इलेक्ट्रॉनिक रिपेयर शॉप बिजनेस कैसे शुरू करें | Electronics Repair Business plan in Hindi

इलेक्ट्रॉनिक रिपेयर शॉप एक ऐसा विचार है, जिससे आप घाटे में नहीं जाएंगे, आपको इलेक्ट्रॉनिक्स से प्यार है, तो आप घर में रह कर निसंदेह एक सरकारी नौकरी से ज्यादा कमा सकते हैं।

इलेक्ट्रॉनिक्स रिपेयर शॉप क्यों? 

आज कोई ऐसा घर नहीं है, जहां इलेक्ट्रॉनिक्स के सामान का उपयोग नहीं होता हो, अगर इलेक्ट्रॉनिक्स का सामान है, तो वो खराब होगा ही और खराब हुआ तो हम भारतीय नया सामान लेने से ज्यादा ठीक कराने को महत्व देते हैं, इसलिए इलेक्ट्रॉनिक्स रिपेयर शॉप का विकल्प बेहतर है।

इलेकट्रॉनिक्स रिपेयर शॉप कैसे खोलें? 

इलेकट्रॉनिक्स रिपेयर शॉप खोलने के कुछ जरूरी घटक 

1. इलेक्ट्रीशियन –       

शॉप में आप 1 लाख का रिपेयरिंग किट रख दीजिए और आप अच्छा इलेक्ट्रीशियन नहीं हैं, तो सब किया धरा बेकार है। इसलिए आपको अपने क्षेत्र का सबसे बेहतरीन इलेक्ट्रीशियन होना जरूरी है या फिर एक अच्छे इलेक्ट्रीशियन को वेतन या शेयर पर रखना चाहिए तभी आप इस बिज़नेस में सफल हो सकते हैं।

2. लोकेशन (जगह)-     

आप अच्छा काम करके जितना कमाते हैं, उस को दोगुना करने का अचूक तरीका यह है, कि आपका शॉप अच्छा जगह पर हो जहां पर लोगों की आवाजाही बनी रहती है।

3. नवीनतम तकनीक की जानकारी-

समय के साथ अगर आप नहीं बदलते हैं, तो समय आपको बदल देगा अर्थात नई तकनीक की जानकारी को अपनाना पड़ेगा जैसे ब्लैक एंड व्हाइट टीवी से कलर टीवी – एलसीडी – एलईडी – एमोलेड – प्लाज्मा – 4K टीवी तक बाजार में उपलब्ध है तो आपको भी सामान्य से 4K टीवी तक ठीक करने की जानकारी रखनी पड़ेगी। आप खुद को हमेशा नई नई तकनीक की जानकारी के लिए प्रेरित करें, अन्यथा आपका ग्राहक वापस हो जाएगा और ग्राहक वापस होने का मतलब है पैसा आपके हाथ से निकल कर किसी और के हाथ में चला गया और वो पैसा किसके हाथ में गया होगा जो समय के साथ चला था जिसने नई तकनीक की जानकारी का सम्मान किया था। इसलिए आप जिस भी वस्तु का रिपेयरिंग करते हैं उसका संपूर्ण जानकारी रखें, अगर जानकारी नहीं है तो आप उस चीज को पहले सीखे या उसकी जानकारी वाले इलेक्ट्रीशियन को ही अपने पास रखें।

4. उपकरण (रिपेयरिंग टूल किट)-

अगर एक इलेक्ट्रिशियन योद्धा है तो ठीक करने का उपकरण उसका हथियार है अगर सेना के पास हथियार ही नहीं है तो वह कैसे युद्ध करेगा। इसलिए अब अच्छी गुणवत्ता वाली सभी उपकरण खरीद लें, यह आपके जीवन भर का निवेश है क्योंकि “सस्ता रोए बार-बार, महंगा रोए एक बार” इसलिए खराब उपकरण ना लें क्योंकि कुछ ठीक करते वक्त ठीक करने वाला उपकरण ही बिगड़ जाए तो यार बहुत ही बुरा अनुभव रहेगा।

5. निवेश-

इस व्यवसाय में निवेश करने का फायदा यह है कि यह निवेश कुछ ही समय बाद आपकी संपत्ति बन जाती है।

निवेश करने का मुख्य स्थान

पहला निवेश – आपको खुद के ऊपर करना चाहिए क्योंकि आप अगर इलेक्ट्रॉनिक्स के बारे में कुछ नहीं जानते हैं, तो आपको थोड़ा बहुत जानकारी लेने के लिए सीखना चाहिए। ताकि आप जिस इलेक्ट्रीशियन को अपने साथ रखेंगे वह आपके साथ काम चोरी ना कर सके या फिर आप खुद ही इलेक्ट्रीशियन हैं, तो फिर यह सोने पर सुहागा की तरह है बस आपको नई – नई तकनीकि वस्तुओं की ठीक करने का तरीका सीख लेना चाहिए और इसमें आपको कुछ ज्यादा समय नहीं लगेगा क्योंकि आप को पहले से ही उससे संबंधित बहुत सी जानकारी है इसलिए बगैर कठिनाई के कम से कम समय में आप सीख सकते हैं।

+ दूसरा निवेश – आपको अच्छे रिपेयरिंग कीट के ऊपर करना चाहिए, जो सालों साल चले और काम के वक्त धोखा ना दे, और संपूर्ण रिपेयरिंग टूल लें ताकि कार्य करते वक्त आपको किसी विशेष टूल के बदले में अन्य टूल से काम ना चलाना पड़े।

+ तीसरा निवेश – आपको अच्छे जगह पर शॉप बनाने के लिए करना चाहिए, क्योंकि आपका अच्छा निवेश ही आप का अच्छा लाभ बनेगा।

+ चौथा निवेश – आपको अच्छा इलेक्ट्रीशियन के ऊपर करना चाहिए अगर आप अपने शॉप में अलग से इलेक्ट्रीशियन रखना चाहते हैं तो, क्योंकि व्यक्ति से ज्यादा उसका गुण का महत्व है, अगर कोई गुणवान है तो वह ₹10 या ज्यादा मजदूरी लेगा लेकिन वह गुणहीन व्यक्ति से एक ₹100 ज्यादा कमा कर आपको देगा। इसलिए यह निवेश हमेशा सोच समझकर खुली आंखों से करें, क्योंकि किसी स्वार्थी व्यक्ति को अपने साथ रख लेते हैं और वह आपके काम के प्रति समर्पित नहीं है तो आपका ग्राहक के रूप में पैसा किसी और के हाथों जाने में देर नहीं लगेगा।

+ पांचवा निवेश – अपने ग्राहकों के लिए करें अपने ग्राहक को हमेशा खुश रखने की कोशिश करें क्योंकि “हंसता चेहरा हमेशा लौटकर आता है” ज्यादा पैसा कमाने के लिए अगर आप ग्राहक का दोहन करते हैं तो वह समझ जाएगा कि मुझे ठग रहा है ऐसी स्थिति में वह कभी नहीं आएगा और नहीं किसी को आपके पास आने की सलाह देगा क्योंकि जब चाइनीज इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों का बाजार में भरमार हुआ तो रिपेयरिंग बिजनेस भी अचानक बढा और बहुत से इलेक्ट्रीशियन ने ग्राहकों को बरगला कर खूब दोहन किया। जिसका परिणाम यह हुआ कि यह व्यवसाय ज्यादा पैसा लेने के लिए बदनाम हुआ।     इसलिए उचित कीमत लेंगे तो लंबे समय तक यहां आप की बादशाहत बनी रहेगी और आप जानते ही हैं एक बार किसी क्षेत्र का बादशाह बने तो फिर आप अपने जीवन का राजा बनेंगे। 

+ छठा निवेश – प्रचार प्रसार में करें यह भी जरूरी है क्योंकि प्रचार से लोगों को जल्दी ही पता चल जाएगा कि हमारे आसपास अच्छा रिपेयरिंग सेंटर खुला है, हालांकि प्रचार प्रसार में आप ज्यादा खर्च ना करें लेकिन थोड़ा बहुत कर सकते हैं, जिससे आपका शॉप जल्दी ही आपको आय देने लगे इससे आप का मनोबल बढ़ेगा। यह शुरुआती दौर के लिए ठीक है बाकी पूरी जिंदगी आप प्रचार नहीं कर सकते हैं, क्योंकि पूरी जिंदगी आपका काम ही आपके शॉप के लिए प्रचार होगा लोग खुद से ही किसी को बताते रहेंगे कि उस शॉप में चले जाओ वहां पर अच्छा इलेक्ट्रीशियन है।

6. लाभ-

पहला लाभ – मुझे तो ऐसा लगता है, इलेक्ट्रिशियन का पर्यायवाची शब्द लाभ होना चाहिए, क्योंकि अगर आप एक अच्छा इलेक्ट्रीशियन हैं और आपने इलेक्ट्रॉनिक्स रिपेयर शॉप खोला है, तो आप लगभग 20 से 40 हजार में बेहतरीन शॉप रिपेयरिंग टूल इत्यादि का सेटअप लगा सकते हैं और आपको इतना कमाने में 1 महीना भी नहीं लगेगा, अगर आप ग्राहक की संतुष्टि के लायक काम करते हैं तो और आप उस ग्राहक के लिए जीवन भर का इलेक्ट्रीशियन बन जाते हैं जो आपके लिए लंबे समय तक लाभदायक साबित होगा आज के समय में किसी का विश्वास जीतना कितना कठिन है आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि आप किसी के लिए एक सेकंड नहीं रुकना चाहते हैं लेकिन अपने काम से किसी का विश्वास जीत लेते हैं तो वह ग्राहक आपके लिए 1 सप्ताह तक रुक सकता है, लेकिन वह आपसे ही ठीक कराएगा क्योंकि आपके ऊपर उस ग्राहक का विश्वास बना हुआ है आप सोच सकते हैं कि कोई आपको पैसा देने के लिए 1 सप्ताह तक आपका इंतजार कर सकता है

आज के समय में कितनी बडी बात है, और यह सिर्फ रिपेयरिंग सेक्टर में ही संभव है क्योंकि वह किसी और से ठीक कराएगा और फिर से खराब हो गया तो उसे दोबारा परेशानी हो जाएगा जो कि कोई भी उपभोक्ता जोखिम लेना नहीं चाहता है अगर आपके घर में चीनी खत्म हो गया है तो आप जिस दुकान से लेते हैं वहां नहीं मिला तो आप दूसरा दुकान से ले लेंगे लेकिन आपका सामान खराब हो गया है तो आप वहीं ठीक कराना चाहेंगे जहां पर आपका विश्वास है।

दूसरा लाभ – आप खाली समय में होम सर्विस भी कर सकते हैं, अतिरिक्त खर्च लेकर जो आपका एक्स्ट्रा इनकम के रूप में होगा।

तीसरा लाभ – जो भी खराब हुए कीट के बदले में नया कीट आप लगाएंगे उसकी कमाई भी अलग से होगी जो कि सर्विस के साथ साथ सेल भी हो रहा है, क्योंकि कोई कीट खराब हुआ तो उसे दूसरे दुकान से खरीद कर ग्राहक नहीं लाते हैं वह कहते हैं आप ही लगा दो जिससे आपकी शॉप में बिक्री भी बढ़ती है।

चौथा लाभ – बहुत से ग्राहक अपना खराब सामान छोड़ कर चले जाते हैं या फिर कम या औने पौने कीमत पर आपको ही बेच देते हैं, जिसका बाकी किट आप दूसरे ग्राहक के खराब हुए उपकरण के कीट के बदले में कम कीमत या नये दाम पर लगा कर बेच देते हैं यह भी आप का लाभ का एक बेहतरीन सौदा होता है।

ध्यान रखने योग्य बातें

+ ग्राहक का नाखुश ना करें
+ इलेक्ट्रॉनिक रिपेयरिंग में इतना मार्जिन होता है कि ग्राहक आपको कितना भी कम देगा लेकिन आपको हानि नहीं होगा.
+ अगर ग्राहक एक बार कम लाभ देगा तो कोई बात नहीं अगली बार वो ज्यादा लाभ देगा आपको इसलिए अगली बार भी उसे आने का मौका दें
+ अगर ग्राहक आपको कम पैसा देकर गया है, लेकिन वह खुश था तो वह खुद इतना प्रचार कर देगा कि आपको पता भी नहीं चलेगा और 4 गुना ज्यादा लाभ हो जाएगा.
+ कभी भी रिपेयरिंग में घटिया पार्ट पुर्जा का उपयोग ना करें क्योंकि 50 रुपया बचाने के चक्कर में आपके शॉप का छवि खराब हो सकता है

अन्य पढ़े :

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें

रेलवे स्टेशन में दुकान कैसे खोले

घर बैठे ऑनलाइन बिजनेस कैसे करें

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: