Cinema Hall Kaise Khole? Movie Theater बिजनेस कैसे शुरु करें

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री दुनिया में सर्वाधिक फिल्में बनाती है और कमाई के मामले में भी दूसरे पायदान पर आती है, अब यह सब बातें सुनकर Cinema Hall Kaise Khole इसपर सोचना तो बनता है। 

सिनेमा के कलाकारों को मात्र कलाकार नहीं बल्कि दिव्य शक्ति के धनी की तरह पूजा जाता है और इनके कई कई Fan Clubs पूरे देश विदेश में फैले हुए हैं जो अपने सुपरस्टार के फिल्म रिलीज़ होने को एक त्योहार की तरह मनाते हैं और यही कारण भी है की कई लोग सिनेमा हॉल बिजनेस करने में रुचि रख रहें हैं। 

इस ब्लॉग पोस्ट के जरिए Movie Theater Business kaise khole और इससे जुड़े हर तरह के सवालों का जवाब देने का प्रयास किया जाएगा। 

सिनेमा हॉल क्या होता है?

सिनेमा हॉल उस जगह को कहा जाता है जहां लगे बड़े स्क्रीन पर फिल्में प्रदर्शित की जाती है। लोग इस जगह अपने मनोरंजन के लिए आते हैं। इसमें कुछ शुल्क भी लागू होते हैं जिसे कस्टमर अदा करके फिल्म देखने का मजा लेते हैं। Movie Theater साउंड प्रूफ होते हैं ताकि बाहर ट्रैफिक का शोर सिनेमा हॉल में न पहुंच सके इसके अलावा भी कई आधुनिक तरह की सुविधाएं उपलब्ध होती है जो कस्टमर को थियेटर में बेहतरीन मूवी देखने का एक्सपीरियंस प्रोवाइड कराती हैं।

इसमें पैसों का लेन देन शामिल है इसीलिए इसे ही Movie Theater Business भी कहा जाता है, हालांकि कुछ ऐसी जगहों का इस्तेमाल स्कूल या किसी संस्था को डॉक्यूमेंट्री फिल्म निशुल्क में दिखाने के लिए किया जाता है वो मूवी थियेटर बिज़नेस के रूप में नहीं गिने जाएंगे। 

सिनेमा हॉल खोलने के लिए क्या करे? ( Cinema Hall Kaise Khole)

भारत में मूवी देखने का क्रेज लोगों में काफी शुरू से रहा है, सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में भारतीय फिल्मों को वाहवाही मिलती है। इतनी वाहवाही यह दर्शाती है की Movie Theater बिजनेस देश में काफी फायदा का सौदा है, हालांकि इस बिज़नेस में इन्वेस्टमेंट काफी लगता है लेकिन प्रॉफिट की मात्रा भी अच्छी है। आइए जानते हैं इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए स्टेप्स।

1) मार्केट पोटेंशियल 

वैसे तो हर बिजनेस की शुरुआत करने से पहले आपको यह जानना जरूरी है की उस व्यवसाय में आपको रिटर्न कितना मिलेगा। मूवी थियेटर बिज़नेस में इन्वेस्टमेंट काफी ज्यादा लगता है इसीलिए आपको इस बिजनेस की शुरुआत करने से पहले उसका मार्केट पोटेंशन जानना होगा। इसके लिए आप ऑनलाइन सर्वे करवा सकते हैं। सर्वे आपको कुछ हद तक अपने एरिया के लोगों की पसंदीदा एक्टर्स और एक्ट्रेस का ब्योरा दे देगा। 

पसंद मुताबिक अपने थियेटर में फिल्में चुनेंगे तो अधिक से अधिक मात्रा में लोग देखने आएंगे इससे अच्छा रिटर्न मिलने की उम्मीद रहती है

2) तय करें किस तरह का Movie Theater Business खोलना चाहते हैं

मूवी थियेटर दो तरह के पाए जाते हैं एक सिंगल स्क्रीन मूवी थियेटर जो छोटे शहरों में जिसकी आबादी कम हैं वहां आज भी पॉपुलर हैं। दूसरा मल्टीप्लेक्स मूवी थियेटर जिसमें एक से ज्यादा स्क्रीन होती है यानी एक समय में दो या तीन मूवी दिखाने में सक्षम हैं। मल्टीप्लेक्स ज्यादातर बड़े शहरों में पॉपुलर हैं। कौन सी तरह का थियेटर बिज़नेस खोलना है यह आपके एरिया पर और कस्टमर पर डिपेंड करेगा। मूवी थियेटर बिज़नेस में आपके टारगेट कस्टमर सबसे पहले आपके एरिया (जहां थियेटर सेटअप करेंगे) के लोग ही होंगे। 

3) सेटअप करने के लिए ढूंढे लोकेशन

किसी सोच को ऊपरी जामा पहनाने के लिए उसको जमीन पर उतारना बेहद जरूरी है। Movie Theater Business location ढूंढने में ज्यादा ध्यान देना चाहीए क्योंकि लोकेशन बेहतर होगा तो लोग ज्यादा से ज्यादा आना पसंद करेंगे हालांकि ज्यादा लोगों को अपने थियेटर में अट्रैक्ट करने के लिए अच्छी फिल्मों का लगना भी जरूरी है। 

लोकेशन का चयन आप अपने मूवी थियेटर के प्रकार के आधार पर ही चुनें यानी की सिंगल स्क्रीन थियेटर हैं तो कम जगह ही चुनें। क्योंकि लोकेशन के आधार पर ही इन्वेस्टमेंट अमाउंट भी निर्भर करता है। 

4) मूवी थियेटर बिजनेस में इन्वेस्टमेंट

इस व्यवसाय में तीन तरीके से इन्वेस्टमेंट किया जाता है। जिसमें एक इन्वेस्टमेंट की शैली one time investment रहती है यानी की यह इन्वेस्टमेंट सिर्फ बिज़नेस की शुरुआत के लिए हैं। इसमें आपको 4000 से 5000 स्क्वायर फीट जगह कम से कम जरूरत पड़ती है। इसके साथ स्क्रीन, प्रोजेक्टर, चेयर, साउंड प्रूफिंग, साउंड सिस्टम, इंटीरियर डिजाइनिंग सभी का मिलाकर अमूमन 80 लाख से 1 करोड़ रुपए की लागत आती है। 

दोस्तों यह याद रहें की यह इन्वेस्टमेंट अमाउंट सिंगल स्क्रीन थियेटर के लिए हैं, मल्टीप्लेक्स थियेटर के लिए इस अमाउंट से खर्चा ज्यादा आएगा क्योंकि हर सामान की क्वांटिटी बढ़ जाएगी। 

सिनेमा हॉल बिजनेस में मासिक इन्वेस्टमेंट करना भी जरूरी है। मासिक इन्वेस्टमेंट में जगह का रेंट आता है हालांकि अगर आपने जगह खरीदी हुई है या खुद की है तो यह मासिक में कैलकुलेट नहीं होगा। मासिक इन्वेस्टमेंट में पानी का बिल, बिजली का बिल, मेंटेनेंस और वर्कर्स की सैलरी आती है। इसके साथ साथ जो भी मूवी थियेटर में दिखाना चाहेंगे उसको खरीदने का खर्च भी आता है। 

तीसरे तरह का इन्वेस्टमेंट करने के लिए पहले बिज़नेस ऑनर को डिसीजन लेना होगा की उन्हें मूवी थियेटर खुद के ब्रांड नाम से खोलना है या किसी established company की फ्रेंचाइजी लेनी है। फ्रेंचाइजी बिज़नेस के अपने फायदे हैं। फ्रेंचाइजी मूवी थियेटर बिज़नेस स्टार्ट करने के लिए 3 करोड़ रुपए तक का इनवेस्टमेंट लग सकता है। 

दोस्तों इन स्टेप्स को फॉलो करके आप अपने movie Theater Business की शुरुआत कर सकते हैं। लेकिन हर स्टेप्स करते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी हैं ताकि आगे जाकर बिज़नेस में नुकसान न हो। 

सिनेमा हॉल खोलने के लिए क्या बातों पर ध्यान देना चाहिए

दोस्तों मूवी थियेटर बिज़नेस में भी बाकी व्यवसाय की तरह बिज़नेस रिस्क मौजूद हैं। इसमें कुछ रिस्क ऐसे हैं जिसका अंदाजा लगाना मुश्किल रहता है लेकिन कुछ रिस्क ऐसे हैं जिसे आप अपनी सूझ बूझ के साथ कम कर सकते हैं। 

लोकेशन के आधार पर चुनें मूवी

मूवी थियेटर में उस मूवी को तवज्जो दें जो आपके एरिया के लोगों को पसंद आए यानी की अगर आप अपना थियेटर किसी ऐसी जगह सेटअप कर रहे हैं जहां लोग अंग्रेजी भाषा अधिक नहीं जानते तो आपको अंग्रेजी मूवी लगाने का कोई फायदा नहीं होगा। आपके target customer थियेटर के आस पास एरिया के ही गिने जाएंगे। 

लोकेशन के आधार पर ही करें इन्वेस्टमेंट

दोस्तों movie theatre business investment की मांग बहुत करता है। जैसे की हमने बताया की 80 लाख से 1 करोड़ रूपए तक का खर्चा आता है। इसकी भरपाई में दिक्कत हो सकती है क्योंकि कई जगहों पर लोग 150 ₹ की फिल्म की टिकट लेना पसंद नहीं करते। इसीलिए बिज़नेस ऑनर को यह देखना होगा की वे अपने एरिया को अच्छे से समझें और लोगों की क्षमता अनुसार ही थियेटर निर्माण करें और उसी मुताबिक टिकट के चार्जेस रखें। ताकि इन्वेस्टमेंट अमाउंट की भरपाई होने के बाद प्रॉफिट भी हो सके। 

Movie Theater Business में Profit कितना है?

इस बिज़नेस में हर कार्य एक दूसरे से कनेक्ट हैं यानी की प्रॉफिट ज्यादा तभी होगा अगर थियेटर में लोग ज्यादा देखने आएंगे। लोग ज्यादा तभी देखने आएंगे जब उनके फेवरेट कलाकारों की या उन्ही के पसंदीदा जेनर की मूवी लगे। मूवी कौन सी दिखाई जाएगी यह डिपेंड करता है बिज़नेस ऑनर ने जगह कौन सी चुनी है। 

लेकिन कमाई को अमाउंट में निकालें तो एक सिंगल स्क्रीन थियेटर में कम से कम 5 शो दिखाएं जाते हैं और 200₹ प्रति टिकट का भी जोड़ें तो प्रति महीने 60,000,00 रूपए तक जोड़ सकते हैं (नॉट:- यह उन थियेटर के मुताबिक है जहां फिल्म देखने के लिए 200 सीट मौजूद होती है)। 

सिनेमा हॉल खोलने के लिए लाइसेंस

मूवी थियेटर खोलना यानी की लोगों को वह उपलब्ध करवाना जिसकी तलाश में लोग हमेशा रहते हैं, वह है एंटरटेनमेंट। लेकिन इस एंटरटेनमेंट को लोगों तक लीगली पहुंचाने के लिए कई तरह के सरकारी परमिशन लेने बेहद जरूरी है। जानते हैं क्या क्या लाइसेंस चाहिए movie Theater Business शुरू करने के लिए

  • लोकेशन का नक्शा पास होना चाहिए, इसके लिए बिज़नेस ऑनर को नगरपालिका से संपर्क करना होगा।
  • फायर ऑफिसर से एनओसी सर्टिफिकेट लेना होगा, क्योंकि मूवी थियेटर पब्लिक प्लेस के रूप में गिना जाता है इसीलिए यह सुविधा होनी चाहिए इसमें fire officer थियेटर को चेक करेंगे ताकि यह सुनिश्चित कर सकें की थियेटर में फायर सेफ्टी का ध्यान रखा गया है या नहीं।
  • फिल्म सेंसर बोर्ड से भी एनओसी लेना अनिवार्य हैं। यह आपको सेंसर बोर्ड के पास रजिस्टर्ड करवा देगा ताकि आप लीगली दर्शकों को मूवी दिखा सकें।
  • कलेक्टर ऑफिस से एनओसी
  • इसके अलावा अगर आप कोई स्पेशल मूवी थियेटर में दिखा रहे हैं तो उसका कॉपीराइट लाइसेंस भी दिखाना जरूरी है। 

Movie Theater Business की मार्केटिंग कैसे करें

मूवी थियेटर की मार्केटिंग मूवी जो थियेटर में रिलीज़ होने को है उसके जरिए हो सकती है। जैसे की मूवी के पोस्टर के नीचे आप show timings लिखकर अपने एरिया के जगह जगह छपवा सकते हैं। 

लोकल चैनलों के मध्यम से अपने थियेटर की एडवरटाइजमेंट कर सकते हैं। इसके अलावा आप न्यूजपेपर के जरीए भी फाफलेट बटवा सकते हैं। 

Conclusion

दोस्तों आज हमने Movie Theater Business kaise Shuru Karen इसके बारे में जाना, सिनेमा थियेटर यूथ में काफी पॉपुलर हैं। अपने फेवरेट एक्टर और एक्ट्रेस को बड़े पर्दे पर एक्शन या रोमांस करते हुए देखने का आनंद उन्हें भी कलाकार बनने के लिए प्रोत्साहन देता है। 

हालांकि आज के समय टेक्नोलॉजी में विस्तार के कारण ott platforms का मूवी थियेटर बिज़नेस को कमजोर करने का दावा किया जाता है लेकिन असल में ऐसा होता नहीं दिख रहा है। अभी भी थियेटर में मूवी देखने का क्रेज बरकरार है। 

धन्यवाद।

अन्य पढ़े :

ट्रैवल एजेंसी का बिजनेस कैसे शुरू करें

घर बैठे ऑनलाइन बिजनेस कैसे करें

बिना पैसे लगाए बिजनेस कैसे करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *