रेलवे में पैंट्री कार टेंडर कैसे ले | Railway Pantry Car Tender Full Information In Hindi

पैंट्री कार टेंडर (pantry car tender)

आज वर्तमान में हम अपने कामो की वजह से ज्यादातर सफर करते है, हम सब मे कोई एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए कार, बस या ज्यादा दूरी के लिए लोग ज्यादातर ट्रेन का सफर करते है, कभी कभी सफर इतने लंबे होते है की हमे पूरी रात तक सफर में रहना होता है ट्रेनो में, ऐसे में किसी को भूख लग जाये तो ट्रेन में खाना के आर्डर और खाने की व्यवस्था भी होती है, समय समय पर कुछ यूनिफार्म वाले लोग हमें खाना देने आते रहते हैं, कभी सोचा है वो ट्रेन पर खाना कैसे ले आते है, क्या रेलवे में ये कोई भी कर सकता है, तो आज इन सभी सवालों के जवाब देने के लिए हम बात करेंगे पैंट्री कार के बारे में, अब बहुत से लोग इस चीज़ को जानते ही नही, तो आज पैंट्री कार से जुड़ी जानकारी के विषय मे हम जानेंगे, जिसमें मुख्य है-

पैंट्री कार क्या होता है,पैंट्री कार टेंडर के लिए किन जानकारियो का होना जरूरी है, पैंट्री कार टेंडर कैसे लेते हैं, पैंट्री कार में खाने को तिगुने दाम पर बेचने क्या कारण है, पैंट्री कार ने आने वाली शिकायते क्या है, पैंट्री कार को क्यों रेलवे द्वारा हटाने को सोचा जा रहा हैं।

पैंट्री कार क्या होता है

पैंट्री कार को हिंदी में रसोई भण्डार यान कहते है, ये ट्रेन के ऐसे कोच होते है, जहा ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों के लिए खाना बनाने व उन्हें तैयार कर यात्रियों तक पहुचाने की व्यवस्था की जाती हैं।

जिस तरह बाहर खाना के लिए रेस्टोरेंट होते हैं, वैसे ही ट्रेन में रेलवे की तरफ से दी जाने वाली सुविधा में पैंट्री कार होता है, ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों के भोजन की व्यवस्था करना ही पैंट्री कार के कोच का काम होता है।

पैंट्री कार टेंडर के लिए किन जानकारियों का होना जरूरी होता है

पैंट्री कार टेंडर एक तरह का बिज़नेस भी कह सकते है, जिसमे यात्रियों के लिए खाने की व्यवस्था की जाती है, और किसी भी बिज़नेस या ट्रेन में पैंट्री कार के इस टेंडर से जुड़ी निम्न जानकारियां होना एक टेंडर को लेने वाले व्यक्ति को होना चाहिए-

  • पैंट्री कार कांसेप्ट जानकरी
  • पैंट्री कार टेंडर कैसे लेना है।
  • पैंट्री कार टेंडर में जरूरी दस्तावेज कौन से होते हैं।
  • पैंट्री कार टेंडर से जुड़ी जोनल जानकारी।
  • पैंट्री कार हेतु रजिस्ट्रेशन की वेबसाइट।
  • पैंट्री कार के लिए रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस।

1) पैंट्री कार कांसेप्ट जानकारी

किसी भी पैंट्री कार टेंडर लेने वाले व्यक्ति सबसे जरूरी है कि जिस फील्ड में वो जा रहा है उसकी कांसेप्ट क्या है, मतलब वो है क्या आखिर , इसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

कहते है-

अधूरा ज्ञान घातक है।

बस टेंडर भरना ही नही होना चाहिए, उसकी जानकारी जरूरी है।

2) पैंट्री कार टेंडर कैसे लेना है

किसी भी पैंट्री कार टेंडर को लेने का एक तरीका है, जिस की जानकारी एक टेंडर लेने वाले व्यक्ति को होना चाहिए।

3) पैंट्री कार टेंडर में जरूरी दस्तावेज कौन से होते हैं

किसी भी टेंडर लेने वाले व्यक्ति को टेंडर में लगने वाले जरूरी दस्तावेज की जानकारी होना बहुत जरूरी है, क्योंकि उसकी योग्यता, जरूरी दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, GST, व आवश्यक सर्टिफिकेट की जानकारी होनी चाहिए, जो उसकी पात्रता को मान्य कर सके।

4) पैंट्री कार टेंडर से जुड़ी जोनल जानकारी

जोनल का यहा मतलब उस एरिया से है, जिस एरिया में उस टेंडर लेने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति की होती है, क्योंकि रेलवे में अलग अलग जोन के अलग अलग टेंडर आते रहते हैं, तो व्यक्ति अपनी मन मुताबिक जोन का चयन करता है अर्थात किस जोन में क्या सिस्टम है इसकी जानकारी उस व्यक्ति को होनी चाहिए।

5) पैंट्री कार टेंडर हेतु रजिस्ट्रेशन की वेबसाइट

टेंडर लेने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को पैंट्री कार टेंडर किस वेबसाइट पर आते है, व कौन कौन वेबसाइट इससे जुड़े काम करती है इसकी जानकारी होना बहुत जरूरी होता हैं।

जैसे रेलवे की वेबसाइट है, जिसपर टेंडर से जुड़े जानकारी व रजिस्ट्रेशन किया जाता है, व वेबसाइट है-

https://ireps.gov.in/

इस वेबसाइट पर जाकर टेंडर के रजिस्ट्रेशन से जुड़ी जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

6) पैंट्री कार रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस

पैंट्री कार टेंडर के लिए रजिस्ट्रेशन के प्रोसेस की जानकारी टेंडर लेने वाले व्यक्ति को होनी चाहिए, जैसे वेबसाइट पर जाकर कहा , कैसे फॉर्म भरना है, कैसे रजिस्ट्रेशन करना है।

पैंट्री कार टेंडर कैसे लेते हैं

ट्रेन में पैंट्री कार टेंडर लेने का पूरा तरीका होता है जो निम्न है-

  • रेलवे द्वारा टेंडर निकला गया
  • टेंडर में रजिस्ट्रेशन हेतु टेंडर की वेबसाइट पर जाना।
  • टेंडर हेतु सारे दस्तावेज और कॉपियों जमा करना।
  • टेंडर के लिए सबसे कम बोली (quotation ) लगाना।
  • टेंडर एक फिक्स समय सीमा के लिए 1 से 2 करोड़ देकर टेंडर प्राप्त कर लेना।

रेलवे द्वारा टेंडर निकाला गया

रेलवे अपने विभाग की सुविधा हेतु कई तरह के टेंडर अपनी वेबसाइट पर निकालती है, जिससे जो भी टेंडर को लेने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति है उन्हें टेंडर लेने में आसानी हो।

टेंडर में रजिस्ट्रेशन हेतु टेंडर वेबसाइट पर जाना

रेलवे की टेंडर से जुड़ी वेबसाइट https://ireps.gov.in/ पर जाकर लोग रजिस्ट्रेशन करते हैं, जिसे रेलवे द्वारा बाद में जांचा जाता हैं, और सभी जानकारी व्यक्ति से जुड़ी प्राप्त की जाती हैं।

टेंडर हेतु सारे दस्तावेज और कॉपियों जमा करना।

टेंडर के रजिस्ट्रेशन में व्यक्ति सभी जरूरी दस्तावेज जैसे आंध्र कार्ड, ऑन कार्ड, GST, सर्टिफिकेट्स, फीस सब जमा करते हैं, जो रजिस्ट्रेशन का पूरा प्रोसेस होता है।

टेंडर के लिए सबसे कम बोली (Quotation) लगाना

टेंडर के लिए उसे चुना जाता हैं जो सबसे कम बोली लगाता है, जैसे किसी भी प्रोजेक्ट को लेने के लिए लोग बिड लगाते हैं, व जीतता वही है, जिसकी बिड अच्छी और कम होती है, उसी तरह टेंडर में भी बिड लगाई जाती है।

टेंडर एक फिक्स समय सीमा के लिए 1 से 2 करोड़ देकर टेंडर प्राप्त कर लेना।

पैंट्री कार टेंडर की बिड या बोली जीतकर टेंडर लेने वाले व्यक्ति को एक अमाउंट रेलवे को देना पड़ता है, और ये अमाउंट लगभग 1 से 2 करोड़ हो सकते हैं, जिसे देकर व्यक्ति टेंडर प्राप्त कर लेता है, और अब वो उस समय सीमा तक रेलवे की ट्रेन में पैंट्री कार का काम करता है, और मुनाफा कमाता है।

पैंट्री कार में खाने को तिगुने दाम पर बेचने क्या कारण है

पैंट्री कार टेंडर में भुगतान किए हुए राशि कोई भी मिडिल क्लास लोग नही कर सकते, इस अमाउंट का भुगतान करने के लिए व्यापर लोन लेकर ज्यादातर करता है, जिसकी ब्याज़ की भरपाई करने के लिए और भुगतान राशि जल्द से जल्द निकालने के लिए टेंडर लेने वाला व्यक्ति कही कही खाने के दाम में बढ़ाकर लेने लगता है, जबकि रेलवे द्वारा एक राशि पहले ही तय की जाती है।

पैंट्री कार ने आने वाली शिकायते क्या है

पैंट्री कार में आने वाली शिकायते यात्रियों द्वारा ज्यातर की ही जाती है, वो शिकायते होती है-

  • खाने में नमक व मसाले का कम व ज्यादा होना।
  • खाने में अनाज की निम्न गुणवत्ता वाली किस्म का इस्तेमाल होने।
  • खाना बनाने में सफाई की कमी।
  • खाने में किसी भी गन्दी चीज़ का निकलना।
  • खाने के दाम से जुड़ी शिकायत।

ये सभी शिकायते प्रायः यात्रियों द्वारा की जाती है, जो एक गम्भीर समस्या में से एक है।

पैंट्री कार को क्यों रेलवे द्वारा हटाने को सोचा जा रहा हैं।

पैंट्री कार की सुविधा को अब रेलवे द्वारा हटाने को सोचा जा रहा, जिसकी निम्न कारण है-

  • पैंट्री कार में आने वाली शिकायतें।
  • पैंट्री कार से ज्यादा रेवेन्यू का न मिलना।
  • नयी नयी E  कैटरिंग व बेस कैंटीन का रेलवे में खुलना।
  • यात्रियों का बाहर के खाने को न इस्तेमाल करना।

पैंट्री कार में आने वाली शिकायतें

पैंट्री कार की सिस्टम व सफाई से जुड़ी शिकायते आने के कारण रेलवे ने 300 ट्रेन में पैंट्री कार की सुविधा हटाने का फैसला लिया, प्रतिदिन खाने में गुणवत्ता न होना, सफाई न होना ये सब शिकायतों को खत्म करने के लिए रेलवे विभाग ने ये फैसला किया, और आगे भी बाजी ट्रेन पर पैंट्री कार के विषय मे एक्शन लिया जा रहा।

पैंट्री कार में ज्यादा रेवेन्यू का न आना

पैंट्री कार के सिस्टम से रेलवे को ज्यादा फायदा न होना भी इसके धीरे धीरे खत्म हटाने का कारण बन रहा, रेलवे द्वारा पैंट्री कार को AC  3 टायर में बदलने जा रही, जिससे रेलवे को लगभग सालाना 1400 करोड़ का रेवेन्यू आएगा, AC 3 टायर में 72 के करीब लोगो की जगह होगी जो रेलवे को रेवेन्यू बढ़ाने में मदद करेगा।

नयी नयी E  कैटरिंग व बेस कैंटीन का रेलवे में खुलना।

पैंट्री कार के हटाने की वजहों में एक नई नई के कैटरिंग व बेस कैंटीन का रेलवे विभाग में खुलना भी है, जहा गुणवत्तापूर्ण भोजन लोगो को दिया जाता है, और यही लोगो की पसंद भी बन गया हैं।

यात्रियों का बाहर के खाने को न इस्तेमाल करना

बहुत से यात्रियों का खाने में शिकायत से वो बाहर के खाने को खाना नही पसंद करते, वे घर से ही खाना लेकर निकालते हैं, जिसकी वजह से पैंट्री कार का महत्व घटता जा रहा है।

इन सभी पैंट्री कार व उसके टेंडर से जुड़ी जानकारी टेंडर लेने वाले व्यक्ति को जागरूक व उसके काम से जुड़ी जानकारी देगा, जिससे व्यक्ति अपने भविष्य को सही दिशा में ले जाकर खुद की पहचान बना सकता है।

पैंट्री कार से जुड़ी जानकारी हिंदी में देने में हमने कोशिश की, जिससे लोगो को पैंट्री कार व उसके टेंडर से जुड़ी जानकारियां मिल सके।

ज्यादा जानकारी के लिए रेलवे वेबसाइट पर जाकर ली जा सकती हैं।

Thanks

अन्य पढ़े :

रेलवे स्टेशन पर दुकान कैसे खोले

रेलवे में नौकरी पाने के लिए क्या करें

ट्रैवल एजेंसी का बिजनेस कैसे शुरू करे

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: