कपड़े का बिजनेस – रेडीमेड गारमेंट व्यवसाय कैसे शुरू करे | Readymade Garments Business Plan in Hindi

कपड़े का बिजनेस कैसे करना है पूरा जानकारी आपको यहां पर मिलने वाला है

भारत त्योहारों का देश है यहां पर विभिन्न धर्म प्रजाति के लोग रहते हैं जिन का पहनावा भी एकदम अलग है और यहां पर कपड़ों की मांग उस समय अधिक बढ़ जाती है। जब कोई त्यौहार या घर में कोई पार्टी वगैरा हो ऐसे में लोग खरीदारी करना शुरू कर देते हैं। कपड़ों की मांग मौसम के मुताबिक भी तय की जाती है जैसे कि गर्मी के सीजन में गर्मी के सीजन में सूती कपड़ों की डिमांड बढ़ जाती है वही ठंडी के मौसम में वूलन कपड़ों की भरमार देखने को मिलती है।

ऐसे में यदि आप कपड़े का बिजनेस करना चाहते हैं तो यह आपके लिए भविष्य में फायदेमंद साबित होगा अथवा नहीं इसकी चिंता आपको बिल्कुल नहीं करनी चाहिए क्योंकि कपड़ा मनुष्य की मूलभूत आवश्यकताओं में से एक आता है। वर्तमान समय तो दिखावे का युग है इसमें लोग अपने आप को प्रतिष्ठित दिखाने के लिए भी कपड़े खरीदते हैं।

इस बिजनेस को यदि थोड़ी सी भी समझदारी से किया जाए, तो घाटा लगने की संभावना बहुत कम हो जाती है इसलिए यदि कोई भी व्यक्ति बिजनेस के बारे में विचार कर रहा है तो कपड़े का बिजनेस भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है अब जब आपने कपड़े के बिजनेस के बारे में सोच ही लिया है तो आपको यहाँ पर भी कुछ विकल्प मिलेंगे जैसे आप चाहे तो महिलाओं और लड़कियों के कपड़ो का बिजनेस शुरू कर सकते है इसके अलावा आप पुरुषों के कपड़ो का भी व्यापार कर सकते हैं 

कैसे करें कपड़े के बिजनेस की शुरुआत?

सबसे पहले तो एक गलतफहमी दूर कर देते हैं कि यदि आप सोचते हैं कि ये बिजनेस केवल दूकान रेंट पर लेकर ही किया जा सकता है, तो ये गलत है। आप गलत सोचते हैं, क्योंकि इस बिजनेस का आप घर से शुरू कर सकते हैं। यही नहीं कई हाउस वाइफ या लोग कपड़े का बिजनेस को अपने घर से शुरू करके अच्छा खासा पैसा कमा रहे हैं। 

किसी भी बिजनेस को एक दिन में बुलंदी पर पहुंचाया नहीं जा सकता इसके पीछे एक लंबी योजना और निरंतर रूप से कार्यरत रहने की आवश्यकता होती है। कपड़े का बिजनेस बेहद ही फायदेमंद बिजनेस है इस बिजनेस को करने पर व्यक्ति को लाभ हर स्थिति में प्राप्त होता है। यदि आप कपड़े के बिजनेस की शुरुआत करने की फिराक में है तो आपको पहले अपनी नजदीकी मार्केट का जायजा ले लेना चाहिए जिससे कि आपको बहुत अधिक इस बिजनेस से फायदा प्राप्त है। जब कभी भी कोई व्यक्ति इस बिजनेस की शुरुआत करता है तो उसके सामने कई प्रकार की कठिनाइयां खड़ी होती है जैसे कि उसे किस प्रकार के कपड़े का चुनाव करना चाहिए? क्या उसे इस व्यवसाय में लंबी अवधि तक लाभ प्राप्त होगा? क्या उन कपड़ों की डिमांड वर्तमान में की जा रही है?

कपड़ों का चुनाव कहां से करें?

जैसा कि हमने बताया कि आप कई तरह की केटेगरी के रेडिमेड वस्त्र बेच सकते हैं। जिनमें शादी, पार्टी के अनुसार वस्त्र और बच्चों के कपड़े, पुरूषों के और महिलाओं के कपड़े आदि। पुरूषों के रेडिमेड कपड़ों में आप जिंस, शर्ट, टी शर्ट आदि बेच सकते हैं। महिलाओं के लिए आप साड़िज, सलवार सूट आदि बेच सकते हैं।

अब आमतौर पर लोगों के मन में यह विचार आता है कि यदि वह कपड़ों की व्यवसाय में लाभ कमाना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें कपड़े की खरीदारी कहां से करनी चाहिए?

एक बात बता देते हैं कि जो भी इस तरह का बिजनेस शुरू करके अच्छा खासा पैसा कमा रहा है वो ये कपड़े बेचने के लिए इन कपड़ो को ऐसी जगह से खरीदता है जहां ये सस्ते मिलते हों। आज हम आपको ये बता रहे हैं कि आप इन्हें कहां से खरीद सकते हो। यदि आप पुरूषों की केटेगरी के रेडिमेड कपड़े खरीदना चाहते हो तो आप ये दिल्ली से खरीदें। क्योंकि वहां पर ये काफी सस्ती रेट में मिलते हैं और जितने भी रेडिमेड कपड़ो का बिजनेस करने वाले हैं वो यहीं से ज्यादातर माल खरीदते हैं

इसके अलावा यदि आप सारी, सूट आदि खरीदना चाहते हैं तो इसके लिए आप सूरत जाएं। इस केटेगरी का माल आप सूरत से खरीदें। सूरत में इस केटेगरी के रेडिमेड कपड़े बहुत सस्ते मिलते हैं और वो भी इतने सस्ते कि किसी ओर जगह से खरीदने की तुलना में यहां आपके डबल फायदा हो जाएगा।

लेडीज कपडे का बिजनेस शुरू करने के लिए यहाँ से पढ़े

कपड़े के बिजनेस की शुरुआत करने में आने वाले लागत

कपड़े के बिजनेस एक तरफ व्यक्ति को लाभ तो मिलता है परंतु शुरुआती तौर पर इस बिजनेस में लागत के तौर पर काफी खर्च उठाना पड़ जाता है। यदि आप रेडीमेड कपड़े का बिजनेस करने की सोच रहे हैं तो सबसे पहले आपके पास अपनी खुद की दुकान होनी चाहिए नहीं तो आपको दुकान किराए पर लेना होगा जिसका किराया तकरीबन 7 से 8 हजार आपको वहन करना होगा। इसके आगे की प्रक्रिया में आपको फर्नीचर और रखरखाव के सामान आदि का इंतजाम करना होगा। अब बात आती है रेडीमेड कपड़ों की यानी माल की जो कि आपको एडवांस तौर पर भुगतान करना होता है जिसकी लागत 1लाख लेकर 1.20 के बीच आती है कुल मिलाकर आपको 1 लाख 50 हजार का खर्च आता है।

कपड़े के बिजनेस का पंजीकरण (रजिस्ट्रेशन) कैसे होता है

कपड़ो का बिजनेस करना इतना सहज नहीं है इसके लिए आपको पंजीकृत होना होता है।

TIN नंबर

जब भी आप कपड़े व्यवसाय की शुरुआत करते हैं तो इसके लिए आपको TIN नंबर की जरूरत पड़ती है इसकी आवश्यकता इसलिए होती है क्योंकि आपको इसी दिए गए नंबर के आधार पर आपके खरीदे गए समान पर टैक्स कटता है। इसी को आधार मानकर इनकम टैक्स की और से आपके द्वारा बेचे गए कपड़ों की जांच के लिए पेश किए जाते हैं।

यदि आपके पास TIN नंबर नही है तो आपको अपना पैन नंबर, एक पहचान पत्र, एड्रेस प्रूफ, समान खरीदने का बिल, बिज़नेस का नाम, और अपने प्रोडक्ट की जानकारी अपने हस्ताक्षर के साथ आपको जमा करना पड़ेगा आपके द्वारा दी गई जानकारी के प्रमाणित हो जाने पर कमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से 11अंकों का TIN नंबर प्राप्त होता है। कपड़े का व्यवसाय यदि दो लाख की सीमा तक माल खरीदना है तो उसे छूट प्रदान की जाती है। TIN नंबर को आधार मानकर आपको डिस्ट्रीब्यूटर से माल प्राप्त होगा आपके माल की पूरी बिक्री हो जाने के बाद ही आप डिस्ट्रीब्यूटर को पैसा जमा कर सकते हो

फॉर्म 32

यह एक ऐसा फॉर्म होता है जिसके मदद से डिस्ट्रीब्यूटर आपको माल देगा क्या आपको पता है कि एक फॉर्म के बदले आपको माल प्राप्त होता है। इस फॉर्म 32 की मौजूदगी में आपको टैक्स देने से संबंधित समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है जैसे ही आपका फॉर्म 32 पूरा हो जाए उसके बाद से ही आपका माल दूसरे शहर से आपके शहर में आना शुरू हो जाएगा और अब आप अपने माल को किसी अन्य शहर में भी ले जाकर बेच सकते हैं।

कपडे का बिजनेस शुरू करने के लिए कुछ जरूरी टिप्स :

1) कपड़े का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस होता है जहाँ कुछ वक्त के बाद एक नया ही फैशन आ जाता है इसलिए कभी भी बहुत ज्यादा समान अपने पास न रखें, नही तो आप घाटे में जा सकते हैं

2) कस्टमर से हमेशा अच्छे से व्यवहार करें कस्टमर के ऊपर आपके द्वारा किये गए व्यवहार का बहुत अधिक असर पड़ता है यदि आपकी बोली और भाषा अच्छी है, तो आप ग्राहक को अपने दामों पर भी समान बेच सकते हैं यह सिर्फ अच्छे व्यवहार के कारण संभव हो सकता है

3) कपड़े का बिजनेस में कभी भी कीमत को लेकर ज्यादा मोलभाव करने से ग्राहक के दिमाग मे यह बात आ जाती है की इनके यहाँ हमेशा कीमत कम रहती है इसकी वजह से कस्टमर हमेशा आपसे काफी कम कीमत पर समान लेने की अपेक्षा करने लगेंगे

4) हर बिजनेस का कभी अच्छा वक्त आता है कभी बुरा वक्त आता है इसलिए यह बहुत जरूरी है कि जब आपके बिज़नेस का अच्छा वक्त चल रहा हो और पैसे आ रहे हों उस वक्त आप ज्यादा से ज्यादा बचत करने की कोशिश करे यह कि गई बचत आपको उस वक़्त बहुत मदद करेगी जब आपका बिज़नेस बुरे दौर से गुजर रहा होगा

कपड़े के व्यवसाय कितना फायदेमंद होता है?

जैसा कि आप जानते होंगे कि यदि आप कपड़े थोक में खरीदते हैं तो आपको कम दाम पर कपड़े उपलब्ध हो जाते हैं जिसे आप अधिक रेट पर बेच सकते हैं

अगर आप जिंस वगेरा खरीदते हैं तो आपको थोक में ये एक जिंस 250 या 300 रुपये में मिल जाती है। इसके बाद आप इस जिंस को 700 से 800 तक में बेचते हैं तो आपको एक जिंस पर 350 से 450 रुपये तक का मुनाफा होता है। इसी तरह यदि आप साड़िया, सूट थोक में खरीदते हैं तो आपको प्रति साड़ी 250 से 300 रुपये तक पड़ती है आप उस साड़ी को मार्केट में 500 से 600 रुपये तक बेच सकते हो, तो आपको एक साड़ी,सूट पे कम से कम 200 से 300 रुपये मिल सकते हैं 

यानि अगर आप एक दिन में सात से आठ जिंस सेल करते हो तो आप 2500 से 3 हजार रुपये प्रतिदिन यानि महिने के 80 से 90 हजार रुपये आसानी से कमा सकते हो। इसके अलावा एक दिन में यदि आप आठ से दस साड़ियां, सूट बेचते हो, तो भी आप 2500 से 2800 प्रतिदिन यानि महिने के कम से कम 70 से 75 हजार रुपये कमा सकते हो। इसके बाद आप अच्छी सेलिंग करते हैं या ग्राहकों को अपनी ओर खींचने में सफल होते हैं, तो आपका मुनाफा वैसे ही बढ़ जाएगा। 

कपड़े का सौदा आपके लिए पूरी तरह फायदेमंद होता है फिर चाहे वह थोक कपड़े का हो जिसमें व्यापारी को 100 फ़ीसदी लाभ पहुंचता है। जब बात आती है ब्रांडेड कपड़े की तो इसमें पहले से ही व्यापारी का कमीशन रखा होता है जो कि तकरीबन 25 फ़ीसदी होता है।

कपड़े का बिजनेस में मुख्य चुनौतियां क्या हैं?

कपड़े का बिजनेस एक फायदेमंद व्यापारों की श्रेणी में आता है यह स्थिति आज नही बनी है यह काफी पुराने वक़्त से ही एक पसंदीदा बिजनेस रहा है इस वजह से इस बिजनेस में बहुत ही ज्यादा प्रतिस्पर्धा है जब भी कोई नया बिजनेस मैन इस बिजनेस में प्रवेश करता है तो कुछ प्रमुख चुनौतियों का सामना करना पड़ता है

जैसे सबसे बड़ी चुनौती यह होती है कि इस क्षेत्र में कई पुराने और माहिर व्यापारियों का पहले ही दबदबा बना होता है ग्राहक भी उसी ओर अधिकतर जाते है जो पुरानी दुकान हो, क्यों कि उन्हें ऐसा लगता है कि नए दुकान में उनसे ज्यादा पैसे वसूले जा सकते है बस बात भरोसे की होती है इसलिए ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करना के चुनौती होती है 

दूसरी जो एक बड़ी चुनौती होती है वह यह कि कपड़ो का व्यापार मौसम के प्रति बहुत संवेदनशील होता है मौसम के हिसाब से कपड़े बदलते रहते हैं इसलिए यदि आपने किसी भी मौसम से जुड़े ज्यादा कपड़ो का स्टॉक अपने पास जमा कर लिया तो आपको घाटा भी हो सकता है यदि सीजन निकल गया तो उन कपड़ो को बेचना काफी मुश्किल हल जाता है, क्योंकि अगले सीजन में नए डिज़ाइन के कपड़े आ जाते है फिर पुराने कपड़ो को बेचना काफी मुश्किल हो जाता है 

एक और चुनौती सामने आती है वो कपड़े की क्वालिटी की है कपड़ो की क़्वालिटी जांचने में आपको अच्छी महारत हासिल होना चाहिए ताकि आप कभी भी धोखा न खा सकें जैसा कि कस्टमर कि सोच होती है कि वह उम्दा क्वालिटी की कपड़े की खरीदारी करेंगे। कभी-कभी जिस दुकान से वह खरीद जारी कर रहे होते हैं। उन्हें उन कपड़ों में क्वालिटी की कमी दिखाई देती है जिससे कि वह खरीदारी करने से मुकर जाते हैं

यह भी पढ़े :

घर बैठे पैकिंग का काम कैसे करे

घर बैठे ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए

कॉस्मेटिक आइटम का बिजनेस कैसे करे

98 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: