12वीं के बाद UPSC की तैयारी कैसे करें | How To Prepare UPSC After 12th

पुराने समय से हम सभी देखते चले आये है, की कोई देश हो या कोई राज्य वहां के लोगो, राजा या नेता (leader), और उस देख में बनाये गए नियम कानून, पर चल कर है आगे बढ़ता है, किसी भी देश का संचालन, व्यवस्था, वहां रहने वाले लोगो, अधिकारियों, नेताओ, कानून व्यवस्था, और नियम के बल पर चलता है, और ये नेता और अधिकारी, व अन्य जो मिलकर इस एक देश को चलाते है, कही और से नही बल्कि हम सब मे से कोई होता है, कभी सोचा है, की कोई अधिकारी बनता कैसे है, और सब अपने अपने फील्ड में जाते कैसे है? आखिर वो कौन सा एग्जाम देते है, जो अधिकारी बनकर पूरी पूरी जिले का व्यवस्था का संचालन करते है,

आज वर्तमान में जिले की इन महत्वपूर्ण व्यवस्थाओ का संचालन करने के लिए UPSC एग्जाम का आयोजन किया जाता है, आज UPSC से जुड़ी जानकारियां दी जाएंगी, जिससे ज्यादा से ज्यादा छात्रों को UPSC की इन जानकारियों को जान सकेंगे।

UPSC का मतलब, योग्यता (Eligibility) ,पोस्ट (post), पेपर(paper), UPSC के विषय (Subject) , 12 बाद UPSC की तैयारी, UPSC पास करने के बाद नौकरिया, UPSC के इंटरव्यू में फेल होने पर क्या होता है?

UPSC का मतलब:-

UPSC- Union public service commission (संघ लोक सेवा आयोग), एक राष्ट्रीय एजेंसी है या एक संवैधानिक निकाय है, जिसे भारत के संविधान द्वारा स्थापित किया गया है, जो संघ लोक सेवा आयोग के, पदाधिकारियो, की नियुक्ति हेतु प्रत्येक वर्ष परीक्षाओं का आयोजन करता है। जिसके द्वारा पास होने वाले अभ्यर्थियों को उनकी रैंक के अनुसार पदों पर नियुक्त किया जाता है।

12th के बाद UPSC की तैयारी कैसे करे:-

12th के बाद UPSC की तैयारी के लिए कुछ पद:-

* स्नातक का उपयुक्त चयन जिससे स्नातक के विषय को पढ़ते हुए UPSC के वैकल्पिक विषय भी तैयार होते रहे।
* स्नातक के पहले वर्ष में 6 क्लास से 12 क्लास तक की NCERT को अच्छे से पढ़े।
* स्नातक के दूसरे वर्ष में कोशिश करे कोई ऑनलाइन क्लास करे और एडवांस और हाई लेवल वाली UPSC के विषय से जुड़ी किताबे पढ़े।
* स्नातक के तीसरे वर्ष में टेस्ट सीरीज बड़ी बड़ी कॉलेज विश्वविद्यालय, और ऑनलाइन क्लासेज के जरिये दे, जिससे आप स्वयं का मूल्यांकन कर सके।
* तैयारी में निरंतरता बनाए रक्खे जिससे कम समय मे है ज्यादा से ज्यादा ज्ञान पा सके।

स्नातक करने के बाद भी अगर सफलता न मिल सके, किसी अच्छे UPSC की तैयारी हेतु क्लास करे, जिससे आपके ज्ञान को और बेहतर किया जा सके, तैयारी के बाद UPSC परीक्षा में शामिल हो, और सफलता प्राप्त करे।

UPSC में कौन कौन सी पोस्ट है:-

UPSC कुल 24 पोस्ट पर नियुक्ति के लिए परीक्षा का आयोजन करती है।

UPSC में मुख्त 3 प्रकार की पोस्ट होती है-

अखिल भारतीय सिविल सेवा

* ग्रुप A सिविल सेवा
* ग्रुप B सिविल सेवा

अखिल भारतीय सिविल सेवा:-

* भारतीय प्रशासनिक सेवा ( Indian administrative service)
* भारतीय पुलिस सेवा ( Indian police service)
* भरतीय वन सेवा ( Indian forest service)

ग्रुप A सिविल सर्विस :-

* भारतीय विदेश सेवा ( Indian foreign service)
* भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा सेवा ( Indian audit and account service)
* भारतीय सिविल लेखा सेवा ( Indian civil account service)
* भारतीय कॉर्पोरेट विधि सेवा ( Indian corporate law service)
* भारतीय रक्षा लेखा सेवा ( Indian defence accounts service)
* भारतीय रक्षा संपदा सेवा ( Indian defence estate service)
* भारतीय सूचना सेवा ( Indian information service)
* भारतीय आयुध कारखानो सेवा ( Indian ordnance factories service)
* भारतीय संचार वित्त सेवाए ( Indian communication finance service)
* भारतीय डाक सेवा (Indian postal service)
* भारतीय रेलवे लेखा सेवा (Indian railway accounts service)
* भारतीय रेलवे कार्मिक सेवा ( Indian railway personnel service)
* भारतीय रेल यातायात सेवा ( Indian railway traffic service)
* भारतीय राजस्व सेवा ( Indian revenue service)
* भारतीय व्यापार सेवा (Indian trade service)
* रेलवे सुरक्षा बल ( Railway protection force )

ग्रुप B सिविल सेवा :-

* सशस्त्र बल मुख्यालय सिविल सेवा (Armed force headquarters civil service)
* DANICS
* DANIPS
* पॉन्डिचेरी सिविल सेवा (Pondicherry civil service )
* पॉन्डिचेरी पुलिस सेवा ( Pondicherry police service)

UPSC की योग्यता (Eligibility):-

UPSC योग्यता के बुनियादी आधार मुख्यतः राष्ट्रीयता, आयु सीमा, शैक्षिक योग्यता, प्रयासों की संख्या होती है।

राष्ट्रीयता:-

UPSC के लिए राष्ट्रीयता एक बुनियादी योग्यता है, अभ्यर्थी को आवेदन के योग्य होने के लिए भारत का नागरिक होना चाहिए।

आयु सीमा:-

UPSC के आवेदन के लिए अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 21 वर्ष से अधिकतम 32 वर्ष के निर्धारित की गई है, अर्थात अभ्यर्थी 21 वर्ष से 32 वर्ष के मध्य होना चाहिए, OBC उम्मीदवार के लिए 3 वर्ष की और ST/SC के उम्मीदवार के लिए 5 वर्ष, दिव्यांग अभ्यर्थियों को 10 साल की छूट दी गयी है।

शैक्षिक योग्यता:-

अभ्यर्थी का स्नातक होना अनिवार्य है, अभ्यर्थी के पास  मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से  स्नातक या इसके समकक्ष कोई डिग्री होनी चाहिए।

      मापदंड योग्यता
      आयु  21 से 32 साल के मध्य
    राष्ट्रीयता भारतीय नागरिक
शैक्षिक योग्यता स्नातक या इसके समकक्ष

इन प्रमुख योग्यता के आधार पर कोई भी उम्मीदवार आवेदन के योग्य होता है।

UPSC के पेपर (paper):-

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षाओ के अंतर्गत 2 परीक्षा होती है –

* प्रारंभिक परीक्षा (prelims exam)
* मुख्य परीक्षा (Mains exam)
* साक्षात्कार (interview)

और इनमे भिन्न भिन्न पेपर निर्धारित किये गए है, जो निम्न है।

UPSC के अंतर्गत प्रारंभिक परीक्षा में 2 पेपर और मुख्य परीक्षा में 9 पेपर होते है।

प्रारंभिक परीक्षा में पेपर:-

प्रारंभिक परीक्षा में सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र (G S- 1st ) और CSAT-2nd  दो प्रश्नपत्र होते है।

दोनों प्रश्नपत्र 200 अंक (मार्क्स) के होते है।

सामान्य अध्ययन में 100 प्रश्न और CSAT -2nd में 80 प्रश्न होते है।

प्रारंभिक परीक्षा कुल 400 अंक (मार्क्स) की होती है।

मुख्य परीक्षा में पेपर:- 

UPSC की मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते है-

पेपर 1 – निबंध (essay) – 250 मार्क्स

पेपर 2 – G S 1st  –    250 मार्क्स

पेपर 3 – G S 2nd –    250 मार्क्स

पेपर 4 – G S 3rd –    250 मार्क्स

पेपर 5 – G S 4rth – 250 मार्क्स

पेपर 6 – वैकल्पिक विषय (Optional subject)- 250 मार्क्स

पेपर 7 – वैकल्पिक विषय (Optional subject) -250 मार्क्स

पेपर 8 – अंग्रेजी (English) – (qualifying paper) – 300 मार्क्स

पेपर 9 – हिंदी (Hindi) संवैधानिक मान्यता प्राप्त भाषा – (qualifying paper) – 300  मार्क्स

कुल मार्क्स – मुख्य परीक्षा में – 2350

लेकिन qualifying पेपर का मार्क्स रैंक में जोड़ा नही जाता तो 

2350 -600= 1750

अंग्रेजी और भाषा (language) के पेपर का मार्क्स नही जोड़ा जाता है, ये qualifying पेपर होते है, मतलब अगर इनमे पास नही हुए तो बाकी पेपर को भी नही देखा जाता, इसलिए पास होना अनिवार्य होता है।

मुख्य परीक्षा 1750 मार्क्स की होती है।

और इंटरव्यू 275 मार्क्स का होता है।

कुल मार्क्स सब परीक्षा को लेते हुए-

1750+275= 2025

पास होने के लिए 700 के पास होने चाहिए, और 50% आ गया उससे ज्यादा आ गया तो टॉप में जाता है, इस परीक्षा के कटऑफ इतने में है होते है।

UPSC के विषय (Subject):- 

UPSC में विषय दो प्रकार के होते है-

 

  • अनिवार्य विषय ( Compulsory subject )
  • वैकल्पिक विषय (Optional subject )

अनिवार्य विषय (optional subject):- 

 

  • निबंध (Essay)
  • भारत का इतिहास और विश्व का इतिहास (INDIAN HISTORY AND WORLD HISTORY)

 

  • भारतीय भूगोल और विश्व भूगोल (INDIAN GEOGRAPHY AND WORLD GEOGRAPHY)

 

  • भारतीय राजनीति,भारतीय संविधान, सामाजिक न्याय,अंतरराष्ट्रीय कानून और अंतरराष्ट्रीय संबंध
  • आर्थिक विकास, जैव विविधता, सुरक्षा आपदा प्रबंध,प्रोद्योगिकी 
  • ETHICS AND APTITUDE

 

OPTIONAL SUBJECT ( LANGUAGE):-

UPSC  की वैकल्पिक विषयों में भाषा होती है, जिसमे से चयन करना होता है, ये qualifying  पेपर के अंतर्गत आती है, जिनमे कुछ मुख्य में से चयन करना होता है-

गुजराती, मणिपुरी, संस्कृत, हिंदी, मराठी, सिन्धी,बंगाली, कन्नड़,कश्मीरी, तेलुगू, कोंकणी, उर्दू, तमिल, उड़िया पंजाबी,मलयालम।

अन्य वैकल्पिक विषय ( Other optional subject :-

 

  • भैतिक विज्ञान (Physics)
  • जन्तुविज्ञान(Zoology)
  • रसायन विज्ञान (Chemistry)
  • जीवविज्ञान(Biology)
  • जियोलॉजी (Geology)
  • भारतीय इतिहास (Indian history)
  • विधिशास्त्र
  • सांख्यिकी (Statics)
  • सामाजिक शास्त्र ( Sociology)
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (Electrical engineering)
  • साइकोलॉजी (Psychology)
  • लोक प्रशासन (Public administration)
  • अर्थशास्त्र (Economics)
  • (भूगोल (Geography)
  • राजनीति विज्ञान अंतर्राष्ट्रीय संबंध (Political science international relation)
  • वाणिज्य एवं लेखाशास्त्र ( commerce and accountancy
  • फायलोकोपी (Phylocopy)
  • चिकित्सकीय विज्ञान (Medical science)
  • गणित (Mathematics)
  • वनस्पति विज्ञान (Botany)
  • इंजिनीरिंग विषय (इंजिनीरिंग subject)
  • एग्रीकल्चर (Agriculture)
  • प्रबंधन शास्त्र
  • पशुपालन  और पशु चिकित्सा

 

UPSC को करने पर कौनसी नौकरियां मिलती है:-

जो भी अभ्यर्थी UPSC की परीक्षा पास करते है  उन अभ्यथियो को उनकी रैंक के आधार पर upsc की पोस्ट ,अखिल भारतीय सिविल सेवा, ग्रुप A सिविल सेवा , ग्रुप B सिविल सेवा के पदों पर नियुक्त किया जाता है।

क्या UPSC की इंटरव्यू में फेल होने वालों को भी सरकारी नौकरी मिलती है:-

UPSC की परीक्षा का तीन चरण होता है

1.प्रारंभिक परीक्षा ( prelims exam)

2.मुख्य परीक्षा (Mains exam)

3.साक्षात्कार (Interview)

अभ्यर्थी को सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा पास करनी होती है, इसमें पास होने पर मुख्य परीक्षा देने को मिलती है, और अगर मुख्य परीक्षा भी पास कर ली तब इंटरव्यू जिसमे अभ्यर्थी की पर्सनालिटी प्रश्न उत्तर के द्वारा बारीकी से जांचा जाता है, की वो अभ्यर्थी upsc सेवाओ की जिम्मेदारी को कितनी उत्तम तरीके से उठा सकता है, अभ्यर्थी की सोच, उपयुक्त उत्तर इसका आधार होते है।

अगर अभ्यर्थी इंटरव्यू में फेल हो जाता है, तो उसे फिर से upsc द्वारा निर्धारित प्रयास की संख्या की सीमा तक प्रयास करता है

इंटरव्यू में फेल होने वाले अभ्यर्थियों को कोई सरकारी नौकरी नही दी जाती, बल्कि उन्हें फिर प्रयास करने की आवश्यकता होती है।

Upsc  में सफलता के लिए सबसे महत्वपूर्ण है

 

  • पढ़ाई में निरंतरता
  • अनुशासन
  • पूरी तैयारी
  • समर्पण अपने सपनो के तरफ

 

Upsc से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में देने का प्रयास किया गया है, अन्य जानकारियो के लिए लिंक को फॉलो करें और upsc से जुड़ी नई अपडेट से जुड़े रहे।

https://upsconline.nic.in/ 

Thanks

अन्य पढ़े :

नौकरी पाने के लिए बेस्ट कंप्यूटर कोर्स

Airport में जॉब कैसे पाए

जानिए विदेश में नौकरी कैसे पाएं

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: