रेलवे में नौकरी पाने के लिए क्या करें? Eligibility, Selection Process and Salary

 रेलवे में नौकरी पाने के लिए क्या करें?  Jobs in Railways Eligibility, Selection Process and Salary

रेलवे का नेटवर्क लगभग सभी राज्यों को एक दूसरे से जोड़ने का एक सबसे अच्छा माध्यम है। यही कारण है कि रेलवे की नौकरियां भारत में सबसे अधिक मांग वाली नौकरियों में से एक हैं। जहां तक रोजगार पर विचार किया जाये, भारतीय रेलवे हमेशा भारतीय सरकार के साथ-साथ भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ रही है। रेलवे से भारत की सरकार को अच्छी कमाई होती है। भारत में जनसँख्या अधिक होने की वजह से यहाँ लोग दूर जाने के लिए रेल का ही उपयोग करते है। भारत का रेलवे नेटवर्क world का सबसे बड़ा नेटवर्क है।

Table of Contents

रेलवे में नौकरी पाने के लिए क्या करना पड़ेगा?

रेलवे में जॉब पाने के लिए आपको पद के अनुसार फॉर्म भरना होगा तथा पद के अनुसार योग्यताएं भी अलग-अलग होती है। रेलवे में नौकरी पाने के लिए हमने आपको निम्नलिखित चरणों में समझाया है।

आवेदन

जब रेलवे द्वारा पद रिक्त भरने के लिए नोटिफिकेशन जारी करे। उसके बाद रेलवे द्वारा एक बार फिर से अधिसूचना जारी की जाएगी, जिसमें निश्चित समय दिया जाएगा। जिसमें आपको सबसे पहले आपको रेलवे की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। लेकिन पद के अनुसार योग्यताएं भी अलग-अलग होते हैं।

रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा परीक्षा कराने के संदर्भ में प्रवेश पत्र जारी करना

जिन अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन कर दिया है उनके लिए रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा परीक्षा के संदर्भ में एक प्रवेश पत्र जारी करेगा। उस प्रवेश पत्र का प्रिंट आउट निकलवाना होगा जिसके लिए आपको आवेदन किए गए रजिस्ट्रेशन नंबर तथा जन्म तिथि डालनी होगी। जब आप यह सब जानकारी भर देंगे उसके बाद आप का प्रिंट आउट निकल आएगा।

अब आप उस प्रवेश पत्र में दिखाए गए परीक्षा केंद्र पर तथा दिखाई गई तारीख पर जाना होगा, और ध्यान रहे कि आपको अपना प्रवेश पत्र साथ लेकर जाना है।

परीक्षा का रिजल्ट

रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा परीक्षा का समापन कराने के बाद आपको कुछ दिनों या महीनों बाद उस परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा। यह परीक्षा परिणाम मेरिट के आधार पर घोषित किया जाता है। जिनका नाम उस मेरिट लिस्ट में होता है वह आगे की प्रक्रिया के लिए अग्रसर किए जाते हैं।

Note- ध्यान रहे कि आगे की प्रक्रिया रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा उसके पद के अनुसार कराई जाएगी, जो कि रेलवे भर्ती बोर्ड पहले ही नोटिफिकेशन में जारी कर देता है।

रेलवे की जॉब के लिए कौन सी पढ़ाई करनी चाहिए?

यदि आप रेलवे में अच्छी पोस्ट पर नौकरी चाहते हैं तो आपको हाई स्कूल तथा इंटर साइंस साइड से करना पड़ेगा क्योंकि साइंस साइड से हाई स्कूल तथा इंटर करने वाले विद्यार्थियों के लिए भारतीय रेलवे द्वारा विभिन्न पद निकाले जाते हैं जैसे कि टिकट कलेक्टर, टेक्निकल मास्टर, स्टेशन मास्टर हो गया ऐसे पदों के लिए आवेदन केवल साइंस साइड वाले विद्यार्थी ही कर सकते हैं।

High school

आपने दसवीं भी पास कर ली तो आप के पास रेलवे में नौकरी करने का सुनहरा मौका है क्योंकि आपको दसवीं पास करने के बाद ग्रुप D तथा ग्रुप C जैसी नौकरियां करने का मौका मिलता है। ग्रुप डी की नौकरी में रेलवे पटरी को सही करना, रेलवे पटरी को बनाना व रेलवे फाटक को बंद करना तथा खोलना इत्यादि काम करने होते हैं।

लेकिन यदि आप art, commerce या किसी अन्य side से आपने 10वीं तथा 12वीं पास की है, तो आप अच्छे स्तर की नौकरी में आवेदन नहीं कर सकते हैं, क्योंकि अच्छे स्तर की नौकरी के लिए अच्छी योग्यता होना आवश्यक है। हमने नीचे पढ़ाई के अनुसार रेलवे में नौकरियों का विश्लेषण किया है, जिस के अकॉर्डिंग आप पढ़ाई करके रेलवे में जॉब पा सकते हैं।

Intermediate

यदि आप रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी करना चाहते हैं, तो आपको 50% अंकों के साथ कम से कम 12वीं पास करना होगा। टिकट कलेक्टर की औसतन वेतन ₹35000 प्रतिमाह होता है, जैसे ही आपका अनुभव बढ़ता है वैसे रेलवे आप के वेतन में बढ़ोतरी करेगा। 12वीं पास करने के बाद आपके पास रेलवे में इसके अतिरिक्त अन्य नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Graduation

यदि आप 12वीं के बाद किसी भी भारत के मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी का कॉलेज से डिग्री हासिल करेंगे तो आप स्टेशन मास्टर की नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं लेकिन स्टेशन मास्टर बनने के लिए आपको कंप्यूटर का बेसिक नॉलेज होना चाहिए। स्टेशन मास्टर के अंडर में स्टेशन के सभी कर्मचारी काम करते हैं, और स्टेशन मास्टर की सैलरी लगभग ₹35000 प्रति महीने होती है। लेकिन जैसे ही आप अपने पल पर रहते हुए आपको इस अनुभव होता है आपकी सैलरी रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा बढ़ाई जाती है।

ITI

आईटीआई की योग्यता होने से आप assistant loco pilot नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं परंतु उसके साथ बैचलर डिग्री होना आवश्यक है। लोको पायलट का काम ट्रेन ड्राइवर की सहायता करना होता है। आईटीआई के अतिरिक्त आप ने Btec किया हुआ है या कोई अन्य इंजीनियरिंग डिग्री हासिल की हुई है तब भी आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। लोको पायलट का वेतन औसतन कम से कम ₹35000 प्रतिमा होता है इसके अलावा जैसे-जैसे आप का एक्सपीरियंस बढ़ता है वैसे ही आपकी सैलरी भी रेलवे बढ़ाता रहता है।

रेलवे में नौकरियों के लाभ अनेक लाभ भी है, जैसे –

1) सुरक्षित नौकरी और इसलिए एक स्थिर कैरियर।

2) रेलवे अपने कर्मचारियों को आवासीय क्वार्टर देता है। ज्यादातर कर्मचारी इन आवासीय क्वार्टरों में रेलवे कॉलोनियों में ही रहते हैं।

3) कर्मचारी पूरे देश में किसी भी रेलवे कैंटीन में काफी सस्ते में भोजन और जलपान की सुविधा का लाभ उठाने के हकदार हैं।

4) कर्मचारियों के बच्चों के लिए रेलवे का अपना स्कूल और कॉलेज हैं। बच्चों को पूरे परिवार के लिए मुफ्त यात्रा के लिए पास मिलता है।

5) रेलवे कर्मचारियों को रेलवे अस्पतालों में मुफ्त चिकित्सा सुविधा मिलती है।

6) मनोरंजन की सुविधाएँ और खेल प्रतियोगिताएं होती हैं।

7) भारतीय रेलवे में प्रवेश पाने के लिए एथलीट स्पोर्ट्स कोटा का उपयोग कर सकते हैं, अन्यथा निजी फर्मों में उपलब्ध नहीं हैं।

8) रेलवे कर्मचारियों के लिए वेतन बहुत अच्छी है। Rs. 80,000 – 90,000 हर महीने Class 1 के लिए / Group A officers, Rs. 50,000 for Group B officers, Rs. 20,000+ for ग्रुप C employees, and Rs. 10,000 – 18,000 for ग्रुप D स्टाफ

9) इसी के साथ-साथ एचआरए, चिकित्सा, परिवहन, आदि जैसे अन्य भत्ते के फायदे भी मिलते है।

रेलवे की नौकरी में फायदे तो बहुत है पर कुछ कोम्प्रोमाईज़ भी करने पड़ते है जैसे –

करियर ग्रोथ सीधे मेरिट से संबंधित नहीं है क्योंकि यह सरकारी क्षेत्र में है। प्रचार आमतौर पर seniority पर निर्भर करता है।
यह एक स्थानान्तरण वाली नौकरी होने की वजह से, बार बार ट्रांफर होता है जिससे बच्चो की पढ़ाई में परेशानी आती है और सेटलमेंट नहीं हो पता है।

इसमें कार्य बहुत धीरे होता है। साधारण से कार्य को पूरा करवाने में महीनों लग सकते हैं।

रेलवे की नौकरियों की दिनचर्या फिक्स नहीं होती है। “वर्क शिफ्ट्स” फिक्स नहीं होता है कभी रात में काम करना पड़ता है कभी दिन में। और आप मना भी नहीं कर सकते है।

हमेशा सार्वजनिक क्षेत्र की नौकरियों के साथ – यह नौकरी पाने के लिए बेहद प्रतिस्पर्धी है।

भारतीय रेलवे देश की एक बहुत अधिक रोजगार देने वाले क्षेत्र में से एक है। रेलवे के एक कर्मचारी के रूप में, आपको कई लाभ मिलते है। जैसे कि आपको अपने कौशल को बढ़ाने के लिए मुफ्त प्रशिक्षण मिलेगा। ट्रेन के माध्यम से यात्रा आपके और आपके परिवार के लिए मुफ्त होगी। यदि आप एक खेल पसंद करने वाले व्यक्ति हैं तो आप भारतीय रेलवे द्वारा आयोजित खेलों में भी भाग ले सकते हैं।

12 वीं के बाद रेलवे जॉब्स:

+2 पूरा करने के बाद आप रेलवे का एंट्रेंस एग्जाम दे सकते है (आरआरबी परीक्षा), जो रेलवे भर्ती बोर्ड के लिए है। बिना कॉलेज डिग्री वाले लोगों के लिए, भारतीय रेलवे के भीतर निम्नलिखित नौकरी के पद उपलब्ध हैं:

Ticket Checker or Ticket Examiner (aka Ticket Collector)
Railway Constable
RRB Loco Pilot
Goods Guard
Railway Information Department
Railway Driver
Railway क्लर्क

B.Tech या BE के बाद रेलवे जॉब्स:

फाइनल ईयर बीटेक (या बीई स्टूडेंट्स) के लिए रेलवे नौकरियों के विकल्प समय के साथ बढ़े हैं। केंद्र सरकार के विभाग और संस्थान और कई राज्य सरकारों के विभाग तकनीकी विभागों में उम्मीदवारों को नियुक्त करते हैं, जिनके लिए बीटेक अंतिम वर्ष के छात्र आवेदन कर सकते हैं। रेलवे के तकनीकी विभागों में आवेदन के लिए ज्यादातर vacancies में बीई या बीटेक में न्यूनतम 55% मार्क्स होते चाहिए।

B.Tech क्लियर करने के बाद, आप निम्नलिखित परीक्षाओं के लिए eligible हो सकते हैं:

RRB ALP
RRB JE SSE
RRB NTPC
RRC Group D Exam
Indian Services Examination (IES), conducted by UPSC
Staff Selection Commission (SSC)

आरआरबी के लिए आयु सीमा:

आरआरबी में परीक्षाओं के लिए औसत आयु सीमा न्यूनतम 18 और अधिकतम 32-33 वर्ष है।

भारत में रेलवे नौकरियों के लिए eligibility criteria:

भारतीय रेल सेवाओं को दो भागों में बांटा गया है – तकनीकी (तकनीशियन) और गैर-तकनीकी। फिर उन्हें चार भागो में बांटा गया है- A, B, C और D।

इन समूहों में समूह A और समूह B official cadre पद हैं। चिकित्सा कर्मचारी, इंजीनियरिंग कर्मचारी और अधिकारी समूह A मे और समूह बB के अंदर आते हैं। समूह A के लिए परीक्षा संघ सेवा लोक आयोग द्वारा आयोजित की जाती है। स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिसशिप परीक्षा (SCRA) है जो एचएससी के ठीक बाद रेलवे सेवाओं में शामिल होने के इच्छुक युवाओं के लिए अलग से आयोजित की जाती है।

ग्रुप C में supervisors, क्लर्क, और कुशल श्रम जैसे subordinate staff positions पर है।। ग्रुप D में अकुशल मजदूर शामिल हैं। ग्रुप C और ग्रुप D के लिए परीक्षा रेलवे भर्ती नियंत्रण बोर्ड द्वारा आयोजित की जाती है।

रेलवे में कौन कौन सी पोस्ट होती है?

भारतीय रेलवे में विभिन्न पोस्ट होती है रेलवे में पोस्टों की अलग-अलग कुल 4 group कैटेगरी निर्धारित की गई है जैसे कि group A, group B, group D, तथा Group C के पदों में विभाजित किया गया। हमें नीचे प्रत्येक ग्रुप कैटेगरी के पदों को विस्तृत रूप से बताया है।

Group A

इस ग्रुप कैटेगरी में उच्चतम पद शामिल किए गए हैं जिनमें अधिकतर भर्तियां यूपीएससी के माध्यम से कराए जाते हैं तथा बचे हुए पद आईटीआई, इंजीनियरिंग तथा मेडिकल क्षेत्र से आवेदन लिए जाते हैं।अभ्यार्थी से मांगी गई योग्यता के अनुसार इन group A के पदों पर आवेदन कर सकते है।

रेलवे में UPSC के पद

  • Indian Railway Protection Force
  • Indian Railway accounts service
  • Indian Railway traffic service
  • Indian Railway personnel service

technical पद

  • Railway service of signal engineer
  • Indian railway service of Electrical engineer
  • Indian railway service of Engineers
  • Indian Railway Store service
  • Indian railway service of mechanical engineer

Group B 

अभ्यार्थियों को ध्यान रहे कि ग्रुप C के पदों से होने वाले प्रमोशन ग्रुप B पद के अधिकारी बनते हैं। ग्रुप B के सभी पद अधिकारी श्रेणी के पद होते हैं। इसके अतिरिक्त कुछ पदों का चयन यूपीएससी के माध्यम से किया जाता है तथा इसके अलावा जितने भी पद होते हैं, वह सब प्रमोशन के द्वारा आते हैं।

Group C

ग्रुप C के सभी रिक्तियां रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा पूरी की जाती है, इन सभी पदों का काम रेलवे के उपकरणों का उत्पादन करना होता है। यदि आप इन पदों पर आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास टेक्निकल या इंजीनियरिंग डिग्री होना आवश्यक है, इन पदों का एग्जाम तकनीकी और गैर तकनीकी कैडर के माध्यम से करवाई जाती हैं।

Group D

ग्रुप डी के पद की व्यक्तियों को पूरा करने के लिए अलग-अलग क्षेत्रीय रेलवे हेड क्वार्टर के द्वारा की जाती है। ग्रुप डी के अंतर्गत कुछ निम्नलिखित पधारे हैं जैसे कि खालसी, ट्रालीमैन, ट्रैक मैन, गेटमैन, हेल्पर, सहायक पॉइंट, मैन पोर्टर।

Note- रेलवे में सबसे बड़ा पद रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष का होता है, जो रेलवे का प्रमुख प्रशासनिक अधिकारी होता है।

ग्रुप A, ग्रुप B, ग्रुप C और ग्रुप D रेलवे जॉब्स के लिए eligibility criteria:

ग्रुप A: ग्रुप ए के पदों के लिए आवेदन करने के लिए इंजीनियरिंग (मास्टर ऑफ साइंस), मेडिकल (एमबीबीएस) या किसी अन्य संबंधित स्ट्रीम में स्नातक की डिग्री होनी जरुरी है। SCRA के लिए, eligibility PCM या हस्क एक ही है।

आयु सीमा: 32 वर्ष (ओबीसी / एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए छूट)

ग्रुप बी: ग्रुप बी के लिए कोई अप्लाई नहीं कर सकता है क्युकी इसमें सिर्फ ग्रुप C के ही लोगो का प्रमोशन हो सकता है। ग्रुप B के लिए कोई परीक्षा नहीं है। एक समय के बाद कर्मचारी समूह C जो की रेलवे की सेवा कर रहा है तो उसे समूह B में प्रमोशन दिया जाता है।

ग्रुप सी: ग्रुप C के लिए, eligibility 10 वीं या एएलपी या तकनीशियन के लिए, 10 + २, टिकट कलेक्टर और gradates के लिए या सामान गार्ड या सहायक स्टेशन मास्टर के लिए समकक्ष है। आयु की पात्रता व्यक्ति की सामाजिक स्थिति के आधार पर 30-33 वर्ष से भिन्न होती है।

ग्रुप डी: ग्रुप डी के लिए, कर्मचारियों में पोर्टर्स, गेटमैन, ट्रैकमैन आदि शामिल हैं। ग्रुप डी रेलवे की नौकरी की रिक्तियों को आरआरबी और सभी मुख्य राष्ट्रीय समाचार पत्रों की वेबसाइट पर विज्ञापन द्वारा किया जाता है।

रेलवे गैर तकनीकी परीक्षा eligibility criteria इस प्रकार है:

ट्रैफिक Apprentice/Commercial Apprentice
Graduation
18-30 साल

Assistant स्टेशन मास्टर/Trainee Guard/Goods Guard
Graduation
18-30 साल

Enquiry-cum-Reservation Clerk
Graduation (टाइपिंग स्पीड 30wps)
18-30 yrs

Office Clerk/एकाउंट्स क्लर्क
10th with न्यूनतम 50% marks. (टाइपिंग 30 wpm इंग्लिश के लिए और 25 wpm हिंदी के लिए )
18-30 yrs

Junior एकाउंट्स असिस्टेंट
Graduation. (टाइपिंग 30 wpm इंग्लिश)
18-30 yrs

Clerk-cum-Typist
Graduation. (टाइपिंग स्पीड 40 wpm इंग्लिश के लिए )
18-30 yrs

Stenographer(इंग्लिश /हिंदी )
10th और समकक्ष (80 wpm इंग्लिश/हिंदी Stenography and 40 wpm in English/20 wpm in Hindi Typewriting speed)
18-33 yrs

Typist (English/Hindi)
10th (with Typewriting speed of 40 wpm in इंग्लिश/25 wpm in हिंदी)
18-30 yrs

ट्रैन क्लर्क/Statistical क्लर्क/Goods क्लर्क/Coaching क्लर्क/Ticket Collector/Commercial क्लर्क
10th (with 50% marks)
18-30 यरस

Course:

Maths Syllabus – Simplification, प्रतिशत, ब्याज, अनुपात और अनुपात, औसत, गति दूरी और समय, बीजगणित, लाभ और हानि, mensuration, number series, समय और काम, और मिश्रण की समस्याएं।

General intelligence and reasoning syllabus – classification, श्रृंखला, रक्त संबंध, सादृश्य, कोडिंग-डिकोडिंग, ऑर्डर और रैंकिंग, घड़ी और कैलेंडर, वेन आरेख, लापता संख्याएं, पहेलियाँ और गैर-मौखिक तर्क।

General awareness syllabus – natural resources, current affairs, natural resources, disease reasons and cures and miscellaneous.

रेलवे में नौकरी के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

रेलवे में नौकरी करने के लिए आपको सबसे पहले आवेदन करना होगा आवेदन करने के लिए आपके पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए।

  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • किसी भी बोर्ड से दसवीं तथा 12वीं 50% अंकों के साथ पास होना जरूरी। इसके अतिरिक्त आपने भारत के किसी मान्यता प्राप्त इंस्टिट्यूट से आईटीआई या अन्य इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की हो।
  • पद के अनुसार रेलवे भर्ती बोर्ड स्नातक योग्यता मांगता है, जो कि भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री की हो।
  • आपकी आयु सीमा कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए तथा अधिकतम पद के अनुसार रेलवे भर्ती बोर्ड तय करता है, जोकि अलग-अलग पदों के लिए अलग-अलग अधिकतम आयु सीमा हो सकती है। इसके अतिरिक्त भारतीय संविधान के अनुसार एससी, एसटी तथा ओबीसी को आयु सीमा में छूट देने का प्रावधान है।
  • रेलवे में पद के अनुसार कंप्यूटर का डिप्लोमा होना भी जरूरी है, इसीलिए आप या रेलवे की तैयारी कर रहे हैं तो आपको कंप्यूटर का डिप्लोमा जरूर करना चाहिए।

अन्य पढ़े :

रेलवे स्टेशन पर दुकान कैसे खोले

रेलवे में पैंट्री कार टेंडर कैसे ले

सरकारी नौकरी पाने के लिए क्या करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *