CCTV कैमरा का बिजनेस कैसे शुरू करें पूरी जानकारी How to Start CCTV Camera Business in Hindi

CCTV कैमरा का बिज़नेस कैसे शुरू करें? – वर्तमान समय में हमारे देश में बेरोजगारी एक गंभीर मुद्दा है। रोज़गार के कम अवसर पैदा होने के कारण इसका प्रभाव सीधे हमारे देश की युवा पे पर रहा है, जिन्हें अच्छी शिक्षा ग्रहण करने के बाद भी अच्छा रोज़गार नही मिल पाता है! किसी भी देश मे अधिक रोज़गार का होना उस देश के विकाशशील होने में अहम भूमिका निभाती है। अगर आप भी है बेरोजगारी से परेशान और करना चाहते हैं अपना बिजनेस तो हम लाए हैं आपके लिए बिजनेस आयडिया जिससे आप भी अपनी कंपनी खरी कर लाखो कामा सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं CCTV कैमरा के बिजनेस के बारे में। घर दुकान बैंक इत्यादि की सुरक्षा हमेशा से लेकर चिंता का विषय बना रहा और चोरी लूट जैसे खबर हमेशा सुर्खियों में आती रहती है, लेकिन टेक्नोलॉजी को बढ़ने के साथ साथ ऐसा यंत्र आया जो आपको 24 घंटे सुरक्षा प्रदान करता है जिसे CCTV कैमरा के नाम से जानते है।

CCTV का फुल फॉर्म “Closed circuit television” होता है। जो एक तरह का कैमरा है।या यूं कहें के ये भी एक मोबाइल के कैमरा की तरह है, लेकिन यह कैमरा एक कंप्यूटर सर्वर से ज़ुरा रहता है, जो कैमरा के सामने होने वाले हर छोटी बड़ी गतिविधियों को कंप्यूटर पे लाइव डिसप्ले करता है। और कंप्यूटर से अपने हार्ड डिस्क में सेव करता है। इसकी सबसे बड़ी खूबी ये है के इसको ऑपरेट करने के लिए कंटिन्यू आदमी की ज़रूरत नही होती है। और कोई भी घटना का वीडियो आप कभी भी निकाल सकते हैं। CCTV कैमरा को मुख्यतः मेन गेट पे या जहां पे लोगों की ज़्यादा आवाजाही होती है वहां लगाते हैं।जहां CCTV कैमरा लगा होता है वहां आपने एक Logo देखा होगा जिसपे लिखा होता है “Under surveillance area” जिसका मतलब होता है के आप CCTV कैमरा के निगरानी में है।

पहले CCTV कैमरा का उपयोग मुख्यतः सरकारी दफ्तर, हवाई अड्डे बैंक आर्मी कैम्प इत्यादि जैसे स्थानो पे किया जाता था लेकिन वर्तमान समय में CCTV कैमरा सुरक्षा के मद्देनजर बहुत ज़्यादा प्रचलित हो गया है।अब इसका प्रयोग, दोकान मकान, पार्क, मॉल, रेलवे स्टेशन ट्रैफिक सिग्नल, स्कूल, कॉलेज, इत्यादि जगहों पे किया जाने लगा है। एक आंकड़ा के मुताबिक CCTV कैमरा का प्रयोग 87% Commercial और 13% Residential purpose के लिये किया जाता है। पिछले कुछ सालों से इसका परिणाम बहुत अच्छा आया है। और सुरक्षा एजेंसियों को को भी कई घटना को सुलझाने में काफी मदद मिली है। वर्तमान समय मे ये सुरक्षा के मद्देनज़र लोगो की पहली पसंद बनी हुई है। जिससे इसमे रोज़गार के ज़्यादा अवसर पैदा हो रहे है।

बाकी बिजनेस के मुकाबले क्यों है CCTV का बिजनेस आसान-

अगर हम किसी दूसरे बिजनेस की बात करे तो सबसे पहले ज़मीन या बड़े स्टोर रूम की ज़रूरत होती है, मौजूदा वक्त में ज़मीन का अधिक रेट बढ़ने के कारण बिजनेस का 70 से 80% ज़मीन में ही या स्टोर रूम लेने में चला जाता है। लेकिन CCTV कैमरा के बिजनेस में ऐसा नही है। भारत सरकार के यूनियन मिनिस्ट्री ऑफ MSME (Micro small and medium enterprises) के अनुसार आप 100 गज़ जमीन यानी 900 वर्ग फिट जमीन लेकर आप ये बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं। आप ये जमीन किराये पर भी ले सकते हैं।

ऐसे करे शुरुआत-

CCTV कैमरा का बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको 900 वर्ग फिट जमीन की जरूरत होगी आप ये जमीन किराये पे भी ले सकते हैं। इसके बाद आपको फर्नीचर इलेक्ट्रिफिकेशन इत्यादि का काम कराना होगा। इसके साथ आपको CCTV कैमरा में उपयोग होने वाले मशीनरी से जुड़े उपकरण और कच्चा माल लेना होगा। प्रयोग में आने वाले मशीनरी उपकरण और कच्चा माल का नाम निम्नलिखित है-

मशीनरी एवं उपकरण

1.आँसिलस्कोप (10 MHz) 2. CCTV कैमरा 3. LCD मॉनिटर 4. DC पॉवर सप्लाई (30V, 2A) 5. एनालॉग मल्टीमिटरस 6. डिजिटल मल्टीमिटरस (4.1/2 digits) 7. बेंच ड्रिलिंग मशीन 8. पोर्टेबल ग्राइंडर 9. टूल किट्स इत्यादि।।

कच्चा माल (Raw material)

1. हार्ड डिस्क
2. PCBs with electronics
3. कंपोनेंटस
4. डिस्प्ले कम कंट्रोल पैनल
5. इलेक्ट्रॉनिक् कनेक्टर्स या स्विच
6. सॉकेट
7. मेटालिक केस विथ क्लैंपस
8. कनेक्टिंग केबल
9. सोल्जर सॉफ्ट
10. स्क्रू
11. पैकिंग मटेरियल इत्यादि

वित्तीय विश्लेषण ( Financial Analysis)

भारत सरकार के यूनियन मिनिस्ट्री ऑफ MSME (Micro small and medium enterprises) के आंकड़ा के मुताबिक CCTV कैमरा का बिजनेस प्रति वर्ष 30% की दर से बढ़ रहा है। और भारत में ये 2020 तक 16 हज़ार करोड़ तक हो जाएगा। MSME के मुताबिक यदि आप सालाना 6000 CCTV का बनाना चाहते हैं तो उसकी लागत इस प्रकार है। मशीनरी एवं उपकरण पे 1 लाख से अधिक खर्च आएगा। ऑफिस के उपकरण जैसे फर्नीचर, इलेक्ट्रिफिकेशन, फिक्सचर, आदि पे 1.50 लाख से अधिक खर्च आएगा।

इसके इलावा पहले माह के काम का लागत कच्चा माल का लागत लेकर लगभग 22 लाख का खर्च आएगा, इस तरह कुल मिलाकर यूनिट शुरू करने के लिए लगभग 25 लाख का खर्च आएगा। भारत सरकार के यूनियन मिनिस्ट्री ऑफ MSME (Micro small and medium enterprises) के मुताबिक एक साल का माल बनाने का कुल लागत 2 करोड़ 78 लाख होगा। एक माह के काम का लागत 22 लाख होगा तो 12 महीने का कुल लागत 2 करोड़ 64 लाख होगा। इसके इलावा निवेश पे लगे ब्याज, टेक्स इत्यादि को लेकर 14 लाख हुए इस तरह से एक साल का कुल लागत 2 करोड़ 78 लाख होगा।

कितनी होगी कमाई

आपने देखा के सालाना 6000 CCTV कैमरा लगाने के प्रोजेक्ट पे एक साल का कुल लागत 2 करोड़ 78 लाख होता है, रिपोर्ट के मुताबिक एक CCTV लगाने का कीमत 5200 भी निर्धारित किया जाता है तो एक साल का कुल टर्न ओवर 3 करोड़ 12 लाख का होगा। सालाना कुल लागत 2 करोड़ 78 लाख होता है और सालाना कुल टर्न ओवर 3 करोड़ 12 लाख का हुआ। इस तरह साल भर में कुल 34 लाख का मुनाफा हुआ। यानी के एक का महीने का पौने तीन लाख। CCTV लगवाने का लागत उसमे इस्तेमाल होने वाले माँनीटर, वायर, और हार्ड डिस्क इत्यादि पे निर्भर करता है। किसी छोटे घर या दुकान में CCTV कैमरा लगवाने के लागत चैनल के हिसाब से होता है।

क्या होता है चैनल-

ये एक सेटअप होता है जो 4 के मल्टीपल में आता है जैसे 4 चैनल सेटअप 8 चैनल सेटअप, 12 चैनल सेटअप इत्यादि। अगर आप 4 या 3 कैमरा लगवाते है तो सबको को एक साथ मोनिटर करने के लिए 4 चैनल वाला सेटअप चाहिए। अगर आप 5 या 6 कैमरा लगवाते हैं तो आपको 8 चैनल वाला सेटअप लगाना होगा।

CCTV कैमरा बनाने की प्रक्रिया

सबसे पहले कच्चा माल बाज़ार से खरीद कर या विदेश से आयात कर लाने के बाद, इस कच्चे माल की निरक्षण की जाती है। इसके बाद mounting की प्रक्रिया को करते है, अर्थात CCD कैमरा, PCB सर्किट, सॉकेट, स्विच इत्यादि को एक दूसरे से जोड़ते हैं। ये सबको एक दूसरे में जोड़ने के बाद अंदर की कनेक्टिंग करते हैं।

CCD कैमरा, PCB सर्किट, सॉकेट, स्विच इत्यादि को एक दूसरे से लिंक करने के बाद इसकी गुणवत्ता की जांच की जाती है। जांच में पास होने के बाद इन बनाए हुए CCTV कैमरे को पैकिंग कर मार्केट में डिस्पैच कर दिया जाता है। यह एक बहोत अच्छा बिज़नेस है आप चाहे तो 20 से 25 लाख निवेश कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। इसका ग्रोथ रेट भी बहोत अच्छा है और इसका डिमांड भी दिन व दिन बढ़ता जा रहा है।

CCTV कैमरा के कुछ प्रकार और उसके उपयोग।

1. Dome camera

ये सबसे ज्यादा उपयोग किये जाने वाला कैमरा है इस कैमरे को मुख्य रूप से लोग घर, दोकान, बस, कार , इत्यादि जगहों पे लगाया जाता है।

2. IR CAMERA (infrared Camera)

इस प्रकार के कैमरा को नाईट विज़न कैमरा भी बोलते है इसका इस्तेमाल रात के गतिविधियों पे नज़र रखने के लिए किया जाता है।

3. Waterproof camera

इस कैमरा का इस्तेमाल खुले जगहों पे किया जाता है इसको ज्यादातर सिग्नल और सड़क किनारे लगाया जाता है, इस कैमरे में खास तरह के कवर लगे होते जो पानी से कैमरा को बचाते हैं। ये कैमरा बहोत मज़बूत होते हैं।

4. Internet Protocol camera (IP CAMERA)

इस प्रकार के कैमरा को इंटरनेट द्वारा मोबाइल से लिंक किया जा सकता है।

5. PTZ Camera

यह एक खास तरह का कैमरा है, इस कैमरा के द्वारा दिशा परिवर्तन या ज़ूम किया जा सकता है। इस कैमरा का इस्तेमाल TV स्टूडियो या खेल के मैदान में किया जाता है।
6. Day and night camera

ये कैमरा दीन के उजाले में कलर वीडियोग्राफी करती है, और रात में या कम रौशनी में ब्लैक एन्ड व्हाइट वीडियोग्राफी करता है।

7 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: