मसाला (Spice) का बिजनेस कैसे शुरू करें | How to Start a Spices Business In Hindi

Masala business ideas | मसाले का बिजनेस कैसे शुरू करें |

हमारा देश भारत अपने बेहतरीन व अलग अलग तरह के पकवानों के लिए हमेशा से ही विश्वप्रसिद्ध रहा है, और इसकी खास वजह पकवानों में इस्तेमाल किये जाने वाले मसाले ही रहे है, जिसके द्वारा पकवानों में अलग स्वाद, सुगंध से ही लोगो को अपने तरह आकर्षित करने में अहम भूमिका निभाता है, और इसीलिए मासालो की यहाँ बहुत ज्यादा मांग रही है, जिसके कारण भारत व अन्य जगहों पर भी मासालो का बिज़नेस हमेशा से ही एक अच्छा विकल्प रहा है, तो आज हमसब मसाला बिजनेस से जुड़ी जानकारियों के विषय मे जानेंगे, जो निम्न है-

मसाला क्या है, मासालो के प्रकार कितने होते है, मसाला बिजनेस क्या होता है, मसाला बिजनेस के लिए जरूरी जानकारियां क्या है, मसाला बिजनेस शुरू करने में कौन से लाइसेंस लगते है, मसाला बिज़नेस में कौन सी मशीने होती है, मसाला बिज़नेस कैसे करे, मसाला बिजनेस में कच्चा माल क्या है,मसाला बिजनेस में मार्केटिंग कैसे की जाती है, मसाला बिजनेस में कितनी लागत लगती है,मसाला बिजनेस में कितना मुनाफा होता है

मसाला क्या है

किसी भी व्यंजन को सुगंधित व स्वादिष्ट बनाने हेतु इस्तेमाल किये जाने वाले चीज़े मसाला कहलाती है, भारत मे पकवानों में मुख्यतः इन मासालो का ही इस्तेमाल कर खाने को एक अलग स्वाद व सुगंध दी जाती है, जिससे यहा के पकवानों का विश्व भर में लोकप्रियता है, व बाहर के लोग भी यहा आकर यहां के पकवानों को स्वाद किये बिना नही जाते है।

मसाले कितने प्रकार के होते है

ISO के अनुसार विश्व भर में 107 मसाले सूची के अंतर्गत है, जिनमे से 75 मसाले इंडिया में पाए जाते है, इस प्रकार मासालो की अलग अलग किस्म भी यहा मौजूद है।

इस प्रकार मासालो के प्रकार निम्न है-

  • पत्ती के प्रकार के मसाले
  • बीज के प्रकार के मसाले
  • फूल या फल के प्रकार के मसाले
  • मूल प्रकार के मसाले

1) पत्ती के प्रकार के मसाले 

वे मसाले जो पत्ती के अंतर्गत आते है, जैसे- तेजपत्ते, करी पत्ते, तुलसी, पुदीना लीव्स, रोज़मेरी लीव्स, पिपरमेंट व अन्य ।

2) बीज के प्रकार के मसाले

वे मसाले जो बीज के अंतर्गत आते है, जैसे-मेथी, सरसो, पोस्ता, अनारदाना व ऐसे ही अन्य बीज प्रकार मसाले आदि।

3) फूल या फल प्रकार मसाले

ये मसाले किसी फल या फूल के अंतर्गत आते है, जो मासालो के रूप में इस्तेमाल किये जाते है, जैसे- जायफल, कोकम, जुनिपर, गदा  व अन्य।

4) मूल प्रकार के मसाले

ऐसे मसाले मूल यानी जड़ के अंतर्गत आते है, जैसे -प्याज़, लहसुन, हल्दी, लवेज, झंडा, अदरक, घोड़ा मूली व अन्य जड़ प्रकार मसाले।

इसके अतिरिक्त कुछ मसाले ऐसे होते है, जो बीज व फल दोनों में ही नही आते, जैसे- कालीमिर्च, लौंग, अमचूर, हींग अन्य।

मसाला (Spice) बिजनेस क्या होता है

मासालो का तैयार कर उन्हें मार्केट में बेचकर मुनाफा कमाना ही  बिज़नेस कहलाता है, इन बिज़नेस की बढ़ती मांग के चलते बहुत से व्यक्ति इस बिज़नेस में रुचि ले रहे है, व बिज़नेस कर मुनाफा कमा रहे है, क्योंकि ये एक ऐसा बिज़नेस है, जो इंडिया में कभी भी कम नही होगा, मसाला भारत के पकवानों की विशेषता है, जिसके चलते इसकी मांग बढ़ती ही रहती है।

मसाला बिजनेस को शुरू करने के लिए जरूरी जानकारियां क्या है

किसी भी बिजनेस को करने से पहले कुछ महत्वपूर्ण बाते होती है, जिन्हें ध्यान में रखकर बिजनेस को शुरू करने से बिज़नेस की सफलता के चांस बढ़ जाते है।

इस प्रकार मसाला बिजनेस को भी सफल रूप से शुरू करने के जरूरी जानकारियां निम्न है-

  • मार्किट में मासालो की मांग का पता करना, की मासालो में किनकी मांग सबसे ज्यादा है, किनकी कम।
  • मार्किट में मासालो की प्राइस की सही जानकारी रखना
  • जगह के अनुसार कौन कौन सी मासालो की उपज ज्यादा है व किनकी  ये पता लगाना।
  • मार्केटिंग skill  इस्तेमाल कर अपने ब्रांड को पहचान जरूर दिलाये
  • कोशिश करे मासालो के raw material  सीधे उनकी उपज करने वाले किसानों से ले, जिससे ज्यादा मुनाफा के चांस बने।
  • मसाला बिज़नेस से जुड़े सभी लाइसेंस को तैयार करवाना, जो आपको एक सफल बिज़नेस में मदद करेंगे।
  • मासालो से जुड़ी मशीनों को शुरू में सस्ता और अच्छा क़्वालिटी का लेने की कोशिश करे, जिससे बेहतर क़्वालिटी के मसाले तैयार हो,मशीनों की सही जानकारी रख्खे, कौन सी मशीन सबसे अच्छी और सस्ती दोनों है।
  • मासालो के तैयार होने के बाद उसे सही whole seller  व अन्य ग्राहकों तक पहुचाना।

इन सभी जानकारियों को रखकर एक मसाला बिज़नेस की अच्छी शुरूआत की जा सकती है, व लाखो तक मुनाफा भी कमाया जा सकता हैं।

मसाला बिजनेस को कैसे शुरू करे

किसी भी बिजनेस को शुरू करने में उसका एक प्रॉपर तरीका व प्रॉपर जानकारी के साथ ही उसे शुरू करना चाहिए।

मसाला बिज़नेस को शुरू करने के कुछ पद निम्न है-

  • मसाला बिजनेस से जुड़ी सही जानकारी प्राप्त करे।
  • बिजनेस के लिए जमीन व जगह का चयन करें
  • लाइसेंस को तैयार करवाये
  • मसाला बिजनेस की मशीनों का खरीदे व सेटअप करे
  • बिजनेस को ब्रांड देकर, उसकी मार्केटिंग करे
  • मासाला बिजनेस के लिए raw material लेना
  • मसाला तैयार करे
  • थोकविक्रेता व अन्य कंपनियों,  ग्राहको तक अपना तैयार माल पहुचाना
  • मुनाफा कमाना

1) मसाला बिजनेस से जुड़ी सही जानकारी प्राप्त करे।

मसाला बिजनेस की जानकारी के अंतर्गत मासालो की मांग, कीमत, आस पास की मसाला दुकानों की सभी जानकारी, raw material कहा से ज्यादा से ज्यादा मसाला विक्रेता उठाते है, व ऐसे ही अन्य जानकारी लेकर इस बिज़नेस को शुरू करे।

2) मसाला बिजनेस के लिए जमीन व जगह का चयन करें

किसी भी बिजनेस के लिए सही जगह व जमीन का चयन करना उस बिज़नेस को सही दिशा में ले जाना है, क्योंकि अगर आप ऐसी जगह बिज़नेस करेंगे जहा लोगों की पहुच से दूर हो, एक ही जगह बहुत सारी विक्रेता हो, या ऐसी जगह जहां मासालो की मांग उतनी न हो जितनी होनी चाहिए, तो ऐसे में बिज़नेस की शुरूआत में ही लॉस होने के चान्सेस बढ़ जाते है, इसलिए हमेशा सही जगह का चुनाव करे।

3) लाइसेंस को तैयार करवाये

किसी भी बिजनेस के लिए कुछ जरूरी लाइसेंस व दस्तावेज जरूरी होते है, जो उस बिज़नेस को मान्य व कानूनी रूप से स्वीकृती देंते है, ऐसे है लाइसेंस मसाला बिजनेस में भी जरूरी है, 

जो निम्न है-

  • Udhyog रजिस्ट्रेशन
  • बिजनेस का ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन(जिससे आपके ब्रांड को एक मान्य पहचान मिले, व दूसरा उसे न ले सके)
  • fssai  (भारत सरकार के खाद्य विभाग से लाइसेंस) जो किसी भी खाने की चीज़ों के बिज़नेस के लिए जरूरी होता है।
  • कमर्शियल बिजली कनेक्शन (जिससे बिजली बिल में कमी आये, इसमें नार्मल बिल से कम बिल आती है)।

मसाला बिजनेस की मशीन ख़रीदे व सेटअप करे

किसी भी बिज़नेस से जुड़ी अलग अलग इस्तेमाल में आने वाली मशीनें होती है, ये मशीनें बड़े से छोटे दोनों तरह के बिज़नेस में होती है, इन मशीनों में कुछ जरूरी मशीन निम्न है-

  • क्लीनर मशीन (कंकड़ व पत्थर अलग करने के लिए)
  • ड्रायर मशीन (मासालो को सुखाने के लिए)
  • ग्राइंडर मशीन (मासालो को पीसने के लिए)
  • बैग सीलिंग मशीन (पीसे हुए मासालो को बैग में पैक करने के लिए)

ये सभी जरूरी मशीन मसाला बिज़नेस में इस्तेमाल की जाती है, व बिज़नेस द्वारा मुनाफा कमाया जाता है, इन सभी मशीनों का अच्छे से सेटअप करे जिससे आसानी से काम किया जा सके।

बिजनेस को ब्रांड देकर, उसकी मार्केटिंग करे

किसी भी बिज़नेस में सफलता के लिए सबसे जरूरी है अपना ब्रांड बनाना, और उसको मार्केटिंग के जरिये ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुचाना, मासालो की मार्केटिंग के लिए आज कल सोशल प्लेटफॉर्म पर add कर व अलग अलग तरीके से अपने ब्रांड की मार्केटिंग करे, सोशल साइट्स जैसे – फ़ेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम व अन्य सीसीएल नेटवर्क के जरिये , बैनर, पोस्टर add  कर ज्यादा ग्राहकों को अपने तरफ आकर्षित करे।

मसाला बिजनेस के लिए कच्चे माल खरीदना

मसाला बिज़नेस के लिए कच्चे माल को या तो किसानों से सीधे या थोकविक्रेता से खरीद कर उस जगह पहुँचाया जाता है, जहां उसे पिसना व तैयार करना होता है।

मसाला बिजनेस में कच्चे माल निम्न है-

  • धनिया
  • कालीमिर्च
  • जीरा
  • लौंग
  • इलाइची
  • दालचीनी
  • मेथी
  • हल्दी
  • लालमिर्च
  • जायफल

व अन्य जो भी मसाले तैयार करने होते है, उनको खरीदा जाता है, सभी मासालो का खड़ा रूप ही कच्चे माल के अंतर्गत आते है।

मसाला तैयार करे

मशीनों व मैन पावर की मदद से मासालो को कम समय मे ज्यादा से ज्यादा मसाला तैयार कर लिया जाता है, जिससे वो ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा सके।

थोकविक्रेता व अन्य कंपनियों,  ग्राहको तक अपना तैयार माल पहुचाना

मसाला तैयार होने के बाद उसे पैक कर अपने नजदीकी थोक विक्रेता व कंपनी जो मासालो की सप्लाई करे, व ग्राहको को मसाला बेचा जाता हैं।

मुनाफा कमाना

मासालो को बेचकर ग्राहको, बड़े बड़े कारखाने, थोकविक्रेता द्वारा मुनासिब मुनाफा कमाया जाता है, और अपने बिज़नेस को मार्केट में बढ़ाने की कोशिश की जाती है।

मसाला (Spice) बिजनेस में कितनी लागत लगती है

मसाला बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है, जिसे कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता है। मसाला बिजनेस में लागत बिजनेस के साइज यानी छोटे या बड़े उद्योग के आधार पर होता है, शुरुआत में इस बिजनेस को मशीनों व raw material को लेते हुए कुल 1 से 2 लाख के अंदर शुरू किया जा सकता है, व बाद में बिजनेस बढ़ने पर मशीनों व ज्यादा मात्रा में raw material खरीदने, मार्केटिंग व अन्य चीज़ों को लेकर लाखो रुपये भी लगाए जाते है।

मसाला बिजनेस में मुनाफा कितना है

मसाला बिजनेस में उद्योग की साइज के अनुसार ही मुनाफा है, अगर raw material सीधे किसानों से ले रहे ये मुनाफा में बढ़त कर सकता है मसाला बिजनेस में शुरुआत में छोटे उद्योग में 25 से 30 हज़ार माहींन मुनाफा कमाया जा सकता है, व बड़े पैमाने में ये बिज़नेस लाखो का मुनाफा देने वाला बिजनेस भी हो सकता है। इस प्रकार मसाला बिज़नेस से जुड़ी जानकारियां देने का हमने प्रयास किया जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस बिज़नेस को करके मुनाफा कमा सके।

इसके अतिरिक्त भी हम कुछ जरूरी प्रश्नों को देख लेते है जिसे बिज़नेस के इच्छुक लोग जानना चाहते है।

Q : मसाला बिजनेस में raw material क्या होता है?

मसाला बिजनेस में इस्तेमाल किये जाने वाले मसाले(जीरा, दालचीनी, कालीमिर्च, व अन्य) ही raw material होते है।

Q: मसाला बिजनेस के लिए कौन सी मशीने होती है?

मसाला बिजनेस में कम से कम 4 मशीन – क्लीनर, ड्रायर, ग्राइंडर, बैग सीलिंग मशीन सबसे मुख्य मशीन होती है।

Q: मसाला बिजनेस में लाइसेंस कौन से लगते है?

मसाला बिजनेस में मुख्यतः उद्योग रजिस्ट्रेशन, fssai लाइसेंस, बिजनेस के ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन मुख्य लाइसेंस होता है।

Q: मसाला बिजनेस में कितनी लागत लगती है?

मसाला बिजनेस में शुरुआत में लगभग 1 से 2 लाख के करीब लागत लगती है, व बड़े उद्योग में लाखों में लागत लगाई जा सकती है।

Q: मसाला बिजनेस में मुनाफा कितना होता है?

मसाला बिजनेस में शुरू में लगभग 25000 से 30000 माहीना तक मुनाफा कमाया जा सकता है।

Thanks

अन्य पढ़े :

Solar Panel बिजनेस कैसे शुरू करें

अचार बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें

आलू चिप्स बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: