पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस कैसे शुरू करें? Packers and Movers Business Information in Hindi

Packers And Movers Business in Hindi : पहले के समय में लोगों की जन्म और कर्म भूमि दोनों एक ही होती थी पर अब ऐसा नही है आज कल के इस महंगाई के दौर में इंसान को चार पैसे ज्यादा कमाने के लिए एक शहर से दूसरे शहर या राज्य जाना पड़ता है।

इसके अलावा एक ही शहर में रहकर भी रोजी रोटी के चक्कर मे जगहें बदलनी पड़ती है। ऐसे में बार बार जगह बदलने से घर की चीज़ों को भी यहां से वहां ले जाना पड़ता है जिसमें बहुत सारी दिक्कतें आती है। 

शिफ्टिंग का काम बहुत ही मुश्किल होता है इसलिए शहरी क्षेत्रों में शिफ्टिंग का काम पैकर्स एंड मूवर्स (packers and movers) कंपनियों द्वारा कराया जाता है। आजकल यह बिजनेस काफी डिमांड में चल रहा है।

अगर आप भी इस बिजनेस को करना चाहते हैं तो देर किस बात की है। आज हम आपको पैकर्स एवं मूवर्स बिजनेस कैसे शुरू करें? से जुड़ी सारी जानकारियाँ विस्तार रूप में बताने वाले है।

Table of Contents

पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस क्या है (What is Packers and Movers Business)

आजकल के भागदौड़ के जीवन में लोग जब किसी कारण से दूसरी जगह शिफ्ट होते है तो उन्हें घर के सामानों जैसे बेड, सोफा, फर्नीचर या घर की अन्य चीजों को भी शिफ्ट करना पड़ता है जिसमे लोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है

अतः इस कार्य के लिए कई लोग पैकर्स एंड मूवर्स कंपनियों से संपर्क करते है जो एक तय राशि लेकर आपके घर के सामानों को बड़ी ही सावधानी से पैकिंग से लेकर दूसरी जगह पहुँचाने तक का काम करती है।

इन्हें ही पैकर्स एंड मूवर्स कहा जाता है। सिर्फ होम शिफ्टिंग ही नहीं बल्कि ऑफिस या कई जगहों पर सरकारी दफ्तरों को भी शिफ्ट करने के लिए Packers and Movers का इस्तेमाल किया जाता है।  

भारत में पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस का स्कोप

लोगों द्वारा जल्दी-जल्दी फ्लैट या शहर बदलने की मांग को ध्यान में रखते हुए भारत में पैकर्स एंड मूवर्स सेवाओं की मांग काफी बढ़ गई है। चूंकि यह एक सर्विस आधारित बिजनेस है तो इसमें बहुत ज्यादा इंवेस्टमेंट करने की जरूरत नहीं है।

यदि आप अपने कस्टमर्स की देखभाल सही तरह से कर सकते हैं तो भारत में पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस में बढ़िया लाभ कमाया जा सकता है। बिजनेस अच्छा है, मौका बड़ा है और इसमें तकनीकी कुशलता की जरूरत नहीं है। बिजनेस में मार्जिन भी बढ़िया है।

पैकर्स एंड मूवर्स अपने देश में लॉजिस्टिक और ट्रांसपोर्टेशन इंडस्ट्री का हिस्सा है। इसका काम मूलत: घर के सामानों और ऑफिस की चीजों को पैक करके दूसरे शहर या दूसरी जगह पहुंचाने का है।

कई बार दूसरे देश में भी सामान पहुंचाने का काम मिलता है, लेकिन इसके लिए आपकी पहुंच दूसरे देशों के Packers and Movers तक भी होनी चाहिए। कभी- कभार पैकर्स एंड मूवर्स का काम कंपनियों और कॉरपोरेट्स के लिए कमर्शियल और इंडस्ट्रियल गुड्स शिफ्ट करने का भी होता है।

कौन कर सकता है पैकर्स एंड मूवर्स का बिजनेस

सर्विस आधारित इंडस्ट्री होने की वजह से पैकर्स एंड मूवर्स का बिजनेस शुरू करने में किसी तरह की बाधा नहीं है। इस इंडस्ट्री में मार्केटिंग और साउंड नेटवर्क का अनुभव जिसके पास भी हो, वह पैकर्स एंड मूवर्स के बिजनेस की शुरुआत कर सकता है।

इसकी शुरुआत में कम इंवेस्टमेंट की जरूरत पड़ती है, कंज्यूमर द्वारा यह डिमांड में है और रिटर्न भी बहुत अच्छा है।

लेकिन यह जरूर है कि इस क्षेत्र में कंपीटीशन बहुत ज्यादा है क्योंकि इस बिजनेस की शुरुआत करना आसान है। एक रिसर्च के अनुसार, पैकर्स एंड मूवर्स से जुड़े पूछताछ में लगभग 45 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई है। इसी से पता चलता है कि भारत में पैकर्स एंड मूवर्स की कितना ज्यादा मांग है।

तो अगर आप यह बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि, आपको इस बिजनेस में कंपटीशन देखने को मिलेगा ही। यह आपके तरीके पर निर्भर करता है कि, आप कैसे बाकी लोगों से आगे निकलते हैं।

यह भी पढ़े : ड्रॉपशिपिंग का व्यापार कैसे शुरू करें?

Packers and Movers Business Information in Hindi
Packers and Movers Business Kaise Kare

पैकर्स एवं मूवर्स बिजनेस कैसे शुरू करें? How to Start Packers and Movers Business in India

अगर आप भी पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस को स्टार्ट करना चाह रहे हैं, तो इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको कुछ जरूरी चीजों की जरूरत होगी। जैसे कि ऑफिस और उसके लिए एक जगह, बिजनेस के लिए कुछ जरूरी सामान, कर्मचारी, आदि। कई चीजों की जिसके बारे में आपको नीचे डिटेल में बताया गया है-

1. ऑफिस के लिए जगह

Packers and Movers बिजनेस शुरू करने के लिए आपको सही जगह पर अपनी ऑफिस बनानी होगी। जहां लोगों को ज्यादा इसकी आवश्यकता होती है जैसे रेसिडेंशियल एरिया, होस्टल या पीजी एरिया। इन जगहों पर लोगों को ज्यादातर स्थान बदलने की आवश्यकता पड़ती है इसलिए यहाँ इसकी डिमांड भी ज्यादा रहती है।

2. पैकिंग एंड मूविंग के लिए जरूरी सामान 

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको कई चीजों की जरूरत पड़ती है जैसे पैकिंग के लिए कार्टून , टेप, रस्सी , प्लास्टिक आदि। यह सब बिल्कुल बेसिक समान होते हैं, इस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए।

क्योंकि इन सभी सामानों की मदद से ही, आप अपने कस्टमर्स के सामानों को सुरक्षित तरीके से ट्रांसपोर्ट कर पाएंगे। इन सब चीजों को आप लोकल दुकानों से या थोक विक्रेता से भी ले सकते हैं।

3. कर्मचारियों की नियुक्ति

पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस में आपको पैकिंग, लोडिंग और मूविंग के लिए कर्मचारियों की जरूरत पड़ती है। शुरुआत में आप इस बिजनेस को कम लोगों के साथ भी शुरू कर सकते हैं, और बाद में बढ़ते डिमांड के साथ लोगों की संख्या बढ़ा सकते हैं।

इसके लिए आपको कम से कम 4 से 5 लोगों को आवश्यकता जरूर पड़ती है। और अगर आप इस काम को थोड़े बड़े स्तर पर करना चाहते हैं, तो समय के साथ आपको ज्यादा कर्मचारियों की भी जरूरत पड़ सकती है।

4. चीजों को पहुंचाने के लिए ट्रांसपोर्ट

ट्रांसपोर्ट का साधन, यह तो आपके बिजनेस की जान होती है। यही सबसे महत्वपूर्ण चीज होता है आपके बिजनेस के लिए। क्योंकि इसी की मदद से ही आप सामानों को एक जगह से दूसरी जगह तक ले जा सकते हैं।

इसके लिए आप खुद की गाड़ी भी ले सकते हैं पर अगर शुरुआत में आपका बजट कम है तो आप भाड़े की गाड़ी का भी इस्तेमाल कर सकते है। जिसके मदद से आप चीजों को तय स्थान तक पहुचाएंगे। जैसे-जैसे आपको लाभ हो, आप खुद की एक गाड़ी ले सकते हैं, जिससे कि आपको और ज्यादा लाभ होगा।

5. काम के प्रति जिम्मेदारी 

Packers and Movers बिजनेस शुरू करना तो बहुत ही आसान होता है, परंतु मुश्किल होता है उसे जिम्मेदारी से चलाना। ताकि आपके कस्टमर को किसी तरह की कोई शिकायत न हो। क्योंकि आपके बिजनेस का सारा का सार मेन काम कर्मचारियों के द्वारा होता है

जैसे कि लोगों के घर से सामान को उठाना, उसे ट्रक में लोड करना, एवं उसे सुरक्षित संबंधित जगह पर उतार कर रखना, यह सभी काम आप खुद तो करेंगे नहीं, आपको इसके लिए कर्मचारी की जरूरत होगी। कहा जाता है कि किसी भी कामयाब बिजनेस के पीछे उनके कर्मचारियों का बहुत बड़ा हाथ होता है।

अतः आपको यह ध्यान रखना होगा कि, आपके कर्मचारी जिम्मेदारी के साथ यह काम करें। चूंकि हर इंसान की अपने घर के चीजों के साथ कई यादें जुड़ी हुई होती है इसलिए यह जरूरी होता है कि आप इस काम को पूरी जिम्मेदारी से करें और चीजों को कोई नुकसान न हो जिससे आपके ग्राहक खुश रहें।

6. ऑफिस की सजावट

किसी भी बिजनेस के लिए उसकी जगह ही उसकी पहचान होती है। इसलिए अपने ऑफिस को हमेशा व्यवस्थित रखें, जिससे आपके ग्राहकों का विश्वास आप जीत सकें, कि उनकी चीजें सही हाथों में जा रही है। आपको काम तभी मिलेगा जब लोगों को आपकी कंपनी पर भरोसा होगा।

इस विश्वास को और भी ज्यादा बढ़ाने के लिए अपने बिजनेस लाइसेंस को फ्रेम करवाकर दूकान पर ही रखें। आपको अपने ऑफिस की सजावट में अलग से खर्चा करने की जरूरत नहीं है, आप अपने ऑफिस को व्यवस्थित कर के ही अपने कस्टमर पर अच्छा इंप्रेशन डाल सकते हैं।

यह भी पढ़े : विज्ञापन एजेंसी बिजनेस कैसे शुरू करें?

Packers and movers बिजनेस के लिए जरूरी लाइसेंस

किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको उस कार्य क्षेत्र से जुड़ी लाइसेंस लेने की आवश्यकता पड़ती है, ठीक उसी तरह Packers and Movers बिजनेस को शुरू करने के लिए भी आपको कुछ जरूरी लाइसेंस लेने की आवश्यकता पड़ेगी।

तो इस बिजनेस करने के लिए आपको जिन जिन लाइसेंस एवं जरूरी चीजों की जरूरत होगी, उसके बारे में आपको नीचे बताया गया है।

  • अपने बिजनेस को प्रोपराइटर, पार्टनरशिप या कंपनी के रूप में शुरू करने के लिये रेजिस्ट्रेशन करवा लें।
  •  अपने कंपनी के नाम का पैन कार्ड बनवा लें।
  • आपके बिजनेस के नाम से चालू खाता खोलने की आवश्यकता पड़ती है।
  • इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको नगर निगम से संपर्क कर शॉप्स एंड एस्टेब्लिशमेंट लाइसेंस लेने की आवश्यकता होती है।
  • अपने कंपनी के ब्रांड को सुरक्षित रखने के लिए ट्रेडमार्क रेजिस्ट्रेशन करवा लें।
  • आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है।
  • आपको अपने बिजनेस के लिए वेबसाइट और सोशल एकाउंट बनाना पड़ता है। इस वेबसाइट और सोशल मीडिया से आप लोगों को अपनी सर्विसिंग बुक करने के लिए, ऑनलाइन सुविधा भी प्रदान कर सकते हैं। जो कि आज के जमाने के हिसाब से सही रहेगा।

पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस के लिए इन्वेस्टमेंट कितनी लगती है

अगर आप इस बिजनेस को करना चाहते है तो सबसे पहले आपको इन्वेस्टमेंट के बारे में जान लेना चाहिए। इस बिजनेस को सुचारू रूप से चलाने के लिए सबसे पहले आपको किन किन चीजों पर इन्वेस्ट करना पड़ेगा।

सबसे पहले तो आपको एक ऑफिस बनाना होगा जहां से लोग आपसे इस काम के लिए संपर्क कर सकें। ऑफिस के लिए आपको कुछ जरूरी चीजें जैसे एक लैंडलाइन फोन, फर्नीचर एवं फिक्सचर, पैकिंग के लिए आवश्यक सामग्री , बीमा आदि लेनी होंगी।

इसके अलावा आपको ट्रांसपोर्ट के लिए भी इन्वेस्टमेंट करना पड़ता है। शुरुआत में आप भाड़े में गाड़ी लेकर काम चला सकते है। परंतु अगर आप स्वयं की गाड़ी लेकर इस बिजनेस को स्टार्ट करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको इस बिजनेस में ज्यादा इन्वेस्टमेंट करना होगा।

अगर आप गाड़ी पर इन्वेस्ट करते हैं तो, आपको कम से कम 10 से 12 लाख रुपए अपने गाड़ी में लगाने ही होंगे, लेकिन अगर आपके पास इतने पैसे नहीं है, तो आप रेंट पर भी साधन लेकर अपना काम शुरू कर सकते हैं, और बाद में जब आपके पास पैसे हो, आप खुद की गाड़ी लेने के बारे में सोच सकते हैं।

अगर आप सभी चीजें रेंट पर लेकर अपना बिजनेस स्टार्ट करते हैं, तो आप एक लाख से कम खर्चे में ही अपना बिजनेस आसानी से स्टार्ट कर सकते हैं।

पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस से कितना मुनाफा होता है?

अगर मुनाफे की बात करें तो शहरी क्षेत्रों में पैकर्स एंड मूवर्स की बहुत ही ज्यादा डिमांड रहती है। यह काफी चलने वाला बिजनेस माना जाता है। अगर आप एक कस्टमर को 10 हजार भी चार्ज करते है, तो बीमा, पैकिंग, ट्रांसपोर्ट और कर्मचारियों का खर्चा निकाल लेने के बाद भी आप 3 हजार तक आसानी से बचा सकते है।

और यह आपके एरिया पर भी डिपेंड करता है कि, आप हफ्ते, महीने में कितना काम कर रहे हैं। तो ऐसे में अगर आपको हफ्ते में 3 आर्डर भी मिल जाते है तो आप महीने के 25 से 30 हजार रुपय तक बड़ी आसानी के साथ कमा सकते हैं।

यह एक ऐसा बिजनेस है जिसकी डिमांड आने वाले समय मे और भी ज्यादा बढ़ने वाली है। अतः Packers and Movers बिजनेस सदा ही फायदे का बिजनेस रहेगा।

कंपनी की बीमा क्यों जरूरी है

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको बीमा करवाने की अत्यंत आवश्यकता होती है ताकि यदि कोई नुकसान हो भी तो वो बीमा कवर में आ जाए। इसके लिए आप किसी अच्छी कंपनी से बीमा अवश्य करवाएं। हर कंपनी के अलग अलग तरह के बीमा कवर के प्लान होते है अतः आप सारी कंपनियों की तुलना कर किसी अच्छी कंपनी से बीमा अवश्य करवा लें।

पैकर्स एंड मूवर्स का बिजनेस के लिए मार्केटिंग है जरूरी

चाहे कोई भी बिजनेस करो मगर आप उस बिजनेस की मार्केटिंग करते हो, तो आप उस बिजनेस से कम समय में ही ज्यादा पैसे कमा सकते हो, तो पैकर्स एंड मूवर्स का बिजनेस के लिए मार्केटिंग जरूरी है। नये नये बिजनेस को बढ़ाने के लिए मार्केटिंग की आवश्यकता होती है।

आप कई तरीकों से अपने बिजनेस की मार्केटिंग कर सकते हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग आपके बिजनेस के बारे में जानें। नीचे बताए गये इन तरीकों से आप अपने बिजनेस की मार्केटिंग कम समय में ही कर सकते हो और अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं।

1. पैम्पलेट छपवाना

अपने बिजनेस के मार्केटिंग के लिए आप पम्पलेट छपवा कर दीवारों पर लगवा सकते है, या लोगों में बाँट सकते है। अपने बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए सबसे सस्ता तरीका है।

जैसे कई रेसिडेंशियल इलाको में या फिर होस्टल और पीजी में भी लोगों को शिफ्टिंग के लिए पैकर्स एंड मूवर्स की जरूरत पड़ती है, ऐसी जगहों पर पैम्पलेट लगवाने से लोग आपके कंपनी के बारे में जान पाएंगे, और जरूरतनुसार आपसे संपर्क कर पाएंगे। इसके अलावा आप अखबार में ऐड भी दे सकते हैं।

2. चार्ज कम रखें

इसके लिए आप पहले मार्केट का सर्वे कर लें, कि आपके आस पास जितने भी दूसरे पैकर्स और मूवर्स कंपनियां है, अपने कस्टमर से कितना चार्ज करती हैं, और आप उस हिसाब से शुरुआत में थोड़ा कम चार्ज रखें।

जिससे कि ग्राहक आपकी तरफ आकर्षित होंगे, और अगर आप उनको अपने काम से संतुष्ट कर देते हैं, तो बिना कुछ किए ही आपके बिजनेस की मार्केटिंग हो जाएगी।

3. ज्यादा सुविधाएं

कई पैकर्स एंड मूवर्स कंपनियां सिर्फ लोडिंग और मूविंग की ही सुविधाएं देती है ऐसे में अगर आप ग्राहकों को पैकिंग , लोडिंग और मूविंग की सुविधाएं देंगे तो आपका बिजनेस ज्यादा चलेगा। इसके अलावा अगर आप इस बिजनेस को बड़े पैमाने पर करना चाहते हैं तो एक शहर से दूसरे शहर शिफ्टिंग के लिए भी पैकर्स और मूवर्स की सुविधा दे सकते हैं। 

4. सोशल मीडिया का इस्तेमाल

पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस के लिए अपनी वेबसाइट और सोशल एकाउंट बनवाना जरूरी रहता है। अतः आप सोशल मीडिया पर अपनी कंपनी की डिटेल्स अच्छे तरीके से डालें। और इसके अलावा अन्य सोशल मीडिया साइट पर भी अपने कंपनी की डिटेल्स देकर भी मार्केटिंग कर सकते है।

आजकल ऑनलाइन कई बिजनेस वेबसाइट भी आपको मिल जाती है, जहां रेजिस्ट्रेशन करवा कर आप अपने बिजनेस के लिए और अधिक कस्टमर पा सकते है। और वैसे भी आजकल जमाना ऑनलाइन हो चुका है, सारे काम ऑनलाइन होने लग गए हैं। तो आप इसका फायदा उठाकर अपने बिजनेस की मार्केटिंग करके अधिक मुनाफा कमा सकते हैं।

5. ग्राहकों को अच्छी सर्विस देना

आपकी कंपनी लंबे समय तक तभी चलेगी जब आप अपने ग्राहकों को अच्छी सर्विस देंगे, ताकि लोगों को आपकी कंपनी पर भरोसा हो, कि आपके हाथों में उनकी चीजें सुरक्षित है। जैसा कि कहा भी जाता है कि एक संतुष्ट ग्राहक अपने साथ सौ नये ग्राहक भी लाता है।

आपकी कंपनी की सर्विस अगर अच्छी और विश्वसनीय रहेगी तो आपका बिजनेस और भी ज्यादा बढेगा। इसलिए आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि, अगर आप किसी कस्टमर के सामान को एक स्थान से दूसरी जगह पहुंचा रहे हैं, तो किसी भी सामान को नुकसान ना हो। जिससे की सामने वाले ग्राहकों का आपकी कंपनी पर विश्वास बढ़ेगा।

FAQ – Packers and Movers Business in Hindi

Q1. क्या पैकर्स एंड मूवर्स का व्यवसाय लाभदायक है?

Ans. यदि आप अपने कस्टमर्स की घर के सामानों और ऑफिस की चीजों की पैकिंग से लेकर दूसरी जगह पहुँचाने तक का काम सही तरह से कर सकते हैं तो भारत में पैकर्स एंड मूवर्स बिजनेस में बढ़िया लाभ कमाया जा सकता है

Q2. पैकर्स एंड मूवर्स का व्यवसाय शुरू करने में कितनी लागत लगती है?

Ans. अगर आप छोटे स्तर पर पैकर्स एंड मूवर्स का व्यवसाय शुरू करते है यानि सभी चीजें रेंट पर लेकर तो यह व्यवसाय 50 से 60 हजार के निवेश में आसानी से शुरू किया जा सकता है

Q3. हम पैकर्स एंड मूवर्स का व्यवसाय कहा शुरू कर सकते है?

Ans. अगर आप पैकर्स एंड मूवर्स का व्यवसाय किसी बड़े शहर में शुरू करते है जहा लोगों की आबादी ज्यादा हो तो आपको यह व्यवसाय से ज्यादा मुनाफा मिल सकता है

Q4. पैकर्स और मूवर्स का व्यवसाय को शुरू करने में किस चीज की ज्यादा आवश्यकता होती है?

Ans. पैकर्स और मूवर्स का व्यवसाय को शुरू करने के लिए कुछ जरूरी चीजों की जरूरत होगी। जैसे कि ऑफिस लिए एक जगह, बिजनेस के लिए कुछ जरूरी सामान, कर्मचारी, ट्रांसपोर्ट का साधन आदि।

निष्कर्ष :

तो इसी के साथ आज का हमारा यह आर्टिकल जानिए कैसे शुरू करें पैकर्स एंड मूवर्स (Packers and Movers Business in Hindi) समाप्त होता है, उम्मीद है आपको हमारे आज के इस आर्टिकल से आपकी आवश्यकता की सारी जानकारियां मिल गई होगी।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें। ताकि उनको भी यह जानकारी packers and movers ka business kaise kare मिल सके।

अन्य लेख पढ़े :

11 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *