, अजवाइन, मच्छर भगाने की अगरबत्ती, घड़ी का सेल, बच्चों के लिए कैंडी, चॉकलेट, टॉफी, कुरकुरे, बिस्किट, स्नेक, चिप्स, आइसक्रीम, पापड़, कोल्ड ड्रिंक, रूम फ्रेशनर आदि चीजें रखें।

अपनी दुकान पर इतना ही सामान रखें जितना बिकता हो, ज्यादा एक्स्ट्रा सामान ना रखें। जैसे जैसे सामान बिकता जाए वैसे वैसे नया सामान लाएं।

किन किन लाइसेंस की जरूरत पड़ सकती है ?

यदि आप अपनी बड़ी किराने की दुकान खोल रहे है तो आपको GST (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) रजिस्ट्रेशन करवाना चाहिए। इसको आप गवर्नमेंट की GST की आधिकारिक वेबसाइट पर करवा सकते है। इसके लिए हमें कुछ डॉक्यूमेंट जैसे बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट, पैन नंबर, आपकी कोई आईडी, एड्रेस प्रूफ आदि। अगर आप छोटी दुकान खोल रहे है तो शुरू में आप बिना GST रजिस्ट्रेशन के भी चला सकते है।

GST के अलावा एक ओर रजिस्ट्रेशन होता है। FSSAI रजिस्ट्रेशन FSSAI इसका मतलब (Food Safety and Standard Authority of India) होता है। आपने किसी भी खाने कि पैकिंग पर FSSAI नंबर जरूर लिखा हुआ देखा होगा। यह सरकार द्वारा संचालित है यह खाने के सामान में मिलावट से बचाने के लिए है। यदि आप अपना कोई खाने का सामान पैक करके बेचना चाहते है तो आपको fssai नंबर जरूर लेना होगा। ओर आप ऐसे ही नॉर्मल अपनी किराने की दुकान खोल रहे है तो बिना fssai नंबर के भी काम चल जाएगा।

किराना स्टोर के लिए माल कहां से खरीदें –

जब आप दुकान खोल लेते है, उसके पहले ही आपको इस बात का इंतजाम कर लेना चाहिए कि आपकी दुकान में समान कैसे और कहां से आएगा किराना स्टोर के लिए माल खरीदना कोई बड़ी बात नहीं। लेकिन इसमें स्मार्टनेस होनी चाहिए। आप किराना स्टोर के लिए माल होलसेल विक्रेता से आपके नजदीकी बाजार से खरीद सकते हैं। क्योंकि ये हर शहर में होती है एक बार जब यह संबंध बन जाते है, उसके बाद वो खुद ही आपके पास समान का आर्डर लेने के लिए आते रहते है यह आप अपने दुकान के लिए जरूरी सामान उन्हें नोट करवा दे, उसके बाद वो खुद ही वो सभी सामान आपके दुकान तक पहुचा सकते हैं

इसके अलावा यहां स्मार्टनेस की बात इसलिए जरूरी है कि आप कई सारे प्रोडक्ट बहुत ही सस्ती रेट में खरीद सकते हैं। जैसे आप मसाला बेच रहे हैं तो आप किसी मसाला कंपनी से सीधे प्रोडक्ट खरीद सकते हैं। यदि आप घी बेच रहे हैं तो आप गांवों में संपर्क बनाकर अच्छा और सस्ता घी प्राप्त कर सकते हैं। इतना ही नहीं ऐसे कई सारे प्रोडक्ट जैसे अगरबत्ती आदि आप इनकी कंपनियों से सीधा सस्ती रेट में खरीदके ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं।

अपनी किराना स्टोर का फायदा कैसे बढ़ाएं?

किराना स्टोर का फायदा कुछ बातों पर निर्भर करता है जैसे आपके दुकान की लोकेशन बहुत महत्वपूर्ण है एक अच्छी लोकेशन पर दुकान होने के कई सारे फायदे मिलते है जैसे आपकी दुकान पर कई अजनबी लोग भी आ सकते है यदि आपकी दुकान में हर दिन कुछ अजनबी चेहरे आते है, तो आपकी दुकान अच्छी चल रही है

इसके अलावा दूसरा महत्वपूर्ण तथ्य है कि आपकी दुकान के आसपास और कितनी किराने की दुकान खुली हुई है यदि ज्यादा नही खुली है, तो आपको ज्यादा कोशिश नही करनी पड़ेगी लेकिन यदि प्रतिस्पर्धा ज्यादा है तो आपको थोड़ा मेहनत करनी पड़ सकती है जिससे ग्राहक आपके दुकान में आये इसके लिए आप अपनी दुकान में कुछ ऐसा देने की कोशिश करें, जो और दूसरी दुकानों में नही मिलता है यह कुछ भी हो सकता है जैसे आप अपने दुकान के सामने कुछ कुर्सियां भी रख सकते है, जिसमे ग्राहक कुछ देर बैठ सके

किराना की दुकान खोलने में कितना लगेगा खर्चा ?

एक किराना दुकान में कितना खर्च आप लगाना चाहें यह आप पर निर्भर करता है। फिर भी हम अनुमानित खर्च जोड़ने की कोशिश करेंगे। अगर दुकान की जगह आपकी निजी जगह है तो आपको कोई किराया नहीं देना होगा ओर आपका खर्च केवल सामान खरीदने ओर फर्नीचर में लेने में आएगा। यदि आप किसी दूसरे की दुकान किराए पर लेकर अपनी दुकान खोलते है तो आपको किराया देना होगा। किराए की कीमत हर जगह अलग अलग होती है, यदि आप किसी बड़े शहर में दुकान खोल रहे है तो वहां किराए की कीमत ज्यादा होगी ओर यदि आप गांव में दुकान खोल रहे है तो वहां किराए की कीमत बहुत कम होगी। दुकान खोलने से पहले जगह का किराया की कीमत पता करलें। आपकी दुकान का किराया 2000 रुपए प्रति महीने से 20,000 रुपए प्रति महीने तक हो सकता है।

किराए के अलावा हमको फर्नीचर बनवाने होंगे। फर्नीचर हमको केवल एक ही बार शुरू में बनवाने है। फर्नीचर में हमको काउंटर और सामान रखने के लिए अलमारी बनवानी होगी। इसका खर्च लगभग 20 से 40 हजार के बीच आ सकता है ज्यादा से ज्यादा पर आप कम से कम 10 हजार से कम में भी यह सब ले सकते है।

सामान खरीदने की बात करें तो यह इस बात पर निर्भर है कि आप कितना खर्च करना चाहते है। आप कम से कम 20 से 50 हजार का सामान लाकर एक छोटी दुकान शुरू कर सकते है। और यदि आप एक बड़ी दुकान खोलते है तो आपको 1 से 5 लाख के बीच का सामान अपनी दुकान में रख सकते है।

यदि आप एक छोटी किराने की दुकान खोलते है तो आपको कम से कम 50000 से 1 लाख रुपए के बीच पैसे खर्च करने होंगे। और यदि आप बड़ी दुकान खोलना चाहते है तो आप 1लाख रुपए से जितना चाहें उतना खर्च कर सकते है।

किराने की दुकान से कितना फायदा होता है? 

किराने की दुकान में अच्छा खासा मुनाफा होता है, पर शुरुआत में आपको थोड़ा सब्र रखना होगा। नई नई दुकान में आपको शुरू में ज्यादा फायदा नहीं दिखेगा पर जैसे धीरे धीरे वक्त निकलेगा और अगले 4 से 5 महीने के बाद आपको बहुत अच्छा फायदा होता हुआ नजर आएगा। इसमें आपको लगभग 20 से 40 प्रतिशत फायदा तो हो ही जायेगा। और जैसे जैसे आपकी दुकान चलने लगेगी आपका फायदा ओर बड़ता जाएगा।

आपको कोशिश करनी चाहिए कि आप ज्यादा दुकान बन्द ना रखें क्योंकि जितने ज्यादा समय तक आपकी दुकान खुली रहेगी उतना ज्यादा चांस रहेगा कि आपकी दुकान की बिक्री हो। ओर आप अच्छे अच्छे सामान रखें लोकल ब्रांड के सामानों में मुनाफा ज्यादा होता है। वहीं ब्रांडेड कंपनियों के माल में मुनाफा कम होता है। पर आप लोगों की डिमांड के अनुसार अपनी दुकान में सामान रखें।

यदि आप इस बिजनेस में समान के लिए 1 lakh का निवेश करते है, तो जब आपका पूरा समान बिक जाएगा, उस वक़्त आपको करीब 20 हजार से 25 हजार का फायदा हो सकता है इसलिए आपकी दुकान से जितना जल्दी माल बिकेगा, आपका फायदा उतना ही ज्यादा होगा

कुछ महत्पूर्ण बातें इस व्यवसाय से संबंधित

इस व्यवसाय में प्रतिस्पर्धा बहुत अधिक है पर इसका मार्केट भी अच्छा है क्योंकि हर एक इंसान को किराने के सामान की जरूरत तो हमेशा पड़ती ही है। अपनी दुकान में केवल किराने का ही सामान रखें, इसके अलावा ज्यादा ऐसे सामान न रखें जिनका किराने से कोई सम्बन्ध ना हो।

जब भी ग्राहक आए तो उससे हमेशा अच्छे तरीके से बात करें, यदि आप अच्छे से व्यवहार नहीं करते है तो वो ग्राहक वापस लौटकर आपकी दुकान पर नहीं आएगा।

अपनी दुकान में उतना ही सामान रखें जितना बिक रहा हो ज्यादा स्टॉक ना करें, इससे सामान खराब होने का डर रहता है।

अपनी दुकान में गंदगी बिल्कुल ना रखें कीड़े, मक्खी को अपनी दुकान में ना आने दें, बार बार हाथ धोते रहें।

अपनी दुकान में सामान ऐसे रखें कि वो सबको आसानी से नजर आए। उधारी में सामान ज्यादा ना दें अगर ग्राहक परिचित है और उसपर आपको विश्वास है तभी उधार में सामान दें और कोशिश करें कि एक महीने के अंदर सारी उधारी वापस आ जाये।

अन्य पढ़े:

कॉस्मेटिक की दुकान कैसे खोले

मेडिकल स्टोर कैसे खोले

इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान कैसे खोले

27 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: