आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कैसे बने?

Anganwadi worker kaise bane – आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भूमिकाओं और जिम्मेदारियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की योग्यता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता चयन प्रक्रिया व सैलरी की पूरी जानकारी

आंगनवाडी एक सरकार के अधीन केन्द्र होता है। भारत मे आंगनबाड़ी केन्द्रो की शुरूआत 1985 मे की गई थी। भारत मे बाल विकास सेवा कार्यक्रम के माध्यम से आंगनबाड़ी केन्द्रो की शुरूआत की गई थी। आंगनबाड़ी केन्द्रों के बनाने का उद्देश्य भारत में राज्य सरकार की मदद करना है ओर साथ गर्भवती महिलाओ को कुपोषण से बचाने के लिए भी इसकी स्थापना की गई है। भारत में 1985 में भारत सरकार द्वारा स्थापना की गई थी। आंगनबाड़ी का मुख्य अर्थ है ‘‘आंगन आश्रय’’।

गर्भवती महिलाओं को बेहतर परामर्श देने के लिए और उन्हें समय पर पोषण हेतु शिक्षा, स्वास्थ्य सम्बंधित परामर्श ओर साथ ही पूव शिक्षा सम्बंधित परामर्श भी दिया जाता है। अगर आप भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनने की सोच रहे है या आपको ऐसा लगता है की आप आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने में सक्षम है तो आप हमारे इस लेख को अंत तक पढे ताकि आपको इसके बारे मे बेहतर जानकारी मिल सके। एक ऐसा स्थान जहां पर महिलाओं को स्वास्थ्य एवं पोषण से सम्बंधित जानकारी दी जाती है उसे आंगनबाड़ी केन्द्र कहा जाता है और जो महिला प्रशिक्षण देती है उसे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कहा जाता है।

आंगनबाड़ी केन्द्र के बारे में यह भी कहा जाता है की एक ऐसा स्थान जहा पर बच्चो को ध्यान रखा जाता है उन्हे पढाई करवाई जाती है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को एक शिक्षिका भी कहा जाता है क्योंकि यह छोटे बच्चो ओर गर्भवती महिलाओ को शिक्षा देती है।

कौन होती है आंगनबाड़ी कार्यकर्ता? ( Who can be the Angwanwari Worker ) ?

जैसा की हमने पहले की पढा है कि आंगनबाड़ी केन्द वह केन्द्र होता है जहा गर्भवती महिलाओ ओर छोटे बालको व बालिकाओ को पढाते है। वही अगर आप आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की बात करते है तो यह वो महिलाएं है तो जो उन केन्द्रो मे इन महिलाओ ओ बच्चो को शिक्षा देते है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की बात करे तो यह आंगनबाड़ी केंद्र का संचालन करते है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में केवल महिलाएं ही होती है।

कैसे बने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ? ( Who can become Aandanwari Worker )

अगर आप एक महिला है और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के तौर पर काम करना चाहते है। आप चाहते है की आप भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बने तो आपके पास निम्न योग्यता होनी चाहिए जो निम्न है।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए केवल महिलाएं ही आवेदन कर सकती है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए महिलाओ का कक्षा 8 पास होना जरूरी है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए हर राज्य में योग्यता अलग अलग होती हैं कोई राज्य 8वी पास मांगता है तो कोई राज्य स्नातक पास।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए आवेदक की आयु कम से कम 18 वर्ष की होनी चाहिये और अधिक से अधिक 40 वर्ष की होनी चाहिये। उम्र का यह दायरा हर राज्य में अलग अलग हैं।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए आवेदक केवल महिला होनी चाहिये। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का काम महिलाओं और बच्चों से जुड़ा होता हैं इसलिए इसमे केवल महिला ही आवेदन कर सकती हैं।

आंगनवाड़ी में उपलब्ध करवाई जाने वाली सुविधाएं (facility in aanganwadi kendra )

कुछ ऐसी सुविधाए जो एक आंगनवाड़ी केंद्र पर उपलब्ध होती हैं। जिन्हें एक बार जरूर देखें।

भारत में बढ़ते रोगों को देखते हुए व उनके बचाव के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय कई ठीके बच्चो व गर्भवती महिलाओं को लगाने के लिए कहती हैं, वही यह सुविधा आंगनवाड़ी केंद्रों पर भी होती हैं जो सप्ताह में एक निच्छित दिन को लगाए जाते हैं।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए यह आवश्यक होता हैं कि वो छोटे बच्चो को भरपूर पोषण प्रदान करे और कुछ ऐसी बिमारिओ जैसे कुपोषण इतियादी से बचायें।

अगर कोई छोटा बच्चा अभी जन्मा है मतलब वो नवजात हैं तो उसकी देखभाल करे और उसकी मॉ की भी देखभाल करें।

गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण का खयाल रखें । अगर महिलाओं का समय पर टीकाकरण किया जाए तो उन्हें भविष्य में कोई असुविधा नही होती हैं।

अगर कोई महिला या बच्चा कोई बीमारी या कुपोषण से झुंज रहा हैं तो उसके बचाव के लिए उसको समय पर अस्पताल भेजा जाए।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने में किये सिलेक्शन प्रोसेस ( Selection process for aanganwadi worker )

अगर आपने भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने की ठान ली हैं तो आपको यह जानना जरूरी हैं की आप किस तरह से इस एग्जाम में इस पोस्ट के लिए सेलेक्ट होंगे। एक अभ्यर्थी के लिए यह जरूरी होता है की वह बोलने और दूसरों को समझाने में ठीक हो। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के लिए सिलेक्शन प्रोसेस में 4 steps होते हैं।

लिखित परीक्षा।

डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन।

व्यक्तिगत इंटरव्यू।

Final सिलेक्शन।

लिखित परीक्षा : आवेदक जो भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने की सोच रहे हैं तो उनके लिए जरूरी होता हैं कि वो इस लिखित परीक्षा को पास करे। लिखित परीक्षा के लिए हर साल राज्य सरकार जरूरत के हिसाब से नोटिफिकेशन जारी करती हैं उस उसमे पद की जरूरत के हिसाब से आपको आवेदन करना पड़ता हैं। इस लिखित परीक्षा में बैठने के किये आवेदक को मांगी गई योग्यताओ को पूरा करना होता हैं। यह लिखित परीक्षा ऑब्जेक्टिव टाइप की होती हैं।

डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन : अगर आप लिखित परीक्षा पास कर देते हो तो आपको अगले पड़ाव में आपके डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाता हैं। यह डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन हर राज्य में अलग अलग प्रक्रिया से होता हैं। डॉक्यूमेंट में उन जरूरी दस्तावेजो की जांच होती हैं जो आपसे पूर्व में मांगी गई थीं। इस दस्तावेजो कक एक – एक फोटो कॉपी अपने साथ जरूर ले जाये।

व्यक्तिगत इंटरव्यू : आवेदक के डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन ओर व्यक्तिगत इंटरव्यू दोनो एक साथ होता हैं। इस व्यक्तिगत इंटरव्यू में आपके ज्ञान की जांच नहीं होती बल्कि आपके व्यक्तिगत मानसिकता ओर व्यक्तिगत परीक्षण की जांच होती। इसमे आपसे आपके कार्य संबंधी चीजे पूछी जाती हैं।

Final सिलेक्शन : अगर आप ऊपर बताये गए तीनो स्टेप्स को पास कर लेते हैं तो आपका फाइनल सिलेक्शन हो जाता हैं। फाइनल सिलेक्शन के बाद आपको आगामी कार्यवाही हेतु बुलाया जाता हैं जहाँ आपको अपना जॉइनिंग लैटर दिया जाता हैं।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का मानदेय ( Salary of an aanganwadi karykarta )

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी की बात करे तो यह हर राज्य में अलग अलग हो सकती है पर एक स्टेट की बात करे तो एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी पहले 3000 प्रतिमाह ही जिसे बढ़ा कर 6000 कर दी। सैलरी के अलावा राज्य सरकार द्वारा अन्य सहायता राशि और सुविधाएं भी दी जाती है। कई राज्यों में यह मांग चल रही है की आंगनवाडी कार्यकर्ताओ का वेतन 15,000 किया जावे जिसमे राजस्थान सबसे आगे है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की नियुक्तियां (Appointments of an aanganwadi worker )

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की नियुक्ति परिवार कल्याण विभाग द्वारा की जाती हैं। नियुक्ति से पहले आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ के लिए परीक्षा होती हैं। इस पद के लिए परीक्षा में 4 चरण होते हैं जिसमे परीक्षा, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन, इंटरव्यू, ओर फाइनल मेरिट इतियादी होते हैं।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के गुण

एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए एक महिला के पास कुछ सामान्य गुण चाहिए जो कि निम्न हैं।

समझ : एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए एक एक महिला कार्यकर्ता के पास समझ होनी चहिये की वह अच्छे बुरे को समझ सके।

स्वभाव : एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के पास अच्छा स्वभाव भी होना जरूरी होता है जिससे की वह उनके पास आने वाली महिलाओं व बच्चों से सही ढंग से बात कर सके।

ज्ञान : एक आंगनवाडी कार्यकर्ता के पता अच्छा ज्ञान भी होना जरूरी होता है की उसके कब क्या करना है कब कौनसा टीकाकरण करना है।

आंगनवाडी कार्यकर्ता एक प्रेरक के रूप मे

एक आंगनवाडी कार्यकर्ता एक प्रेरक के रूप मे भी कार्य करती है वह महिलाओं को सरकार द्वारा दिये जाने वाले स्वास्थ्य जानकारी व पोषण की जानकारी के बारे मे बताती है साथ सरकार द्वारा किये जाने वाले टीकाकरण का भी ख्याल करती है। एक प्रेरक कई ऐसे कार्य करती है जैसे नसबंदी के बारे मे बताना ओर साथ अन्य मेडिकल सुविधाओं के बारे मे बताना इत्यादी। एक प्रेरक के रूप मे महिला कार्यकता के पास बडी जिम्मेदारियां होती है।

आंगनवाडी कार्यकर्ता के लिए कैसे आवेदन करे

अगर आप भी एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने की सोच रहे है तो आपको इस बारे मे बता दे की राज्य सरकार द्वारा हर साल इसके लिए पद निकाले जाते है साथ ही आवेदन भी Online आमंत्रित किये जाते है। अगर आप भी आंगनवाडी कार्यकर्ता बनने की सोच रहे है तो आप भी इसके लिए आवेदन कर सकते है।

निष्कर्ष

हमने हमारे इस पोस्ट मे आंगनवाडी कार्यकर्ता के बारे मे पढा साथ ही आंगनवाडी कार्यकर्ताओ के मानदेय व उनको दी जाने वाली अन्य सुविधाओ के बारे मे भी देखा। एक आंगनवाडी कार्यकर्ता एक प्रेरक के रूप मे भी कार्य करती है जिससे व महिलाओ व बच्चो को दी जाने वाली सरकारी सुविधाओ के बारे मे बताती है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: