Real Estate Business | रियल एस्टेट बिजनेस शुरू करना हो सकता है मुनाफे का सौदा

Real Estate Business कैसे शुरू करें पूरी सम्पूर्ण जानकारी – आज वर्तमान में घर, जमीन, एक ऐसी प्रॉपर्टी है, जो लोगो के लिए आर्थिक रूप से उन्हें सपोर्ट के साथ, उनके लिए बेहतर कैर्रीयर बनाने का एक विकल्प भी देता है, कोई भी व्यवसाय शुरू करना हमेशा प्रयासों से भरा कार्य होता है, हमें कई प्रयासों और कठिनाइयों से निकल कर ही सफलता प्राप्त होती है। लेकिन अगर किसी व्यवसाय में हम निरंतर और पूरी तत्परता के साथ काम करते है, तो हो सकता है सफलता थोड़ी जल्दी मिल जाए। इसलिए किसी भी बिजनेस को चुनने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी होना सबसे आवश्यक है।

आज हम इस लेख के द्वारा Real Estate Business के बारे में आपसे जानकारी साझा करने जा रहे है, तो आइये जानते है इस बिजनेस को शुरू करने की पूरी प्रक्रिया को:

Table of Contents

रियल एस्टेट का मतलब क्या है? (Real Estate Business In Hindi)

“Don’t wait to buy a real estate, buy a real estate and wait”.
ऐसी सम्पत्ति जो अचल होती है, और जिसके द्वारा व्यक्ति उस सम्पत्ति को बेचकर, अच्छा मुनाफा कमाकर अपने लिए आर्थिक तौर पर बढ़ने के लिए उससे अच्छा मुनाफा प्राप्त कर सकता है।

रियल एस्टेट का कारोबार क्या होता है?

Real Estate Business बहुत ही अलग तरह का व्यवसाय है, इस व्यवसाय में लाभ होने के प्रतिशत बहुत ज्यादा होते है। इस व्यवसाय के बारे में अधिकतर लोग अनजान से रहते है, लेकिन अगर सीधे शब्दों में कहा जाए तो ये व्यवसाय घर, जमीन, ऑफिस, फ्लेट आदि के खरीदने बेचने का बिज़नेस है। इसे आप खुद भी कर सकते है और पार्टनरशिप और टाई अप के ज़रिये भी आप काम शुरू कर सकते है।आज वर्तमान में इस बिज़नेस के द्वारा बहुत सारे मिलिनीयर्स अपने बिज़नेस को बड़े बड़े पैमानों पर करके मिलियन में कमाई कर रहे।

“90 % of all millionaires go through owning real estate”.

Real Estate बिजनेस का भविष्य:

भारत में Real Estate व्यवसाय चौतरफा तरक्की कर रहा है, और आज भी ये अन्य बड़े बिजनेस की तरह एक बड़ा और लाभदायक व्यवसाय के रूप में अपने आप को स्थापित किये हुए है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि वर्ष 2023 तक इस व्यवसाय में 2000 करोड़ की बढ़ोतरी हो सकती है, जो काफी अच्छी है।

Real Estate बिजनेस में बदलाव:

बहुत से लोग Real Estate Business को उतनी अहमियत नहीं देते थे, जितने की वो लायक है। लेकिन हाल ही में भारतीय रियल एस्टेट में कई सुधारों को देखा गया है। रियल एस्टेट अधिनियम (एक्ट) के कार्यान्वयन (इम्प्लीमेंटशन) से – रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (आरईआईटी) और शीर्षक बीमा जैसे कांसेप्ट की शुरूआत हुई है।

इनके कारण भारतीय रियल एस्टेट अब अधिक पारदर्शी और ग्राहक-अनुकूल व्यवसाय बनने के लिए आकार ले रहा है। यह दोनों के लिए खुशी की बात है चाहे वो घर या प्रॉपर्टी को लेने वाले ग्राहक हो या फिर जो व्यक्ति रियल एस्टेट के व्यवसाय शुरू करने के लिए इस क्षेत्र में कदम रखना चाहते है।

रियल एस्टेट का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How To Start Real Estate Business In Hindi)

रियल एस्टेट का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है, जिसमे पूरा ज्ञान लिए बिना, इस काम मे उतारना पैसे को सही जगह न लगाने जैसा होता है, इसलिए सही ज्ञान और सूझ बूझ के साथ इस बिज़नेस को शुरू करना चाहिए, इस बिजनेस में जमीन खरीदने से लेकर कंस्ट्रक्शन व कानूनी कार्यवाही, सभी सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए अपनी टीम बनाते हुए, लोगो या ग्राहको को satisfied  करके सम्पत्ति बेचकर मुनाफा कमाया जाता है।

रियल इस्टेट बिजनेस को शुरू करने के प्रोसेस-

1) मार्किट रिसर्च करना

किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे पहला काम उस बिजनेस से जुड़े मार्किट की रिसर्च जरूर करना चाहिए, जिसमे मार्किट में कैसे घर, सुविधाओं, कैसी जगह, लोगो को हवा पानी जहा सही से मिले, वो सभी सुविधाएं देने के लिए मार्किट को समझना जिससे आप अपने ग्राहको को अपनी प्रॉपर्टी की तरफ आकर्षित करते है।

“”मार्किट की समझ, व जानकारी बिजनेस की नींव या आधार होता है”.

2) सेल्स एंड मार्केटिंग प्लान

सेल्स और मार्केटिंग के अंतर्गत किसी भी रियल एस्टेट या अचल संपत्ति को कैसे बेचना है, यानी किस किस तरीको से उस सम्पत्ति को बेचने के लिए काम कर सकते है। जैसे- ग्राहको जो अपने ओर लाने के लिए क्या करे,सोशल मीडिया पर ऐड करे, जिनमे प्रॉपर्टी की जगह, व उसमे देने वाली खास सुविधाओं का details, प्राइस अलग अलग ग्राहको के हिसाब से उनके इच्छानुसार प्रॉपर्टी दिलाने जैसे काम करना।

सोशल साइट्स जैसे फ़ेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि पर प्रॉपर्टी के विषय मे खास बातें, जो उसे बाकी से अलग करती है। जैसे- स्विमिंग पूल, अलग अलग तरह के रूम जिसमे किचन, बाथरूम जैसे सुविधाओ हवा पानी जैसे बेहतर व्यवस्था को ग्राहको को दिलाना।

3) मैनेजमेंट प्लान तैयार करना

किसी भी बिजनेस के लिए प्लानिंग बहुत जरूरी है, जो उसे मार्किट में पहचान दिलाती है, जिसके लिए skill लोगो को रख्खा जाता प्रॉपर प्लानिंग किसी काम को सफल बनाने में सबसे अहम भूमिका निभाता है।

जिसमे मुख्य चीज़े होती है-

  • बेसिक जरूरत की चीजें जैसे स्विमिंग पूल, लिफ्ट, बिजली की अच्छी व्यवस्था, बड़े बड़े रूम, बाथरूम, किचन व अन्य बेसिक जरूरतों की सुविधा अपने ग्राहको को देने के लिए प्लानिंग पहले ही कर लिया जाता है, जिससे सभी जरूरी चीज दी जा सके।
  • ट्रांसपोर्ट की सुविधा सही हो, इसकी प्लानिंग बनाना।
  • लोकैलिटी अपने अलग अलग ग्राहको जैसे मिडिल क्लास लोगो, उप्पेर मिडिल क्लास लोगो, अपर क्लास लोगो के इच्छानुसार अलग अलग प्राइस, सुविधाओं को प्राप्त करना।
  • पूरे प्रॉपर्टी को बेचने के लिए एक पूरी टीम तैयार की जाती है, जिससे हर काम को पूरी तरह से हैंडल किया जा सके, legal issue, प्रॉपर्टी मार्केटिंग, डीलिंग जैसी चीज आती है।

इस प्रकार हम कह सकते है- प्रॉपर तैयारी देखकर बताया जा सकता है, की आप सफल होंगे या नही।

4) फाइनेंसियल प्लान तैयार करना

रियल एस्टेट के बिजनेस में आपके पैसे के सही इन्वेस्ट के लिए कुछ जरूरी फाइनेंसियल दस्तावेज होने बहुत जरूरी हैं-

  • Cash flow statement
  • Income statement
  • Balance sheet

ये तीनों डॉक्यूमेंट इस बिजनेस में आपकी इन्वेस्ट को सही जगह लगाने में आपकी मदद करते है।  कुछ हिस्सा मैनेजमेंट में, कुछ मार्केटिंग, कुछ पेमेंट व अन्य में इन्वेस्ट कर एक बेहतर बिज़नेस शुरू करने में मदद करता है।

5) एक lawyer प्रोजेक्ट को शुरू करने से ही नियुक्त करना

एक lawyer इस काम मे सभी कानूनी दस्तावेज व डील के लिए बहुत जरूरी है। लॉयर ही कानूनी तौर पर उनके नियमो के अनुसार किसी भी प्रॉपर्टी को खरीदने व बेचने के नॉलेज को रखता है, जो इस काम मे आपके लिए काम करता है।

रियल एस्टेट बिजनेस में लाइसेंस को तैयार करे/Real Estate Business में कौन से रजिस्ट्रेशन लगते है

रियल एस्टेट का बिजनेस शुरू करने से पहले आपको ये तय कर लेना होगा की आप इस क्षेत्र में अपना बिजनेस व्यक्तिगत रूप में शुरू करना चाहते है या फिर कंपनी या पार्टनरशिप आदि के रूप में। व्यक्तिगत रूप से बिजनेस करने के अलावा अगर आप एक कंपनी या पार्टनरशिप में बिजनेस शुरू करना चाहते है तो आपको अपने बिजनेस को सही प्राधिकरण (अथॉरिटी) के साथ रजिस्टर करना होगा।

किसी भी बिजनेस के लिए लाइसेंस होना बहुत जरूरी है, जो उसे कानूनी तौर पर मार्किट में बिज़नेस करने के लिए permission देने का काम करता है।

ये लाइसेंस निम्न है-

  • अपने बिजनेस को प्राइवेट लिमिटेड के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करिए।
  • GST को बनवाये (टैक्स के लिए)
  • रियल इस्टेट एक्ट के अंतर्गत अप्लाई करके ये रजिस्ट्रेशन आप करा सकते है।

लाइसेंस की वारंटी 5 साल की होती है।

वित्तीय बजट:

अपने बिजनेस को वित्तीय तौर पर स्थिर बनाने के लिए वित्तीय बजट बनाना बहुत जरूरी है, ये एक कठिन काम है लेकिन भविष्य के लिए सही तरह की फाइनेंसिंग बहुत महत्वपूर्ण है। अगर आप व्यक्तिगत तौर पर बिजनेस शुरू करना चाहते है तो आप अपनी पूंजी लगा कर भी बिज़नेस शुरू कर सकते है, 

लेकिन अगर आप अपनी कंपनी शुरू करना चाहते है तो आपको अधिक पूंजी की आवश्यकता होगी। इसके लिए आप किसी बैंक से लोन ले सकते है, लेकिन याद रहे की बुरा लोन भविष्य में आपके व्यवसाय को और भी ख़राब कर सकता है। इसलिए लोन लेने से पहले उसके सारे नियम और शर्तों को अच्छे से जान ले।

रेरा (RERA) रजिस्ट्रेशन:

नए रियल एस्टेट अधिनियम (एक्ट) के लागू होने से रियल एस्टेट बिजनेस की दुनिया में बहुत बड़ा बदलाव आया है। अब एक रियल एस्टेट बिजनेस स्थापित करने से पहले आपको संबंधित राज्य जहां आप काम करना चाहते हैं,  के लिए RERA के तहत पंजीकरण की आवश्यकता होगी। ये एक कंसल्टेशन फ़र्म से संपर्क कर आसानी से किया जा सकता है।

रजिस्ट्रेशन या तो एक मेहनती काम हो सकता है या फिर एक अच्छी कंसल्टेशन फ़र्म की मदद ले आसानी से भी किया जा सकता है। एक अच्छी कंसल्टेशन फ़र्म आपका रजिस्ट्रेशन एक या दो दिन में ही करवाने में सक्षम होती है। रजिस्ट्रेशन के बाद आपको रेरा (RERA) नंबर प्राप्त होगा जिसे आपको भविष्य में किये जाने वाले सारे सौदों में देना होगा।

Real Estate Business में लगने वाले टैक्स

व्यावसायिक गतिविधियों के लिए, अलग-अलग टैक्स लागू होते हैं। इसलिए सबसे पहले आपको उनके बारे में जागरूक होना पड़ेगा। व्यक्तिगत एजेंट के रूप में अगर आपको काम करना है, तो आपको आयकर भरना होगा, क्योंकि RERA के तहत पंजीकरण(रजिस्ट्रेशन) के लिए, यह एक अनिवार्य दस्तावेज के रूप में आवश्यक है।

यदि आपने अपने बिजनेस में किसी कंपनी आदि को शामिल किया है, तो आपको अब GST नंबर के लिए भी आवेदन करना होगा, जो हाल ही में गुड्स एंड सर्विस टैक्स लागू होने के कारण महत्वपूर्ण है। यह अब एक अनिवार्य कदम है क्योंकि सभी वित्तीय गतिविधियों (फाइनेंसियल एक्टिविटी) को केंद्र सरकार के अनुसार होना चाहिए।

खुद को शिक्षित करें – रियल एस्टेट के लिए प्रशिक्षण / सेमिनार में भाग लें

यदि आप किसी भी पेशे में सफल होना चाहते हैं, तो आपको अपने काम का सही ज्ञान होना आवश्यक है। भारत में रियल एस्टेट की शिक्षा के लिए बहुत अधिक जागरूकता नहीं है, हालांकि भारत भर में कुछ कंपनियां हैं जो पूरे भारत में रियल एस्टेट के उम्मीदवारों के लिए सेमिनार और प्रशिक्षण आयोजित करती हैं।

इस तरह के सेमिनार और प्रशिक्षण में शामिल होने से आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आपको बहुत सी नई चीजें सीखने में मदद मिलेगी। इस तरह के प्रशिक्षण के लिए आप इंटरनेट पर देखे और उनके लिए अपनी सीट बुक करें।

अगर आप कर सके तो कुछ महीनों के लिए किसी बड़े रियल एस्टेट कंपनी में इंटर्नशिप के तौर पर काम भी कर सकते है,जिससे आप काम को वास्तव में समझ सकेंगे और उन्हें अपने व्यवसाय में अपना सकेंगे।

रियल एस्टेट में अपना क्षेत्र का चयन करें:

जब आप पूरी तरह से सुनिश्चित हो जाए कि आपको रियल एस्टेट का बिज़नेस ही करना है, तब आपको रियल एस्टेट में आगे बढ़ने के लिए अगला चरण तय करना होगा। आपको ये निश्चित करना होगा की आपको आवासीय (रेसिडेंसियल) ब्रोकरेज या वाणिज्यिक (कमर्शियल) ब्रोकरेज या दोनों के लिए काम करना है।

पोर्टफोलियो – अपने संपर्क बनाये:

रियल एस्टेट के बिजनेस में संपर्क भी अपनी मुख्य भूमिका निभाते है। इस व्यवसाय में आपका मूल्य आपके पोर्टफोलियो या उन लोगों से निर्धारित होता है जिनसे आप जुड़े हुए हैं। उद्योग में सबसे अच्छे लोगों के साथ काम करें और लगातार अच्छे लोगों से संपर्क बनाये रखे।

रियल एस्टेट के व्यापार में काम का बड़ा प्रतिशत आपको अपने संपर्क द्वारा ही प्राप्त होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह एक विशाल क्षेत्र है और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए, आपको दूसरों के साथ काम करने की आवश्यकता होती है।

निरीक्षण करें:

रियल एस्टेट में ब्रोकरेज की कला में महारत हासिल करने के लिए, आपको बहुत कुछ देखने की ज़रूरत होती है। डेवलपर्स का निरीक्षण करें, अन्य एजेंटों का निरीक्षण करें, होमबॉयर्स (खरीददार) का निरीक्षण करें। सब कुछ देखे और केवल तभी आपके पास शीर्ष पर रहने का मौका आ सकता है। ये व्यवसाय गतिशील है, यह कभी बदल भी बदल सकता है।

गति को बनाए रखने के लिए, और उसके साथ खुद को चलाने के लिए, आपको परिवर्तनों को अपनाना होगा और उसके अनुसार अपने निर्णय को लेना होगा। यह केवल तभी संभव है जब आप अपने आस-पास की सारी गतिविधियों के बारे में काफी जागरूक रहे।

विस्तार – अपने काम की जगह तय करें:

एक निश्चित स्तर पर किसी भी प्रकार के व्यवसाय को विस्तार की आवश्यकता होती है। जब आप एक स्थान पर रियल एस्टेट के लिए पर्याप्त समय समर्पित कर चुके हो, तो आप अपने व्यवसाय के लिए अन्य अच्छे बाजारों की तलाश शुरू कर सकते हैं। आप विभिन्न शहरों या राज्यों में अचल संपत्ति के बारे में शोध करके वहां व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

यहाँ आपके लोगों से संपर्क उपयोग के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे। विभिन्न स्थानों पर प्रशिक्षण और सेमिनार में भाग लेने से आपको विभिन्न स्थानों पर अचल संपत्ति (रियल एस्टेट)समुदाय के बारे में जानकारी मिलेगी। अचल संपत्ति (रियल एस्टेट) विशेषज्ञों से परामर्श लें जिन्हें विभिन्न राज्यों में अचल संपत्ति के बारे में जानकारी हो और अंत में, अपना कार्यस्थल तय करें।

जब आपने विस्तार करना शुरू कर दिया है, तो आपको यह भी तय करना होगा कि आप कहां काम करना चाहते हैं। एक ही समय पर विभिन्न राज्यों में संचालन संभव नहीं है इसलिए सारा काम संभालने के लिए अपने लिए सबसे बड़े बाजार को चुनें।

Real Estate Business की मार्केटिंग

व्यवसाय को सफलतापूर्वक विकसित करने के लिए, आपको इसे विज्ञापित करने की आवश्यकता होगी। रियल एस्टेट बिजनेस में विज्ञापन करने के लिए अलग-अलग तरीके हैं और सबसे अच्छी सलाह यही है कि आप उन सभी को आजमाएं। सोशल मीडिया पर विज्ञापन दें, पत्रिकाओं में विज्ञापन दें।

अपने खास क्लाइंट को लक्ष्य बना कर ही मार्केटिंग करे जैसे कमर्शियल क्लाइंट्स, हाउस बायर्स आदि और उनके साथ सीधे या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़ने के लिए आदर्श माध्यमों का पता लगाएं। आजकल कई ऑनलाइन पोर्टल जैसे मैजिक ब्रिक्स,  99 एकर्स आदि प्रॉपर्टीज को पहली बार के लिए मुफ्त में लिस्टिंग करते है, 

आप अपनी और अपने क्लाइंट्स की प्रॉपर्टी को सीधे उन पोर्टल्स पर डाल सकते है। बाद में आप फीस जमा कर नयी लिस्टिंग भी डाल सकते है। हो सकता है की विज्ञापन के परिणाम तुरंत ना आये, विशेष रूप से रियल एस्टेट बिज़नेस में, लेकिन आप धैर्य रखे धीरे-धीरे आपको नतीजे दिखने लगेंगे। विस्तार करते समय विज्ञापन महत्वपूर्ण होता है और यदि लोग आपके काम को पसंद करते हैं, तो आपका समृद्ध होना सुनिश्चित हैं।

रियल एस्टेट बिजनेस में लागत कितनी लगती है

किसी भी रियल एस्टेट बिजनेस को करने के लिए कोई जमीन खरीदे, उससे जुड़े काम करने में लागत, व उसकी मेंटेनेन्स, कंस्ट्रक्शन आदि को लेकर लाखो रुपये लग जाते है।

  • जमीन-5 लाख
  • कंस्ट्रक्शन-20 लाख से 50 लाख या करोड़ में भी लागत बिज़नेस के अनुसार लगाई जा सकती है।
  • मार्केटिंग-10000
  • सैलरी या पेमेंट- 10000 से 20000 तक रख सकते है।

पूरी लागत लगभग बिजनेस पर निर्भर करती है। कुछ बिजनेस जो छोटे हो उनमे लागत 50 लाख भी लग सकती है। कुछ बड़े बिज़नेस में ये लागत करोड़ तक जाती है। जैसे आप प्रॉपर्टी को मान ले 5 लाख में खरीदे, व फिर उसपर कंस्ट्रक्शन करके, 5 साल बाद ही उसे सही ग्राहक को बेचे, जिससे सही मुनाफा मिल सके।

रियल एस्टेट बिजनेस में मुनाफा कितना होता है

सही ग्राहको के मिलते ही बिजनेस से जुड़ी सभी कानूनी दस्तावेज तैयार कर प्रॉपर्टी को ग्राहक को बेचजर मुनाफा कमाया जाता है। रियल एस्टेट बिज़नेस में मुनाफा हमेशा बिज़नेस की साइज के अनुसार होता है। ये मुनाफा लाख से करोड़ तक जा सकता है। इस प्रकार इस बिज़नेस को इस मुख्य स्टेप्स में करके इस फील्ड में अपना कैर्रीयर बनाया जाता है।

रियल एस्टेट बिजनेस की टॉप 10 कंपनी के नाम क्या है

Real Estate Business से जुड़ी टॉप कंपनी के नाम मुख्य है-

  • बिग्रेड इंटरप्राइजेज
  • ओमाक्स
  • पीएनसी इंफ्राटेक लिमिटेड
  • सोभा लिमिटेड
  • HDIL
  • इंडियाबुल्स रियल इस्टेट लिमिटेड
  • प्रेस्टिज इस्टेट
  • गोदरेज प्रॉपर्टी
  • ओबेरॉय रियलिटी
  • DLF

ये मुख्य इंडिया की टॉप 10 कंपनी है, जो real estate बिज़नेस में अपना नाम व पहचान बनाकर लखोव करोड़ो कमा रही है।

इस प्रकार इस बिजनेस में लोग काम करके लोगो के सासंद के घर, जमीन व प्रॉपर्टी दिलाकर इस फील्ड में अच्छा मुनाफा कमाते हुए कैर्रीयर को बना रहे है। इस बिजनेस में सबसे जरूरी पैसे को इन्वेस्ट सही तरीके से करना होता है, सूझ बूझ, व सही ज्ञान के साथ इस बिज़नेस में सफलता प्राप्त की जा सकती है।

रियल एस्टेट एजेंट कैसे बने

रियल एस्टेट एजेंट बनाने के लिए कुछ जरूरी बातें होती है, जो निम्नलिखित है-

  • मार्किट की समझ बनाना  लोगो की पंसंद को ध्यान में रखना।
  • प्रॉपर्टी बिज़नेस या रियल इस्टेट का बिज़नेस करने वालो से कांटेक्ट करना।
  • अपना कुछ कमीशन तय करना।
  • ग्राहको को ढूंढकर प्रॉपर्टी जिसकी बेचवानी है, उसकी पूरी सुविधाओं व खास बातों की जानकारी प्रॉपर्टी लेने वाले को देना।
  • ग्राहक लाना व प्रॉपर्टी से सम्बंधित चीज़े दिखाना।
  • प्रॉपर्टी बिकनें पर अपना कमींशन प्राप्त कर मुनाफा कमाना।

इस प्रकार एक रियल एस्टेट एजेंट बनकर काम किया जाता है, व अच्छा मुनाफा भी कमाया जा सकता है।

Real Estate Business शुरू करने से पहले निम्न बातों का भी ध्यान रखें:

1) अपने बिजनेस की पूरी योजना बना कर ही इस व्यवसाय में उतरे।

2) जहाँ तक हो ज्यादा और अच्छे संपर्क बनाये।

3) अपने बिज़नेस को जरूर रजिस्टर कराये, इससे आपके क्लाइंट्स का आप पर विश्वास बढ़ेगा।

4) समय-समय पर सरकार और अन्य प्राइवेट कंपनी के द्वारा लगाएं गए शिविर और सेमिनार्स का हिस्सा जरूर बने, इससे आप नए बदलावों से अवगत रहेंगे और खुद को अपग्रेड रख पाएंगे।

5) अपने क्लाइंट्स को कभी भी किसी प्रॉपर्टी के बारे में गलत जानकारी ना दे, इससे आपकी प्रतिष्ठा में कमी आ सकती है और आपका बिज़नेस भी इससे प्रभावित हो सकता है।

6) अपने कमीशन के प्रतिशत को सही और कारगर तरीके से निर्धारित करे, ताकि आपको मुनाफा भी हो और क्लाइंट भी खुश रहे।

ये थी रियल एस्टेट बिजनेस को शुरू करने की कुछ अहम् जानकारी, आशा है आपको ये लेख पसंद आया होगा। ऐसे ही और लेख के लिए जुड़े रहिये हमसे।

FAQ

Q1. क्या रियल एस्टेट के बिज़नेस को कही भी शुरू कर सकते है?

रियल एस्टेट के बिज़नेस आप कही भी शुरू कर सकती है, बस मार्किट की जानकारी व जगह ऐसी हो जहां साधन व सुविधा है।

Q2. किसी भी जमीन को खरीदकर उसे न्यूनतम कितने समय मे बेचना मुनाफा दिला सकता है?

किसी भी जमीन को खरीदकर उसे न्यूनतम 5 साल के बाद ही बेचना चाहिए।

Q3. रियल एस्टेट बिज़नेस के फायदे क्या है?

रियल एस्टेट बिज़नेस के फायदे-

लोगो को सही व उनकी आवश्यकता के हिसाब से प्रॉपर्टी दिलाने में मददगार होती है।

सही जानकारी के साथ बहुत अच्छा मुनाफा दिलाने वाला बिज़नेस है।

बड़े बड़े शहरों में बाहर के लोगो के लिए एक अच्छा गाइडेंस देने में ग्राहको की मदद करना।

वर्तमान में हो रहे टेक्नोलॉजी व विकास को देखते हुए कंस्ट्रक्शन करना, जिससे लोगो को एक ही जगह पर सभी सुविधाएं देना।

यह भी पढ़े :

पैसों को सुरक्षित निवेश कहां करें

बिना पैसे का शुरू होना वाला बिज़नेस

इवेंट मैनेजमेंट बिज़नेस को कैसे शुरू करें

घर बैठे महिलाओं के लिए पैसे कमाने का मौका

6 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.

error: