Mustard oil Mill सरसों तेल निकालने का बिजनेस कैसे स्टार्ट करे

सरसों के बीज से तेल निकालने का बिजनेस कैसे स्टार्ट करे – Mustard Oil Mill Business Ideas In Hindi

हमारा देश कृषि प्रधान देश है। देश की 70 से 80% आबादी कृषि पर आश्रित है। हमारे देश के किसान हर प्रकार की खेती करते है। हर प्रकार के तेल मसाला से लेकर अन्न तक। इसी खेती में से एक खेती होती है सरसो की। सरसो के बारे में तो आप जानते ही होंगे ये छोटे छोटे काले, सफेद, या पिले रंग का होते है। इसका इस्तेमाल तेल निकालने के लिए किया जाता है। सरसो का तेल पूरे विश्व में खाना बनाने के लिए किया जाता है।

सरसों के तेल की पूरे विश्व में अधिक मांग है। क्यों के सरसो का तेल स्वास्थ के लिए लाभदायक होता है और ये पूरी तरह नैचरल होता है। सरसों के तेल की मांग को देखते हुए किसान का भी रुझान सरसो की खेती की तरफ़ बढ़ रहा है। और भारत ऑयल सीड उत्पाद करने वाला सबसे बड़ा देश है।

इस लिए इससे जुड़े छेत्र में रोज़गार के ज़्यादा अवसर पैदा हो रहे हैं। इसी में से एक रोज़गार है सरसो के दाने से तेल निकालने का। इसलिए आज हम बात करेंगे की आप भी सरसो का तेल निकालने का मिल बैठा कर कैसे अपना बिज़नेस स्टार्ट कर लाखों कमा सकते है। जहाँ हम लागत से लेकर इस बिज़नेस को स्टार्ट करने से संबंधित पूरी जानकारी देंगे। 

क्या है सरसों तेल मिल-

गाँव में किसानों द्वारा पैदा की जाने वाली सरसों की फसल पेंड से दानों के रूप में प्राप्त होती है,दाने देखने मे बहुत ही छोटे और चिकने होते हैं जिनको हाथों में आसानी से नही पकड़ा जा सकता,इन दानों में तेल भरा रहता है । जब फसल पक जाती है तब दानों का तेल जिस मशीन से निकाला जाता है उस मशीन के पूरे सिस्टम को ही सरसों तेल मिल कहते हैं, यहां पर सरसों के बीज से मशीनों की मदद से तेल अलग किया जाता है और उसके बाकी बचे गुदे को खरी के रूप में अलग निकाल दिया जाता है जिससे हम आसानी से साफ तेल को डिब्बो में भरकर बेंच सकते हैं और लोग स्वच्छ तेल को खाने में प्रयोग कर सकते हैं।

सरसों तेल मिल के फायदे-

  • आप तेल निकालकर बाजार में शुद्ध तेल बेंच सकते हैं।
  • शुद्ध तेल की मांग मार्किट के बहुत ज्यादा है तो बिक्री में ज्यादा परेशानी नही होगी।
  • आप चाहे तो अन्य लोगो की लाई हुई सरसों का तेल निकालकर उनसे पैसे लेकर भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • सरसों के अलाबा बचे हुए गुदे अर्थात खरी को भी बाजार में बेंच सकते हैं।
  • खरी खेतों में उर्वरक ,पशुओं के खाद्य और लेप में प्रयोग होती है।
  • आप इस व्यापार को एक कंपनी का नाम भी दे सकते हैं जिसके बाद आप डिब्बों में तेल को बंद करके बेंच सकते हैं।
  • बिना मिलाबट के भी यदि सरसों के तेल को बेंचा जाए तो लाभ बहुत होता है।
  • यहां आप व्यापार की छोटी इकाई से शुरू कर एक बड़े व्यापार को खड़ा कर सकते हैं।

सरसों के बीज से तेल निकालने के बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए मुख्य स्टेप्स

बिजनेस के बारे में जानकारी होना

बोला जाए तो सरसों के दाने से तेल निकालने का मिल बैठाना एक बड़ा काम है। इसलिए इस बिजनेस को स्टार्ट करने से पहले इससे संबंधित छोटी बड़ी जानकारी को प्राप्त करे। क्यों के इस बिजनेस में बहुत सारे ऐसे काम है जिसके लिए पर्याप्त जानकारी का होना जरूरी है। जैसे मिल से संबंधित पार्ट पुर्ज़ों के बारे में मशीन को हैन्डल करने की जानकारी इसके अलावा सरसों के बीज के सौदा के बारे में पर्याप्त जानकारी रखें के सरसों का बिज कहाँ से लें किस प्रकार का लें सही दाम पे लें। इन बातों का जानकारी होना बिजनेस को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाती है।

कैसा स्थान का करें चुनाव

बाकी बिजनेस की तरह इस बिजनेस में स्थान का किसी बड़े मार्केट में या किसी भीड़ भाड़ वाले एरिया का होना ज़रूरी नही है। ये बिजनेस आप अपने घर पे या किसी गांव में भी कर सकते हैं। बस आप के बिजनेस के स्थान पे ट्रांसपोर्टेशन का सही सुविधा होना चाहिए ताके माल को लाने ले जाने में कोई बाधा पैदा न हो। या फिर वैसी स्थान का चुनाव करे जहां आस पास में ज़्यादा किसान रहते हों और जहां सरसों की ज़्यादा खेती हो। जिससे आपको सरसो के बीज कम लागत में आसानी से मिल सके।

आवश्यक मशीनें और उनकी कीमत

मशीनें छोटी और बड़ी अलग-अलग तरीके की होती हैं तो जाहिर है उनकी कीमत भी अलग अलग होगी,मशीनें 1 लाख से लेकर 20 लाख रुपए तक कि बाजार में उपलब्ध हैं ये आप पर निर्भर करता है कि आप कैसी मशीन खरीदना चाहते हैं,आप यदि सरसों तेल की बिजली की मशीन लगाना चाहते हैं तो आपको मोटर खरीदना होगा और यदि आप डीजल मशीन खरीदना चाहते हैं तो आपको मोटर की जगह पर एक डीजल इंजन खरीदना होगा।आपको एक सामान्य सरसों मिल हेतु कुछ आवश्यक मशीनें खरीदनी होंगी जो निम्न हैं-

  • Oil expeller machine
  • Motor 20 HP
  • Filter press machine
  • Galon
  • Box stumping machine
  • Weight Machine
  • Sealing Machine

इन उपकरणों में मशीन को चलाने के लिए मोटर का प्रयोग किया जाता है जो बिजली पे चलती है। लेकीन बिजली नही होने की स्थिति में आप मोटर की जगह पे डीज़ल इंजिन का प्रयोग कर सकते हैं।

आवश्यक कच्चा माल

कच्चा माल की बात करे तो इस बिजनेस के लिए मुख्य कच्चा माल सरसों का बीज ही है। जिससे तेल को निकाला जाता है। इसके अलावा तेल पैकिंग के लिए बोतल या पाउच इत्यादि की आवश्यकता होगी।

सरसों कहाँ से खरीदें-

इस बिजनेस के लिए मुख्य कच्चा माल जो के सरसों का बीज होता है जिससे तेल निकाला जाता है। इस बिजनेस के लिए सरसों का स्टॉक होना बहुत ज़रूरी है। इसके लिए आप सरसो के सीज़न में ही ज़्यादा से ज़्यादा माल ले जो आपको साल भर चले ये माल आप डायरेक्ट सरसों किसान से मिल कर ले सकते हैं। या फिर आपको बड़े अनाज बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जाएगी ,आपको सरसों के बड़े दाने देखकर ही खरीदनी है ,आपको ये भी पता होना चाहिए कि सरसों कई प्रकार की होती है जिसमें से रंगों के आधार पर दो मुख्य प्रकार हैं – काली सरसों और पीली सरसों । लेकिन इसके साथ एक समस्या ये भी है के सरसो का उत्पादन प्रत्येक राज्य में अधिक नही होता है इस इस्थिति में आपको किसी दूसरे राज्य से माल लेना होगा जहां सरसों की उत्पादन अधिक होती हो। लेकिन ये आपको मंहगा पड़ जाएगा। इसलिए इस बिजनेस को स्टार्ट करने से पहले अपने एरिया में पता कर लें कि आपके एरिया में पर्याप्त सरसो का बीज मिल सकता है के नहीं।

1 KG सरसों पर कितना तेल निकलता है-

अब अगर आप तेल मिल का बिजनेस करना चाहते हैं तो आपको ये जानकारी भी होनी चाहिए कि आखिर 1 Kg सरसों में कितना तेल निकलता है या 1 kg तेल के लिए कितनी सरसों की आवश्यकता होगी। तो हम आपको बता दे रहें हैं कि 1 Kg अच्छी बड़ी दानों बाली सरसों में 350 ग्राम से अधिक तेल निकलता है अर्थात 1 Kg तेल के लिए आपको लगभग 3 किलो ग्राम सरसों की जरूरत होगी,1 किलोग्राम सरसों का बाजार मूल्य लगभग 50 से 60 रुपए होता है ,अगर हम बात करें क्वन्टल की तो मूल्य लगभग 5000 +- होता है।

कैसे निकलती है सरसों के बिज से तेल-

सर्वप्रथम सरसों के बीज को अच्छी तरह से सुखा लेते है। जिससे सरसों से पानी की मात्रा निकल जाए। इसके बाद इसको अच्छी तरह साफ कर लें के सरसों के साथ कुछ कचरा नही रहे। इसके बाद इस सरसों को तेल निकालने वाले मशीन में डाल देते हैं। जिससे सरसों से तेल निकलता है और इसका बचा हुआ अंस खल्ली के रूप मे अलग हो जाता है। जिसका इस्तेमाल खेतो में खाद के लिए या मवेशी को खिलाने के लिए किया जाता है।

सरसों तेल की मिल खोलने में कितनी आएगी लागत

15KW/20 HP motor लगभग 50,000, तेल निकालने वाली मशीन १ से 2 लाख तक, तेल कैंटर प्लास्टिक बोतल इत्यादि 10,000, बिजली कनेक्शन 3 फेस 20,000 इस तरह से लेबर स्टाफ इत्यादि को लेकर कुल लागत 3 लाख तक का आएगा। चूंकि व्यापार कोई भी हो पहले कुछ पैसे तो लगाने ही होते हैं जिसके बाद आपको मुनाफा मिलने लगता है,आप सरकारी बैंक से लोन भी ले सकते हैं क्योंकि सरकार लघु उधोगों के लिए लगातार प्रयत्नशील है यहां सरकार की तरफ से लोन और बाकी मशीनरी पर कुछ सब्सिडी मिल सकती हैं, इसके लिए आप अपनी सम्बंधित बैंक में जाकर जानकारी ले लें और फिर आवेदन करें,आवेदन करने से पहले सारे पेपर को अच्छे से पढ़ लें जिससे किसी भी धोखाधड़ी से बचा जा सके। पहले आपको सारा पैसा लगाना होगा सब्सिडी आपको उसके बाद बैंक के द्वारा दिए गए प्लान के हिसाब से मिलेगी।

सरसों तेल की मिल से कैसे होगी कमाई

100 किलोग्राम सरसों के लिए आपको लगभग 5000 रुपए देने होंगे और आपको लगभग 100 किलोग्राम सरसों के लिए 3 लीटर अर्थात 200 रुपए लगभग के डीजल की आवश्यकता होगी (यदि आप डीजल मिल चलाएंगे तो) अन्यथा बिजली यूनिट खर्च आपके एरिया के हिसाब से अलग जोड़ सकते हैं। जिससे आपकी लागत मूल्य लगभग 5000+200 जिसमे आपका तेल लगभग 35 किलोग्राम निकलेगा और ख़री बाकी 65 किलोग्राम लगभग जिससे आप तेल के 120 रुपए प्रति किलोग्राम से 4200 रुपए और 25 रुपए प्रति किलोग्राम खरी के 65 किलोग्राम आप 1600+ में बेंच लेंगे जो कुल मिलाकर 5800 रुपए होगा और आपका खर्च था 5200 रुपए लगभग जिससे 600 रुपए आपको मात्र 100 किलोग्राम सरसों पर लाभ के रूप में प्राप्त होंगे। आप बड़े स्तर पर व्यापार करना चाहते हैं तो आपको अधिक सरसों की आवश्यकता होगी आप लगभग एक दिन में 100 किलोग्राम तेल निकाल और बेंच सकते हैं। जिसकी खपत के लिए आपको तेल बोतलों में पैक कर मार्किट में बाकी तेल से थोड़े सस्ते दामों पर लाना होगा जिससे लोग आपका तेल खरीदें और उसकी क़्वालिटी पसन्द करें।

सरसों तेल मिल रजिस्ट्रेशन-

सरसों तेल मिल लघु उद्योग के अंतर्गत आता है इसके लिए आपको अपने एरिया में खाद्य विभाग से भी सर्टिफिकेट लेना होगा और उसके बाद आप सरकार के अभियान उधोग आधार में भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं ,उद्योग आधार एक लघु उद्योग से सम्बंधित जहां पर किसी भी दुकान या अपने निजी छोटे व्यापार को रजिस्टर किया जा सकता है इसके लिए आप किसी भी नजदीकी जन सेवा केंद्र में आवेदन करा सकते हैं,जहां आपको आधार कार्ड और बाकी व्यपारिक दस्ताबेजो को ले जाना होगा। जिसके बाद प्रोसेस पूरा होने पर आपको सर्टिफिकेट मिलेगा जो आप अपने मिल में लगा सकते हैं,जिससे आप लघु उद्योग के अंर्तगत रजिस्टर माने जाएंगे। आप FCI अर्थात खाद्य से सम्बंधित सरकारी संस्था में भी आवेदन कर सकते हैं जिसके मानक पर खरा उतरने के बाद आपको ग्राहकों का भी सपोर्ट मिलेगा और सरकार की कानूनी दिक्कतों से भी आराम।

दोहरा व्यापार-

यहां आपको दोहरा व्यापार मिल रहा है क्योंकि जब आप सरसों तेल मिल लगाएंगे तब आपको सरसों से तेल के साथ उसका गुदा अर्थात खरी भी प्राप्त होगी जो आपको दोहरा व्यापार देगी जहां आप तेल फुटकर या थोक बाजार में बेचेंगे और साथ ही खरी को बड़ी उर्वरक कंपनियों को अच्छे दामों पर बेंच देंगे जिससे फायदे की उम्मीद और ज्यादा बड़ जाती है।

कैसे करें सरसों तेल का मार्केट में सप्लाई

सरसों के बीज से तेल निकालने के बाद आप इस तेल पे अपने किसी कंपनी के नाम का लेबल लगाकर कर मार्केट में सप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आप इन तेलों को प्लास्टिक के बोतल, पाउच तेल कंटर में पैक कर कंपनी का लेबल लगा कर सप्लाई कर सकते हैं।

कैसे बढ़ाएं सेल को

सेल को बढ़ाने के लिए आप अपनी कंपनी का ज़्यादा से ज़्यादा ब्रांडिंग करें। और ज़्यादा से ज़्यादा किराना दुकानदारों से संपर्क करें और उन्हें अपना माल बेचने के लिए कहें। इसके अलावा आप किसी दूसरी कंपनी को अपना तेल बेच सकते हैं। जो पहले से सरसों का तेल बेचती हो।

अन्य पढ़े :

घर बैठे ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए

खाद व बीज भंडार का बिजनेस कैसे शुरू करें

घरेलू महिलाओं के लिए बिज़नेस आइडियाज

27 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: