स्पोर्ट्स के सामान का बिजनेस कैसे स्टार्ट करें | Sports Product Business Plan in Hindi

Sports Product Business in Hindi – आज के इस दौर में बच्चों की पढ़ाई के साथ साथ कोई दूसरा भविष्य  बनाने का तरीका है तो वो स्पोर्ट्स है। हम देखते है कि आजकल स्पोर्ट्स को कितना बढ़ावा मिल रहा है चाहे वो कोई भी खेल हो। ऐसे समय खेल के साथ साथ उसी जुड़ी सामग्री (sports product) की भी मांग बढ़ रही है और अगर आप कोई नया बिज़नेस शुरू करना चाहते है और वो भी स्पोर्ट्स के सामानों(Sports product) का तो आप काफी अच्छा सोच रहे है।

स्पोर्ट्स के सामान का बिजनेस शुरू करना बहुत मुश्किल नहीं है लेकिन कुछ बातों का ध्यान भी रखना बहुत जरूरी है। आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आप स्पोर्ट्स के समान की शॉप शुरू कर सकते है। हम आपको कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट बताने जा रहे है अगर आप इसको सही से इस्तेमाल करेंगे तो यकीन मानिये आप Sports Item की दुकान खोल कर काफी ज्यादा मुनाफा कमा सकते है और वो भी बहुत कम समय में।

क्या है स्पोर्ट्स व्यापार ? (Sports Product Business in Hindi)

नाम से ही समझ में आता है की वह व्यापार जिसमे किसी भी तरह की स्पोर्ट्स मटेरियल चाहे वह क्रिकेट हो, फुटबॉल हो या फिर कोई अन्य तरह का सामान की विक्रय कर पैसा कमाया जाए स्पोर्ट्स व्यापार के अंतर्गत ही आता है या कहें की जिस दुकान पर आपको किसी खेल से सम्बंधित सामान विकता नजर आता हो वह स्पोर्ट्स व्यापार के अंतर्गत ही आता है

क्या है इस व्यापार के महत्वपूर्ण बिंदु जिन्हे हमेशा याद रखा जाए :-

इस व्यापार में जितना फायदा है उतना जोखिम भी है जो की आपकी मार्केटिंग और आपके सामान की गुणवत्ता पर निर्भर करती है तो चलिए हम आपको बताते हैं की इस व्यापार को स्टार्ट करने से पहले और बाद में हमेशा किन-किन बातो को याद रखना अत्यंत आवश्यक है जो की इस व्यापार में आपको और आगे बढ़ाने के लिए मददगार साबित हो सकती है तो चलिए जानते है इनके बारे में

स्पोर्ट्स की दुकान के लिए उपयुक्त जगह (Proper place to open sports shop/business)

किसी भी बिजनेस को करने के लिए आपको उपयुक्त जगह की जरूरत होती है। उसी तरह स्पोर्ट्स के समान की बिक्री के लिए आपको दुकान की जरूरत होती है। अब ये दुकान छोटी होगी या बड़ी इस बात का निर्णय आपको करना है कि आप ये बिज़नेस छोटे तौर पर शुरू करना चाहते है या बड़े पैमाने पर। यह एक ऐसा बिज़नेस है जिसमें आपकी दुकान की जगह की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

हमेशा दुकान आप बाजार के बीच में,, चौक पर, या आस पास कोई स्पोर्ट्स अकादमी हो वैसे जगह पर लें। आप यह दुकान हाई सोसाइटी के पास या स्कूल के पास भी ले सकते है जहाँ खेल कूद होता हो ताकि आपकी दुकान जल्द से चलने लगे। हमेशा ध्यान रखें कि आप ऐसी जगह दुकान न चालू करे जहाँ खेल के लिए लोगो के पास समय न हों या खेल कूद को महत्व नही दिया जाता हो, तो आपको ये पता चल गया कि स्पोर्ट्स के समान की दुकान या उसका बिज़नेस किस जगह पर खोलें।

ग्राहकों की जरूरत (Demand of customers)

यह व्यापार कोई किराना शॉप नहीं है की व्यक्ति एक चीज नहीं लेंगे तो किसी दूसरी चीज को ले लेंगे यह एक प्रोफेशनल व्यापारों में से एक है इसलिए इस व्यापार को चालू करने से पहले ग्राहकों की जरूरतों को अच्छे से समझ ले की वह किस तरह के सामान की अपेक्षा करता है और उसे किन-किन खेलों के लिए आधिक सामानो की जरूरत पड़ती है अगर आप ग्राहकों की अपेक्षा और जरुरत के अनुसार सामानो की विक्री नहीं करोगे तो वह उसे खरीदेगा ही नहीं और इस तरह आपका व्यापार एक जोखिम भरी स्थिति में आ सकता है

मार्केट/ मौसम का ध्यान (Market/Weather precautions)

स्पोर्ट्स के समान के बिजनेस में मौसम और मार्केट का ध्यान रख कर ही अपने पास सामान रखे। जैसा कि गर्मी और सर्दियों के मौसम मे लोग क्रिकेट, बैडमिंटन ज्यादा खेलना पसंद करते है तो इस मौसम में इन खेलों की सामग्री ज्यादा रखें उसी तरह बरसात के मौसम में लोग फुटबॉल ज्यादा खेलते है अतः उस मौसम में फुटबॉल के सामान ज्यादा रखे। उसी तरह सर्दियों के मौसम में स्कूलों मे एनुअल फंक्शन होते है तो उसके अनुकूल सामान भी रखे जिससे की आपकी सामानों की बिक्री लगातार होती रहे। याद रखे कि कभी भी मौसम के प्रतिकूल सामान न लाये नही तो आपको नुकसान हो सकता है।  

दूसरे स्पोर्ट्स की दुकानों पर नजर ( Take care of your competitors/ other sport’s shop)

ऊपर दी गई सारी बातों के साथ साथ आपकी हमेशा अपने आस पास की स्पोर्ट्स की दुकानों के ऊपर भी नज़र होनी चाहिए। वे किस तरह से अपने ग्राहकों को सम्भालते है , किस तरह के सामान रखते है। अगर आपको उनकी कोई तकनीक पसंद आती है तो उनसे सीखना भी जरूरी है। बहुत से लोग ये गलती करते है कि अपने आस पास के दुकानों को नजरअंदाज करते है लेकिन आप हमेशा इस बात का ध्यान रखे।

जाने बाजार का मूड 

जब भी आप किसी भी व्यापार को स्टार्ट करें तो उसके सामान के हिसाब से बाजार का मूड जाने बिना उसे स्टार्ट न करें वरना आप आपका व्यापार जोखिम में डाल सकते है इसलिए इस व्यापार को स्टार्ट करने से पहले भी आप बाजार के माहौल के बारे में अच्छी तरह से रूबरू हो जाएँ की ग्राहकों को किस तरह का सामान ज्यादा पसंद है और वह उस सामानो से किन- किन तरह की अपेक्षाएं रखते है

स्पोर्ट्स की दुकान/ बिजनेस में क्या समान रखे (Sports items List in Hindi)

अब आपको बताते है कि इस बिजनेस को शुरू करने के लिए किन किन स्पोर्ट्स के क्या क्या सामान ज्यादा रखने होते हैं जिससे कभी भी कोई ग्राहक आपकी दुकान से लौट के ना जा सके। सबसे ज्यादा भारत मे क्रिकेट का प्रचलन है तो क्रिकेट के सारे समान जैसे बैट, बॉल, विकेट ,हेलमेट, ग्लब्स, पैड, थाई पैड, गार्ड, जर्सी, कैप, सनग्लास, प्राइज की शील्ड जरूर रखें।

उसी तरह फुटबॉल दूसरा सबसे ज्यादा खेला जाने वाला खेल है तो फुटबॉल ,उसके बूट, जर्सी, शॉक्स रखे । इसी तरह आप खुद भी मार्केट में पता कर लें कि इस बिजनेस के लिए किस प्रोडक्ट की क्या डिमांड है। अगर ऐसा कभी हो कि कोई सामान आपके पास नहीं है तो उसे आस पास की दुकान से लाकर ग्राहक की जरूरत को पूरा करे ताकि आपके कस्टमर बने रहें।

अपने बिज़नेस की मार्केटिंग (Marketing of your business)

ग्राहक जब तक आपके बिजनेस के बारे में जानेंगे नहीं वो आप तक कैसे पहुंचेंगे इसलिए अपने स्पोर्ट्स के सामान का बिजनेस शुरू करने के बाद आपको इसका सही तरीके से प्रचार प्रसार करना पड़ता है। अपने बिज़नेस का प्रचार करने के लिए आप जगह-जगह पोस्टर और बैनर लगवा सकते हैं। अखबार में पेंपलेट डालकर लोगों तक पहुंचा सकते हैं, जिससे कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोग आपके बिजनेस के बारे में जान पाएंगे।

आप अपने एरिया के अगल-बगल स्पोर्ट्स अकादमी में भी पेंपलेट बांट सकते हैं तथा लोगों को बता सकते हैं कि आपके बगल ही में एक स्पोर्ट्स की दुकान खोली है। इसके साथ ही आपको सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपना एक अकाउंट बनाना है और वहां रोजाना एक फोटो पब्लिश करना है। आप इंस्टाग्राम फेसबुक टेलीग्राम आदि जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपना अकाउंट बना सकते हैं।

इसके अलावा आप अपने बिजनेस को गूगल मैप तथा जस्ट डायल, आदि पर भी जोड़ें। इन तरीकों का इस्तेमाल करके आप बहुत कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपने स्पोर्ट्स के बिजनेस को पहुंचा सकते हैं। इसके अलावा आपके आस पास जहां भी खेल के प्रोग्राम या टूर्नामेंट हो वहाँ भी अपने बैनर पोस्टर लगाए। स्पोर्ट्स क्लब में जाकर अपने पेम्पलेट बंटवाए और पोस्टर लगवाए। 

स्पोर्ट्स की दुकान के लिए जरूरी इन्वेस्टमेंट (Investment for open sports shop/ business)

स्पोर्ट्स के समान के बिज़नेस में निवेश की बात जब आती है तो ये पूरी तरह से आप के ऊपर निर्भर करता है। अगर आप छोटे पैमाने पर इसे शुरू करेंगे तो उसमें कम निवेश लगेगा और अगर इसे बड़े पौमने में शुरू करेंगे तो निवेश ज्यादा लगेगा। वैसे हम आपको सुझाव देंगे कि आप हर तरह के खेल की सामग्री रखे भले ही वो कम मात्रा में ही क्यों न हो क्योंकि अगर हर खेल की सामग्री आप रखेंगे तो ग्राहक आपकी दुकान से कभी खाली हाथ लौट कर नही जाएंगे जो आपके बिज़नेस के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा।

आपको स्पोर्ट्स के बिजनेस शुरू करने के लिए 2 से 4 लाख तक का निवेश लग सकता है। निवेश करते समय इस बात का ध्यान जरूर रखें कि आपके आसपास किस प्रकार के स्पोर्ट्स ज्यादा खेले जाते है अतः निवेश भी उसी स्पोर्ट्स की सामग्री में ज्यादा करे। निवेश करते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि आपके समान की क्वालिटी अच्छी हो क्योंकि कई बार देखा गया है कि समान की क्वालिटी के कारण भी ग्राहक आपकी दुकान से समान लेना बंद कर देते है जिसका असर सीधे आपके बिज़नेस पर पड़ता है। ये हो गई निवेश की बात अब हम आगे बढ़ते हैं।

स्पोर्ट्स के सामान की शॉप से मुनाफा ( Profit )

अगर मुनाफे की बात करें तो इस बिज़नेस में अच्छी आमदनी है। अलग अलग समान के मुनाफे भी अलग अलग है। इस बिज़नेस में आपको नुकसान का डर बहुत ही कम होता है क्योंकि आपके पास जो भी समान होते है वो खराब नही होते आई और उनकी कोई एक्सपाइरी डेट भी नही होती है। और Sports Product की प्रॉफिट मार्जिन भी कवी ज्यादा होती है 

इस तरह हमने आज देखा कि स्पोर्ट्स के सामान(Sport’s product) की शॉप या बिजनेस आप कैसे शुरू कर सकते है। 

अन्य पढ़े :

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोले

कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें

इलेक्ट्रॉनिक शॉप कैसे खोलें

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published.

error: