Laundry and Dry Cleaning बिजनेस कैसे शुरू करे पूरी जानकारी

How To Start Laundry and Dry Cleaning Business Complete details in hindi

आधुनिक युग में घर का प्रत्येक सदस्य स्त्री हो या पुरुष दोनों ही कमाने के लिए बाहर निकलते है, जिस वजह से समय का अभाव सभी के साथ बना रहता है समय के अभाव की वजह से घर पर सभी कामों के लिए समय निकाल पाना बहुत मुश्किल हो जाता है इसी कारण आजकल लोग अपने कपडे लॉन्ड्री में ही भेजना बेहतर समझते है, इसके साथ ही ड्राई क्लीनिंग के लिए भी लोग कपड़े बहार ही भेजते है लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग की डिमांड को देखते हुए वर्तमान में यह बिजनेस बड़े स्तर पर अपनी जगह बना रहा है लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग का बिजनेस करने के लिए विभिन्न बातों की जानकारी रखना आवश्यक है जोकि इस प्रकार है …

लांड्री और ड्राई क्लीनिंग क्या है

लांड्री

कपड़ो को साफ करने और इस्त्री करने के काम को लांड्री कहते है, जो आज वर्तमान में हर एक व्यक्ति की जरूरत बन गया है, इन काम के अंतर्गत लोगो के कपड़ो को सफाई करके उसे ठीक तरीके से इस्त्री करके तैयार किया जाता है।

ड्राई क्लीनिंग

कपड़ो की मरम्मत और चमक ,नयापन बरक़रार रखने के लिए किए जाने वाले कार्य को ड्राई क्लीनिंग कहते है, इस काम मे उन कपड़ो को ड्राई क्लीनिंग किया जाता है जो मोती, कड़ाई व ऐसे कपड़े होते है जिन्हें हम घर पर साफ नही कर सकते है, उनके लिए इसे ड्राई क्लीनिंग के लिए देकर उस कपड़े की नयापन , चमक को फिर से लाया जाता है।

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग का बिजनेस क्या है –

लॉन्ड्री में कपड़े की सफाई और इस्त्री का काम होता है ड्राई क्लीनिंग में कपड़ो की मरम्मत और उसकी चमक को बरकार रखने का काम  किया जाता है लॉन्ड्री में कपड़े धुलाई के साथ-साथ इस्त्री भी हो कर अच्छे पैकेजिंग के साथ मिलती है लॉन्ड्री के साथ-साथ ड्राई क्लीनिंग की डिमांड भी बहुत अधिक है क्योंकि ड्राई क्लीनिंग कभी भी घर पर नहीं किया जाता है, ड्राई क्लीनिंग हमेशा बाहर ही उपलब्ध होता है कढ़ाई किये हुए जैसे कई तरह के कपड़ों पर ड्राई क्लीनिंग की जरूरत ही होती है वर्तमान समय में लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग प्रत्येक मनुष्य की जरूरत बन गया है, जिस वजह से इसका बिजनेस दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है

यह बिजनेस में कम लागत के साथ ज्यादा मुनाफा कमाने का सौदा है पहले जमाने में जमीदारों के कपड़े धोबियों को धोने के लिए दिया करते थे, तब धोबी कपड़ों को नदी या तालाब पर जाके धोया करते थे और फिर कपड़ों पर इस्त्री करके वापस देता थे वर्तमान समय में कपड़े धोना आसान हो गया है क्योंकि अब कपड़े धोने की मशीन आ गई है जिस वजह से लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग का बिज़नेस करने वालों को बहुत सुविधा हो गई है इस बिजनेस का लोकेशन और प्रचार – प्रसार अच्छे से होतो ये बिजनेस कम समय में ही बहुत प्रॉफिट कमाएगी.

लांड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस को शुरू करने के लिए जरूरी जानकारियां क्या है

लांड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस को शुरू करने के लिए कुछ प्रमुख जानकारी होना अनिवार्य है, जो बिज़नेस की सफलता में एक अच्छे टिप्स की तरह कार्य करते हैं।

ये जानकारी निम्न है-

  • लांड्री और ड्राई क्लीनिंग के मार्किट में मांग और इनकी प्राइस को आस पास मार्किट से अच्छे से समझना व इनकी जानकारी लेना।
  • लांड्री और ड्राई क्लीनिंग के अंतर को समझना जिससे ग्राहको को संतुष्ट किया जा सके।
  • लांड्री और ड्राई क्लीनिंग की मशीनों की जानकारी रखना, कौन सी मशीन सस्ती और अच्छी काम करती है।
  • लांड्री और ड्राई क्लीनिंग में इस्तेमाल कच्चे माल की जानकारियां रखना , कौन सा कपड़ो के लिए अच्छा है,कौन सा माल नही।
  • लांड्री और ड्राई क्लीनिंग में हमेशा अच्छे क्वालिटी का साल्वेंट इस्तेमाल करना चाहिए जिससे कपड़े की क्वालिटी खराब न हो।
  • मैन पावर में ऐसे लोगो का चयन करना चाहिए जो इस कार्य को भली भांति जानते हो।
  • लांड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस को ब्रांड बनाना न भूले, ब्रांड से मार्केट में एक पहचान बनती हैं।मार्केटिंग को करके अपने बिज़नेस को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुचाना जरूरी होता है।

ये जरूरी जानकारी व टिप्स रखकर इस बिज़नेस में सफलता के साथ मुनाफा कमाया जा सकता हैं।

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग का बिज़नेस कैसे शुरू करें –

1) बिजनेस के लिए जगह का चयन करना

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग का बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे पहले जगह का चयन करना बहुत आवश्यक है जगह हमेशा ऐसी चयन करना चाहिए जहा बिजनेस की मांग हो, मतलब किसी ऐसे एरिया में बिज़नेस करे, जहां लोग उस काम को कराते हो। हॉस्पिटल, होस्टल, होटल, विकसित शहर इत्यादि के आसपास लांड्री और ड्राई क्लीनिंग का शॉप खोला जा सकता है लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिजनेस के लिए 300 से 500 फीट की जगह चाहिए होती है जिसमे आसानी से कपड़ों की धुलाई और सुखाई हो सके

2) लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन कराना

किसी भी बिज़नेस को कानूनी तौर पर मान्य करने के लिए लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन कराना सबसे अनिवार्य होता है,

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस में निम्न रजिस्ट्रेशन कराया जाता है-

  • Udhyog रजिस्ट्रेशन
  • बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन(ब्रांड व ट्रेडमार्क का रजिस्ट्रेशन कराया जाना जिससे दूसरे उसे न ले सके)
  • कमर्शियल बिजली कनेक्शन लाइसेंस(मशीनों के इस्तेमाल में कम बिजली की खपत के लिए कमर्शियल बिजली कनेक्शन जिससे कम बिजली बिल आये)
  • जमीन के दस्तावेज या रेंट एग्रीमेंट दस्तावेज।

ये मुख्य लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन लेकर कोई भी व्यक्ति इस बिज़नेस कर सकता है।

3) बिज़नेस में इस्तेमाल मशीनें और फर्नीचर को खरीदना व सेटअप करना

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग बिज़नेस में मशीनों का होना सबसे जरूरी चीज़ों में है, मशीनों के द्वारा ही ज्यादा से ज्यादा कपड़ो की सफाई व इस्त्री कर मुनाफा कमाया जाता है।

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग में इस्तेमाल मशीन निम्न है-

  • इंडस्ट्रियल वाशिंग मशीन
  • स्टीम जेनेरेटर
  • टम्बल
  • आयरन मशीन
  • प्रेस के टेबल
  • कैलेंडरिंग मशीन

इन मशीनों के द्वारा ही कपड़ों की धुलाई होती है और साथ ही कपड़ों का रख-रखाव भी होता है इन मशीनों के साथ ही लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस की शुरुआत की जाती है, इन सभी का सेटअप अपने बिज़नेस की जगह पर करके काम को शुरू करना चाहिए। इसके अतिरिक्त जरूरी फर्नीचर कुर्सी , टेबल, डेस्क व अन्य चीज़े सेटअप कर लेनी चाहिए।

4) मैन पावर चयन करना

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग के काम मे शुरुआत में कम से कम 3 से 4 लोग (जो इस कार्य को समझते और करते हो) का चयन करके इस बिज़नेस में मुनाफा कमाते हैं, बाद में बड़े पैमाने का बिज़नेस में और ज्यादा लोगो को भी रखकर इस कम को कराया जाता है।

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग के लिए कच्चे माल को खरीदना

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस में कपड़ो की सफाई व ड्राई क्लीनिंग में कच्चे माल का इस्तेमाल किया जाता है जो निम्न है-

  • लिक्विड डिटर्जेंट
  • साल्वेंट
  • परफ़्यूम
  • पैकेजिंग मटेरियल, इत्यादि

ये सभी मुख्य कच्चे माल हैं जो ड्राई क्लीनिंग व लांड्री के काम मे इस्तेमाल किये जाते है इन सामानों के द्वारा ही कपड़ों की सफाई की जाती है और सफाई के बाद कपड़ों की अच्छी पैकिंग करके ग्राहकों तक पहुँचाया जाता है इनको थोकविक्रेता से खरीद कर बिज़नेस में इस्तेमाल किया जाता है।

कपड़ो को लांड्री व ड्राई क्लीनिंग में लेकर तैयार करना

लिक्विड डिटर्जेंट व साल्वेंट के द्वारा ज्यादा से ज्यादा कपड़ो को वाशिंग मशीन में धुलकर व इस्त्री कर व ड्राई क्लीनिंग कर तैयार कर लिया जाता हैं।

ग्राहकों से मुनाफा कमाना

तैयार किये कपड़ो के अनुसार ग्राहको से बिज़नेस करने वाला मुनाफा कमाता है, और अपने बिज़नेस को बढ़ाने का प्रयत्न करता रहता हैं, जिससे अपने भविष्य को बेहतर बनाया जा सके।

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस में कितनी लागत लगती है

बिज़नेस में लागत इसमें इस्तेमाल मशीनों , मैन पावर, जमीन , कच्चे माल की कीमत को लेकर बताया जा सकता है।

  • मशीनों की कीमत- 3 से 4 लाख तक
  • कच्चे माल- 5 से 10000 करीब महीने का (डिटर्जेंट, साल्वेंट, परफ्यूम) -प्रतिदिन 100 किलो कपड़े पर लगभग)
  • मैन पावर -5000 से 10000 शुरुआत में monthly(4 से 5 वर्कर पर)

इस प्रकार कुल लागत लेकर 4 से 6 लाख तक पड़ सकती है, और बड़े शहरों में ये कीमत और बढ़ भी सकती है।

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस में मासिक कितना मुनाफा होगा –

जैसा की उपर पैराग्राफ में बताया गया है की लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग का बिजनेस शुरु करने में 5 से 7 लाख रूपये की लागत लग जाती है इस आधार पर इस बिजनेस में प्रतिदिन के हिसाब से हिसाब लगाया जाये तो प्रत्येक दिन 70 से 100 किलो कपड़ों की सफाई की जा सकती है, इन के माध्यम से रोजाना 4 से 6 हज़ार की कमाई हो सकती है तो मासिक में 1 से 1.5 लाख रूपये की कमाई हो पायेगी 4 से 6 माह में लागत में लगे रूपये वसूल हो जायेंगे और फिर उसके बाद हर माह सारा मुनाफा व्यापारी का होता है.

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस को विस्तार कैसे दिया जाए –

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिजनेस को विस्तार देने के लिए सबसे पहले व्यापारी को अपने काम की क्षमता को बढ़ाना चाहिए और काम की क्वालिटी से कोई समझोता नहीं करना चाहिए अपने काम के प्रति ईमानदारी और समय की पाबंदी पर हमेशा अमल करना चाहिए ताकि लोगों को आपके काम से संतुष्टि हो और वो आपके काम को देखकर आपसे जुड़ना पसंद करें इन सभी बातों के आधार पर लांड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिजनेस को धीरे-धीरे विस्तार मिलेगा बिजनेस में जैसे-जैसे काम बढ़ता जाये वैसे-वैसे मशीन और मेन पॉवर की संख्या में भी बढ़ोतरी करते रहना चाहिए इससे काम करने में सुविधा होगी और काम की क्वालिटी बरकरार रहेगी इन सभी बातों पर ध्यान रख कर काम किया जाए तो लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिजनेस को विस्तार मिलेगा.

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस की मार्केटिंग कैसे की जाए – ( Marketing )

किसी भी बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए इस बिजनेस के प्रचार-प्रसार पर काम करना होता है लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिजनेस को भी आगे बढ़ाने के लिए नेटवर्किंग मार्कटिंग की सहायता लेनी होती है आजकल लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग से जुड़े वेबसाइट और एप उपलब्ध हो गये है आप अपने बिजनेस से जुड़े सभी जानकारीयां और आपका काम दूसरों से किस तरह बेहतर है, ये सब आप वेबसाइट्स और एप पर जा कर विस्तार रूप से बता सकते है सोशल साइट्स के जरिए भी आप अपने बिजनेस का प्रचार-प्रसार कर सकते है

इन सबके अलावा आप विभिन्न वेबसाइट्स और टीवी चैनलों पर अपने बिजनेस का एड उपलब्ध करा सकते है न्यूज़ पेपर और मगज़ीन में भी अपने बिजनेस का एडवरटाइजिंग कर सकते है विजिटिंग कार्ड ( Visiting Card) छपवा कर अपने बिजनेस लोकेशन के आसपास बाँट देना चाहिए आजकल मोबाइल के जरिये किसी भी बिजनेस का प्रचार-प्रसार करना बहुत आसन हो गया है तो मोबाइल के एप और मैसेज के जरिये अपने बिजनेस को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचा सकते है आजकल ग्राहक भी एप (app) के माध्यम से लॉन्ड्री वालों से सम्पर्क करते है और कपड़ों की धुलाई – ड्राई क्लीनिंग आसानी से हो के उनके घर पहुंच जाता है

बिजनेस को शुरू करने से पहले कुछ धयान देने वाली बातें

लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग का बिजनेस छोटे स्तर पर शुरू कर सकते है इस बिजनेस में कम लागत के साथ मुनाफे को धीरे-धीरे बढ़ाया जा सकता है लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग के बिजनेस को सफल रूप में तभी ही पा सकते जब इस बिजनेस में सर्विस क्वालिटी पर अच्छे से ध्यान दिया जाए समय की पाबंदी हो ग्राहकों को तब ही लुभाया जा सकता है

जब ग्राहकों को सर्विस समय पर मिले और काम की क्वालिटी (Quality) में कोई कमी ना हो इस बिजनेस का पर्याप्त ज्ञान, उचित योजना, पूंजी निवेश और सही रणनीति का हो ना बहुत आवश्य है अगर इन सबके बिना बिजनेस शुरू किया गया तो बिजनेस को सही दिशा मिल पायेगी या नहीं, इसमें असमंजस बना रहेगा इसलिए कोई भी बिजनेस की शुरूआत पूरी तैयारी के साथ करना चाहिए

इस प्रकार लांड्री व ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस को करके कोई भी व्यक्ति मुनाफा कमाकर अपने भविष्य को बेहतर बना सकता है, और अपने इच्छानुसार बिज़नेस को आगे भी बढ़ा सकता है।

FAQ

Q: लांड्री में क्या काम किये जाते है?

लांड्री में कपड़ो की सफाई, धुलाई, और इस्त्री करके उन्हें तैयार करने के काम किये जाते है।

Q: ड्राई क्लीनिंग में क्या काम किये जाते है?

ड्राई क्लीनिंग में कपड़ो की मरम्मत, चमक, नयापन को रखने का काम किया जाता है, ये ज्यादतर कड़ाई व party wear ड्रेस में किये जाते है।

Q: लांड्री व ड्राई क्लीनिंग में कौन सी मशीन इस्तेमाल होती है?

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग में आयरन मशीन, इंडस्ट्रियल वाशिंग मशीन, स्टीम जेनेरेटर, टम्बल, प्रेस टेबल आदि मशीनों का इस्तेमाल किया जाता है।

Q: लांड्री व ड्राई क्लीनिंग में कच्चे माल क्या होते है?

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग में कच्चे माल में साल्वेंट, परफ़्यूम, लिक्विड डिटर्जेंट, पैकेजिंग बैग व मैटेरियल होते है।

Q: लांड्री व ड्राई क्लीनिंग बिज़नेस में कितनी लागत लगती है?

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग के बिज़नेस में लगभग शुरुआत में 3 से 5 लाख रुपये लागत लगती है।

Q: लांड्री व ड्राई क्लीनिंग बिज़नेस में कितना मुनाफा होता है?

लांड्री व ड्राई क्लीनिंग बिज़नेस में शुरुआत में लगभग 70,000 से 1 लाख तक का मुनाफा हो सकता है।

Thanks

अन्य पढ़े :

कपडे का बिज़नेस कैसे शुरू करें

मोबाइल की दुकान कैसे खोले

Generic Medicine Store कैसे खोले

15 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: