कॉस्मेटिक आइटम बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें | Cosmetics Shop Business Ideas in Hindi

कॉस्मेटिक की दुकान कैसे खोले कितनी आएगी लागत कितनी होगी कमाई पूरी जानकारी

आज हम यहां आपको कॉस्मेटिक शॉप के व्यापार के बारे में सब जानकारी देंगे लेकिन कास्मेटिक शॉप को एक बिजनेस का रूप देने से पहले आपको यह जान लेना बेहद आवश्यक है कि कॉस्मेटिक आखिर क्या है ??

क्या होता है कॉस्मेटिक आइटम

कॉस्मेटिक एक प्रकार से महिलाओं के लिए बहुत आवश्यक है क्योंकि यह महिलाओं की साज-सज्जा अर्थात प्रसाधन सामिग्री होती है,प्रसाधन के अंतर्गत कई छोटी और बड़ी बस्तुएं आती हैं जैसे -क्रीम ,पाउडर ,जूड़ा ,बिंदी और बहुत सारी बस्तुएं,क्यूंकि हर महिला प्रसाधन के लिए बहुत जाग्रत होती है इसलिए दुनिया की लगभग 80-90 प्रतिशत महिलाओं को प्रसाधन की समान में इंटरेस्ट रहता है और लगभग हर महिला अपने जीवनकाल में थोड़ा बहुत प्रसाधन तो करती ही है ,जो महिलाओं के रंग-रूप को निखार देता है और महिलाएं पुरुषों से ज्यादा आकर्षक लगती हैं। हालांकि आजकल नए समय में पुरुष भी साज-सज्जा में कम नही हैं फिर चाहे ब्यूटी पार्लर जाना हो या किसी फैंसी सलून में पुरुष भी अब प्रसाधन की तरफ आकर्षित हो रहे हैं खुद को अलग और अच्छा दिखाने के लिए।

कॉस्मेटिक आइटम का बिजनेस कैसे स्टार्ट करें

वैसे तो ज़्यादा लोग कॉस्मेटिक आइटम का यूज़ अपने डेली की ज़िंदगी में करते ही हैं। इसलिए ज़्यादा लोग को कॉस्मेटिक आइटम के बारे में कुछ न कुछ जानकारी होता ही है। इसलिए अगर आप यह बिजनेस स्टार्ट करना चाहते हैं तो सबसे पहले कॉस्मेटिक आइटम के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी प्राप्त करें।

जानकारी में जैसे के कॉस्मेटिक आइटम के बारे नें ज़्यादा से जानकारी का प्राप्त करना, अलग अलग ब्रांड का जानना, पब्लिक डिमांड को जानना के मार्केट में किस आइटम का ज़्यादा डिमांड है इत्यादि।

बिज़नेस प्लान तैयार करें

किसी भी काम को स्टार्ट करने से पहले उसका प्लानिंग ज़रूरी होता है। जैसे किसी बिल्डिंग को तैयार करने से पहले उसका फाउंडेशन पहले प्लान करते हैं के आपका बिल्डिंग कितना फ्लोर का होगा उसी के अनुसार उसका फाउंडेशन देते हैं। उसी तरह बिज़नेस प्लानिंग भी है के आपका लक्ष्य क्या है। क्यों के एक सही बिजनेस प्लान आपको एक सही बिजनेस दे सकता है इसलिए बिजनेस को स्टार्ट करने से पहले अच्छा सा बिज़नेस प्लान तैयार करें। जैसे आपका बज़ट , स्थान, लोकल मार्केट कम्पटीशन को जानना इत्यादि

कॉस्मेटिक आइटम शॉप के लिए सही स्थान का चुनाव-

कॉस्मेटिक आइटम बिजनेस स्टार्ट करने के लिए सही स्थान का होना बिज़नेस को सफल होने में अहम भूमिका निभाती है। सही स्थान का होने से तातपर्य है कि आप कॉस्मेटिक आइटम बिजनेस के लिए किसी बड़े शहर या भीड़ भार वाले इलाके का चुनाव करें जहां लोंगों का ज़्यादा आवाजाही हो। क्यों कि ये सब आइटम के लिए ज़्यादा लोग किसी बड़े शहर या बड़े दुकान का रुख करते हैं। के उन्हें उचित दाम पे सही सामान मिल सके।

ग्राहकों से अच्छा व्यवहार-

ये जो बात है वो हर दुकान के ग्राहक के लिए आवश्यक है और बात ज्यादा खाश तब हो जाती है जब दुकान के ज्यादा ग्राहक औरतें हो और वो है अच्छा व्यवहार, दुकान में महिलाओं से अच्छा व्यवहार किया जाना चाहिए चाहे वह कैसा भी ग्राहक क्यों न हो और दुकान की महिला कर्मी ऐसी होनी चाहिए जो बातूनी हो और औरतों से जल्द ही घुल-मिल सके और ध्यान रहे किसी भी तरह से किसी भी महिला या पुरुष की निजता का हनन न हो। दुकान के पुरुष कर्मी पुरुष ग्राहकों से दोस्ताना व्यवहार रखें और उनसे अच्छे से बात करें उनकी बात को समझे भी और महिला ग्राहकों की इज़्ज़त करें, जिससे ग्राहक आपकी दुकान और आपसे अच्छे से परिचित हो सकें।

महिला कर्मी क्यों आवश्यक-

क्योंकि दुकान में कई ऐसी चीजें है जो सिर्फ महिलाओं की है और कुछ महिलाएं आज भी उन बस्तुओं को मांगने में पुरुषों से शर्म करती हैं और अनकम्फर्टेबल महसूस करती हैं ऐसे में एक महिला कर्मी की आवश्कयता कितनी अधिक है ये बात आप अच्छे से समझ सकते हैं ,ये आपके पास एक अच्छा तोड़ है बाकी दुकानों की तुलना में महिलाओं को आकर्षित करने के लिए और महिला कर्मी के कारण महिलाएं दुकान में खुद को सुरक्षित भी महसूस करती हैं।

कॉस्मेटिक बस्तुओं के मूल्य-

कॉस्मेटिक शॉप खोलने के बाद आप कुछ महीनों तक सिर्फ दाम के दाम पर समान बेंच सकते हैं जिससे बाकी दुकानो की तुलना में आपकी दुकान पर ग्राहक बंधेंगे,ये आप शुरू के कुछ महीनों तक कर सकते हैं उसके बाद आप कुछ फायदा लेकर समान बेंच सकते हैं जिससे आपकी दुकान अच्छी तरक्की करेगी।

कॉस्मेटिक दुकान के लिए परमिशन-

जी हां बैसे सामान्य और छोटे दुकानदार इस बात को इग्नोर कर देते हैं लेकिन ये बात एक अच्छे दुकानदार के लिए बहुत मायने रखती है क्योंकि जब आपके दुकान की सरकारी परमिशन का सर्टिफिकेट होगा तब ग्राहक ज्यादा आप पर भरोसा करेगा और आप स्वमं में भी कॉन्फिडेंस महसूस करेंगे ,

स्थानीय परमिशन-

आपको कई तरह की परमिशन लेने की आवश्यकता होगी ,आप की दुकान जहां पर है आप वहां के नगरपालिका या प्रधान से परमिशन सर्टिफिकेट ले सकते हैं और उसे दुकान में लगा सकते हैं।

सरकारी परमिशन-

आपको अपनी दुकान का GST नंबर भी जारी कराना होगा ,आप चाहे तो अपने जनपदीय स्तर से दुकान की परमिशन भी ले सकते हैं।आप सरकारी सिस्टम उधोग आधार में भी रजिस्टर कर सकते हैं,जहां आपको एक दुकान ,प्रतिष्ठान के रूप में रजिस्टर होना होगा ये आप किसी भी जन सेवा केंद्र की मदद से कर सकते हैं,चूंकि यह ऑनलाइन है इसलिए फार्म प्रक्रिया स्वीकर होने के तुरन्त बाद आपको एक प्रमाणन सर्टिफिकेट मिल जाएगा जिसे आप अपनी दुकान में लगा सकते हैं। आपको अपनी दुकान के नाम से एक चालू खाता भी बैंक में खोलना होगा जो जरूरी है। इन सबके बाद आप ग्राहकों का भरोसा और कानूनी पकड़ दोनों मजबूत कर पाएंगे और बिना किसी परेशानी के दुकान चला सकेंगे।

सामान क़्वालिटी का रखें ध्यान-

आज के समय मे क्वालिटी का ध्यान रखना बहुत जरूरी है क्योंकि हर तरफ मिलाबट का दौर है ऐसे समय मे स्किन को गलत प्रोडक्ट के साथ किसी भी तरह का खतरा हो सकता है ,इसलिए बहुत जरूरी है कि प्रोडक्ट की क्वालिटी से कोम्प्रोमाईज़ न ही किया जाए तो अच्छा है जो आपको बाकी दुकानदारों से अलग बनाता है और इसी के साथ एक्सपायरी डेट का भी रखें ध्यान क्योंकि एक्सपायर चीजे बेंचना गैरकानूनी है और आपकी दुकान के भविष्य के लिए हानिकारक भी तो हर व्यक्ति को प्रोडक्ट बेंचने से पहले देख लें कि प्रोडक्ट एक्सपायर न हुआ हो।

कॉस्मेटिक आइटम बिजनेस के लिए माल कहाँ से खरीदें-

अब आपके सामने एक बड़ा प्रश्न आता है की थोक समान कहाँ से खरीदें कॉस्मेटिक आइटम बिजनेस के लिए माल लेने के बहुत सारे स्रोत है। जैसे सप्लायर द्वारा, किसी कंपनी से फ्रेंचाइज़ी लेकर, या किसी अच्छे होलसेल मार्केट से। अगर आप दिल्ली के आस पास से हैं तो आप दिल्ली के सदर बाज़ार से ले सकते हैं। जहां अच्छे डिस्काउंट के साथ ब्यूटी प्रोडक्ट मिल जाते है। लेकिन सामान खरीदते समय असली और नकली प्रोडक्ट की पहचान भी देख लें और इसके लिए पहली बार किसी अनुभवी को साथ लेकर जाएं जिससे आपको सामान लेने में कोई परेशानी नही होगी।

सप्लायर का चुनाव

अपना शॉप स्टार्ट करने के बाद आपको माल स्टोर करने की जरूरत होगी जिसके लिए आपको सप्लायर की आवश्यकता होगी। सप्लायर वो होते हैं जो ब्यूटी प्रोडक्ट को या दूसरे आइटम को आपतक पहुंचाएंगे। इसके लिए सही सप्लायर का चुनाव करें जो आपको उचित दाम पे माल दे सके। सही सप्लायर जे चुनाव के लिए आप पहले से इस लाइन से जुड़े व्यक्ति से मिल कर जानकारी हासिल कर सकते हैं।

दुकान का फर्नीचर-

अब बात आती है दुकान के फर्नीचर की जहां आपको विशेष ध्यान रखना होगा कि फर्नीचर ऐसा हो जहां अच्छे से सारा सामान रखा जा सके बिना किसी परेशानी के,तो यहां आपको अच्छा खासा पैसा खर्चा करना पड़ सकता है क्योंकि आपने कहावत सुनी होगी जो दिखता है वही बिकता है। आपको सनमाईका लगा हुआ अच्छा और लंबा एक काउंटर बनवाना होगा जिस पर कांच लगाकर आप उसके अंदर समान भी रखेंगे तो और अच्छा लगेगा ,साथ ही बिजली की उचित व्यवस्था हो जहाँ आप जगह-जगह LED लगवा सकें जिससे प्रोडक्ट में चमक आ जाए और ग्राहकों पर अच्छा इम्प्रेशन पड़े। फर्नीचर में लगभग आपको 60 से 70 हज़ार रुपए तक लग सकते हैं जिसमे आपके फर्नीचर और काउंटर बनेगें।

बयूटी आइटम के कलेक्शन का रखें खास ध्यान

कॉस्मेटिक आइटम अलग अलग उद्देश्य के अलग अलग प्रकार के बहुत सारी कंपनियां के आते हैं। इस स्थिति में इस बिजनेस में यह एक बड़ा चैलेंज है के सही कलेक्शन रखा जाए। क्यों हर ग्राहक की अलग अलग कंपनी की अलग अलग प्रोडक्ट की मांग होती है। इसलिए ब्यूटी प्रोडक्ट का कलेक्शन ज़्यादा ग्राहक की मांग के अनुसार रखें। ताके आपके ग्राहक को दुकान से वापस न जापाये । इसके अलावा अच्छे अच्छे कंपनी का प्रोडक्ट रखें जो मार्केट में ज़्यादा प्रचलित है। इसके अलावा फेस्टिवल में खास ध्यान रखें और ज़्यादा कलेक्शन रखें के माल शॉर्टेज न पड़े।

कॉस्मेटिक बिज़नेस शुरू करने में कितनी आएगी लागत

लागत की बात करें तो ये आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की और कितनी सामान दुकान में रखते हैं सबसे पहले शॉप रेंट पे लीज पे लेने पे आएगी। ये लागत एरिया पे निर्भर करता है। इसके बाद 50 से 60 हज़ार तक फर्निशिंग वर्क डेकोरेशन, इलेक्ट्रिक वर्क पे आएगा शुरू में वही चीजें दुकान पर रखें जो बहुत जरुरी हैं नही तो खर्चा बहुत ज्यादा हो जाएगा फिर भी यदि आप कॉस्मेटिक की दुकान खोलना चाहते हैं तो कम-से-कम 2-3 लाख रुपए होने ही चाहिए तभी कुछ हो सकता है। 

कॉस्मेटिक दुकान से फायदा-

अब बात यदि लाभ की करें तो वो भी आपके द्वारा की गई इन्वेस्टमेंट पर निर्भर करता है क्योंकि जो बोओगे वही काटोगे,शुरू में हो सकता है कि इनकम ज्यादा न हो लेकिन जब एक बार कॉस्मेटिक्स की दुकान अच्छे से चलने लगे तो इनकम बढ़ती जाएगी औऱ आपको दुकान में धीरे-धीरे सामान भी बढ़ाना होगा जिससे फायदे में भी बढ़ोत्तरी हो। वैसे ब्रांडेड आइटम पे 10 से 15% तक मार्जिन होता है। यानी आप 100 रुपया का ब्रांडेड प्रोडक्ट बेचते हैं तो आप 15 से 20 रुपया तक कमा सकते हैं। इसके अलावा कॉस्मेटिक आइटम में बहुत सारे आइटम नॉन ब्रांडेड आते हैं खास के ज्वेलेरी, इन सब प्रोडक्ट पे 30 से 50% तक का मार्जिन हो सकता है।

मांग की जानकारी-

ये बात आपको शायद बाकी दुकानदारों से अलग करे आप अपनी एक नोटबुक बना सकते हैं जहां पर आप ये लिखेंगे की किस प्रोडक्ट की मांग किस उम्र के लोगों में ज्यादा है और किस प्रोडक्ट की मांग बिल्कुल कम है ये आपको हर रोज लिखना है,जिससे आपको ये जानकारी मिलती रहेगी कि लोग किस प्रोडक्ट को ज्यादा पसंद कर रहें हैं और किस प्रोडक्ट को आपको ज्यादा खरीदना है औऱ किस को नही ,सही मांग की जानकारी ही आपको अच्छे फायदे दिला सकती है।

दुकान का प्रमोशन-

अब बात आती है दुकान के प्रोमशन की जो बहुत जरूरी है किसी भी दुकान के लिए और अब समय बदल गया है तो आप प्रोमोशन के तरीके भी बदले जा सकते हैं जहां आप ऑफलाइन के साथ-साथ सोशल मीडिया का साथ भी ले सकते हैं क्योंकि आजकल के ज्यादा युवा वर्ग सोशल मीडिया से अपडेटेड रहते हैं और इससे आपकी दुकान का अच्छा इम्प्रेशन भी पड़ता है। इसके लिए आप अपनी कॉस्मेटिक दुकान के नाम पर फेसबुक ,इंस्टाग्राम पर पेज बना सकते हैं और हर रोज पेज पर किसी एक प्रोडक्ट की डिटेल औऱ मार्केट छूट के बारे में पोस्टर डाल सकते हैं,जिससे अधिक लोग आपके साथ जुड़ें।

अब बात करें अगर ऑफलाइन प्रमोशन की तो इसके लिए आप अपनी दुकान के विजिटिंग कार्ड और कलेंडर भी छपबा सकते है जो आप अपने हर ग्राहक को दे सकते हैं जिससे आपकी दुकान का प्रोमोशन तो होगा ही और ग्राहकों से भी अच्छे रिश्ते बनेंगे और उनको लगेगा कि काम कितनी ऑफिसियल तरीके से हो रहा है।

इन बातों का रखें खास ध्यान

ज़्यादा तर कॉस्मेटिक आइटम को यूज़ करने की एक सीमा होती है यानी एक्सपायरी डेट होती है। एक्सपायरी प्रोडक्ट को बेचना क़ानूनन अपराध है। इसलिए आप एक्सपायरी डेट से संबंधित नियमों की जानकारी लें इसके लिए आप FDI इंडिया के पेज पे जा सकते हैं।

74 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: