घर बैठे पापड़ बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | Papad Making Business Plan in Hindi

हमारा भारत हमेशा से अपने पकवानों और उसके साथ मे इस्तेमाल होने वाले अचार, सलाद, पापड़ जैसी dishes के लिए लोकप्रिय है, यहां पकवानों के साथ दिए जाने वाले पापड़ हो या अचार पकवानों के स्वाद को और बढ़ाने और पकवानों को और आकर्षक दिखाने में मददगार होते है, हमारे भारत मे ये पापड़ की मांग हमेशा से रही है, तो आज हम पापड़ व उससे जुड़े बिज़नेस के विषय मे पूरी जानकारी जानेंगे, ये जानकारियां निम्न बातो पर होंगी-

पापड़ क्या है, पापड़ का बिज़नेस क्या होता है, पापड़ का बिज़नेस के लिए raw material क्या होते है,पापड़ बिज़नेस से जुड़ी जरूरी जानकारी क्या है, पापड़ बिज़नेस में इस्तेमाल मशीन कौन सी होती है पापड़ बिज़नेस की मार्केटिंग कैसे करे, घर पर पापड़ बिज़नेस कैसे शुरू करे,पापड़ बिज़नेस में कितनी लागत लगती है, पापड़ बिज़नेस में मुनाफा कितना है

पापड़ क्या है

पकवानों के साथ इस्तेमाल किये जाने वाले ऐसे साइड पकवान जो बेसन, दालो, व मासालो को मिलाकर बनाये जाते है, व पकवान के स्वाद व आकर्षण को बढ़ाने में इस्तेमाल किये जाते है उन्हें पापड़ कहते है।

पापड़ भारत के पकवानों की विशेषता है, जो हर कोई पसंद करता है, इन पापडो को बच्चे से लेकर बूढ़े सभी लोग पसंद करते है, व इसकी लोकप्रियता व मांग के चलते इसे इसकी विदेशों तक मांग होती है।

पापड़ बिजनेस क्या होता है

पापड़ो को बेचकर मुनाफा कमाना ही पापड़ बिजनेस कहलाता है, पापड़ की मांग को देखते हुए आज वर्तमान में प्रत्येक शहर हो या गांव हर जगह इसकी मांग है, जिसके चलते पापड़ बिज़नेस एक बहुत अच्छा बिज़नेस का विकल्प है, जिसमे कम लागत व ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता है।

पापड़ बिजनेस शुरू करने के लिए जरूरी जानकारियां क्या है

किसी भी बिजनेस को करने से पहले जरूरी जानकारी होना चाहिए।

ये जानकारी निम्लिखित है-

  • आस पास के लोगो की पापड़ की पसंद व मांग की जानकारी रखना।
  • Competiter  की बिज़नेस की जानकारी रखनी चाहिए, जिससे उसकी गलतियों से सिख ले, और उसके बिज़नेस की सफलता के पीछे की वजहों को जानने की कोशिश करनी चाहिए ।
  • मार्किट में पापड़ की प्राइस की सही जानकारी रखनी चाहिए।
  • मार्केटिंग स्ट्रेटेजी को अच्छी तरह समझकर अपने बिज़नेस की अच्छी मार्केटिंग करने के तरीकों को जानकारी रखनी चाहिए।
  • पापड़ बिज़नेस की सस्ती व ज्यादा उत्पादन वाली मशीन की जानकारी रखनी चाहिए जिससे कम लागत में ज्यादा काम करके मुनाफा कमाया जा सके।

घर पर पापड़ बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करे

किसी भी बिज़नेस को करने का एक बेहतर तरीका होता है, व कह सकते है, पूरा क्रमबद्व प्रोसेस होता है जिसके द्वारा बिज़नेस को शुरू  किया जाता है।

इसी प्रकार पापड़ बिजनेस को शुरू करने के निम्न प्रोसेस या पद है-

  • जगह का चयन करना
  • बिजनेस से जुड़े रजिस्ट्रेशन व लाइसेंस बनवाना
  • बिजनेस का सेटअप तैयार करना
  • पापड़ बनाने वाली मशीन खरीदना
  • बिज़नेस की मार्केटिंग करना
  • Raw material को खरीदना
  • पापड़ो को बनाना या तैयार करना
  • थोकविक्रेता या आस पास होटलों या सोसाइटी के ग्राहको को बेचना
  • मुनाफा कमाना

1) जगह का चयन

किसी भी बिजनेस के लिए सबसे जरूरी चीज उसके लिए जगह का सही चयन होना है, क्योंकि अगर हम ऐसी जगह चुनेंगे जहा पापड़ की मांग न हो, या उसके बिजनेस को करने में मुश्किल होगी तो बिज़नेस का सफल होना मुश्किल हो जाता है।

अर्थात जगह मांग वाली, साधन, व आस पास मार्किट, थोकविक्रेता , व अन्य चीज़े जो बिज़नेस की नींव है, होना जरूरी है।

2) बिज़नेस से जुड़े रजिस्ट्रेशन व लाइसेंस बनवाना

पापड़ बिजनेस को घर से शुरू करने पर बहुत लोग रजिस्ट्रेशन नही कराते, लेकिन आप जब भी कोई बिज़नेस शुरू करे, उसकी ब्रांड बनाये व मार्किट में मान्य व कानूनी नियमो के पालन हेतु लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन जरूर करवाये।

पापड़ बिजनेस में रजिस्ट्रेशन व लाइसेंस निम्न है-

शॉप का रजिस्ट्रेशन

(कानूनी तौर पर एक बिजनेस की जगह का प्रूफ है की जमीन व जगह आपकी है/रेंट पर शॉप है तो रेंट एग्रीमेंट)

Udhyog रजिस्ट्रेशन

(किसी भी बिजनेस के लिए जरूरी रजिस्ट्रेशन है)

Fssai लाइसेंस 

(कोई भी खाने से जुड़ी चीज़ों का बिज़नेस में जरूरी)

ये मुख्य लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन होते है, जो किसी भी पापड़ के बिजनेस करने वाले व्यक्ति को करना चाहिए।

3) बिजनेस का सेटअप तैयार करना 

पापड़ बिजनेस को शुरू करने के लिए जरूरी सेटअप तैयार करना बहुत जरूरी है, जैसे-पापड़ बनाने से जुड़ी सामग्री रखने हेतु चैम्बर, फर्नीचर, डेस्क, कंप्यूटर, बिजली कनेक्शन  आदि जरूरी सामग्री या सेटअप के लिए जरूरी है।

4) पापड़ बनाने वाली मशीन खरीदना

पापड़ को बनाने के लिए इसकी मशीन का खरीदना भी बहुत जरूरी होता है, बहुत लोग ये काम शुरू में हाथों से ही करके करते है, लेकिन अच्छे मुनाफे और ज्यादा उत्पादन के लिए लोग मशीनों का इस्तेमाल करते है।

पापड़ बनाने के लिए निम्न मशीन होती है-

  • Pulblizer machine (सारे मसाले व batter को pulb बनाने के लिए)
  • Floor mill machine
  • Grinder machine (मासालो को पीसने या कोई सामग्री पीसने के लिए)
  • Papad making machine (पापड़ को ज्यादा बनाने में इस्तेमाल की जाने वाली मशीन)
  • Dryer (पापड़ सुखाने के लिए)
  • पैकिंग मशीन (पापडो को पैक करने के लिए)

ये सभी जरूरी मशीन होती है, जिनका इस्तेमाल लोग पापड़ बनाने में करते है।

5) पापड़ बिजनेस की मार्केटिंग करना

  • किसी भी बिजनेस की सफलता उसके मार्केटिंग पर निर्भर करती है, जैसे आपके पास बहुत कौशल व कला है, लेकिन कोई जाने ही नही तो आप अपने कला को और नही आगे बढ़ा पाएंगे, वैसे ही बिजनेस को कितना भी अच्छा कर लो , लेकिन अगर लोग ही आपके बिजनेस को नही जानेगे तो सब बेकार है।
  • इसलिए बिजनेस की मार्केटिंग के लिए सोशल नेटवर्किंग व वेबसाइटों का इस्तेमाल करे, व इसके अतिरिक्त पोस्टर बैनर, बिजनेस कार्ड, पम्पलेट बनवाये और आस पास उसे लगवाए जिससे ग्राहको को आकर्षित किया जा सके। इन बैनर, पम्पलेट पर जगह का नाम, address, contact number, brand name के साथ जरूर बनवाये, जिससे लोग आपके ब्रांड को पहचाने व बिजनेस को मार्किट में नाम मिल सके।

6) Raw material को खरीदना

पापड़ बिजनेस के लिए उसकी raw material भी मार्केटिंग के अलावा सफलता की एक नीव की तरह है, क्योंकि raw material पर ही पापड़ का स्वाद निर्भर करता है, अच्छा माल अच्छा स्वाद।

पापड़ बनाने के लिए raw material निम्नलिखित है-

  • बेसन
  • अलग अलग दाले
  • मसाले
  • नमक
  • सोडा (सोडियम बाई कार्बोनेट)
  • पानी

व जरूरत के अनुसार अन्य सामग्री भी इस्तेमाल कर सकते है।

7) पापड़ को तैयार करना या बनवाना

Raw material के द्वारा मशीनों व वर्कर की मदद से ज्यादा से ज्यादा पापड़ को बनाये, जिसे आगे विक्रेताओं को बेचना होता है।

पापड़ बनाने के लिए प्रोसेस-

  • सभी मटेरियल (नमक, मसाले, दालो को ग्राइंडर द्वारा पीसकर, सोडा आदि) को पानी की मदद से मिक्स करके थोड़ा कड़ा से batter बना ले।
  • फिर एक एक लोई बनाकर पापड़ मशीन पर रखते या लगाते हुए पापड़ बना ले।
  • फिर ड्रायर की मदद से पापड़ को सुख ले।
  • इस प्रकार पूरा पापड़ तैयार कर ले।

8) पापड़ो को थोकविक्रेता व होटल या सोसाएटी में ग्राहको को बेचे

तैयार पापडो को थोकविक्रेता या आस पास के होटल , ढ़ाबे, सोसाइटी में बेच दे, जहा पापडो की मांग सबसे ज्यादा हो।

9) मुनाफा कमाना

पापड़ो को बेचकर अच्छा मुनाफा थोकविक्रेता व ग्राहको से बनाये, और पापड़ के इस बिज़नेस को आगे बढाने की कोशिश करते रहे।

पापड़ बिजनेस में सफलता के टिप्स क्या है

पापड़ बिज़नेस में सफलता के टिप्स निम्न है, जिसके द्वारा अपने बिज़नेस को सही दिशा की तरफ ले जाया जा सकता है-

  • घरों में जहा भी पापड़ बनाने का काम कर रहे उस जगह को साफ सुथरा रख्खे, जिससे ग्राहको को अपनी सफाई के प्रति आकर्षित किया जा सके।
  • पापड़ को कोशिश करे धूप में न सुखाए, क्योंकि इससे उसके स्वाद में फ़र्क़ आ जाता है, या तो ड्रायर या कम धूप दिखाकर, या अंदर में खुली जगह में सुखाए, जिससे स्वाद पर असर न आये।
  • पापड़ को ब्रांड जरूर दे, क्योंकि बिना ब्रांड का पापड़ बहुत से लोग खरीदना नही पसंद करते है।
  • पापड़ को बनाने में स्वाद को हमेशा एक सा बनाये, जिससे आपके पापड़ का एक यूनिक स्वाद के कारण मार्किट में इसका बिज़नेस अपनी पहचान बनाकर ग्राहको को आकर्षित कर सके।
  • पापड़ सूखाने वाली जगह धूल गर्दे, मिट्टी जैसी चीज बिल्कुल न हो जिससे पापड़ में उसके मिल जाने से किरकिराहट आ जाएगी, जिससे पापड़ की स्वाद अच्छा होकर भी लोग नही लेंगे।
  • ज्यादा उत्पादन के लिए घर के उन सदस्यों को अपने काम मे लगवा ले, जिन्हें पापड़ बिज़नेस व उसे बनाने की समझ हो।
  • मार्केटिंग में पैसा लगाने में सोचे नही, मार्केटिंग ही बिज़नेस की नींव है।
  • पापड़ को पैक करने में अच्छी क्वालिटी की बैग का इस्तेमाल करे, जिससे आपके ब्रांड की तरफ लोग खिंचे।

पापड़ बिजनेस में कितनी लागत लगती है

पापड़ बिजनेस की लागत पापड़ बनाने वाली मशीन, raw material, मार्केटिंग, सेटअप की सामग्रियों आदि के आधार पर लगती है।

  • मशीन कीमत – 10000 से 1 लाख तक की कीमत हो सकती है
  • Raw material – 5000 से 15000 या बड़े उद्योगों में इससे भी ज्यादा हो सकती है
  • सेटअप की सामग्रियों में-10000 से 20000 तक हो सकती है जिसमे मासालो के डिब्बे, चैम्बर, डेस्क, फर्नीचर, बिजली कनेक्शन, कंप्यूटर व अन्य सामग्री होती है।
  • मार्केटिंग में- 2000 से 5000 तक जिसमे बैनर, पम्पलेट, add करना सोशल साइट पर होता है।

शुरुआत में 20000 से 25000 के लगभग से बिज़नेस शुरू कर सकते है

फिर धीरे धीरे बड़े पैमाने पर करने में लागत और बढ़ा सकते है।

पापड़ बिजनेस में मुनाफा कितना होता है

पापड़ बिजनेस में हम 1kg पापड़ पर 20 रुपये के करीब बचत या मुनाफा कमा सकते है।

यदि एक दिन में 10kg पापड़ की बिक्री हुई तो मुनाफा 20 रुपये के हिसाब से 200र मुनाफा शुरुआती दौर में एक दिन के हिसाब से होगा

तो महीने का 6000 के लगभग तक मुनाफा शुरुआत में हो सकता है, धीरे धीरे की सफलता व पहचान बढ़ने से ये मुनाफा बढ़कर 20000 से 25000 तक भी ये मुनाफा हो सकता है, बड़े शहरों में ये मांग के चलते पापड़ बिजनेस के बड़े उद्योगों में लाखो में मुनाफा देने वाले बिज़नेस है।

इस प्रकार पापड़ बिजनेस के द्वारा लोग अपने घरों से बिज़नेस की शुरुआत कर सफलता पाकर बड़े पैमाने पर भी उद्योग कर सकते है।

कम खर्च वाला ये एक बिज़नेस एक अच्छा विकल्प होता है, जिसे गृहिणी से लेकर कोई भी करके अपने भविष्य को बेहतर बना सकता है।

इसके अतिरिक्त कुछ सवाल ऐसे जो ज्यादातर पापड़ बिजनेस में रुचि लेने वाले लोगो द्वारा पूछे जाते है, वो निम्न है-

Q : पापड़ कितने प्रकार के होते है?

पापड़ निम्न प्रकार के होते है-

उड़द दाल पापड़, मूंग दाल पापड़, आलू पापड़, साबूदाना पापड़, तिल पापड़, बाजरा पापड़, बेसन पापड़, मसाला पापड़, व अन्य पापड़ की बहुत प्रकार होते है।

Q : पापड़ लाल क्यों पड़ जाते है?

पापड़ में लाल मिर्च डालने से पापड़ लाल पड़ जाते है, इसलिए लालमिर्च नही या बहुत कम डालनी चाहिए।

Q : पापड़ को खाने के क्या फायदे है?

पापड़ खाने को पचाने में हमारी मदद करता है, अर्थात पापड़ पाचन तन्त्र को एक्टिव करता है।

Q : पापड़ उद्योग कैसे उद्योग के अंतर्गत आते है?

पापड़ उद्योग लघु उद्योगों के अंतर्गत आते है, जिन्हें शुरुआत में लघु रूप से करके बढ़ाया जा सकता है।

Q : पापड़ बनाने की मशीन कैसे ले?

पापड़ बनाने की मशीन ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों तरीके से ले सकते है।

ऑफलाइन थोकविक्रेता व बड़ी मार्किट में जाकर मिल सकती या

ऑनलाइन इन निम्न वेबसाइटों पर देख सकते है-

https://www.panipurimachine.in/papad-making-machines.html

Thanks

अन्य पढ़े :

अचार बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें

आलू चिप्स बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

मसाला (Spice) का बिजनेस कैसे शुरू करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: