फर्नीचर की दुकान कैसे खोले | Furniture Shop Business Ideas in Hindi

आम जिन्दगी मे फर्नीचर ऐसी चीज है जिस के बिना एक घर या दफ्तर पुरा नही माना जा सकता। फर्नीचर में देखा जाये तो बहुत सी चीजें शामिल होती है। सोफ़ासेट, अल्मारी, टेबल, कुर्सी, बेड, सेन्टर टेबल, साइड टेबल और ऐसी बहुत सी चीज है जो की हर घर या दफ्तर में जरुरी होती है। वैसे देखा जाये तो इन की मौजुदगी से ज्यादातर लोग प्रभावित नही होते है पर इन की गैरमोजुदगी जरुर खलती है।

इस हिसाब से देखा जाये तो फर्नीचर का बिजनेस एक बहुत ही लाभदायक हो सकता है पर आप को उस का नोलेज होना जरुरी है। आप कहां से फर्नीचर लायेंगे, कैसे शॉप की मार्केटींग होगी, किन किन बातो का आप को ख्याल रखना होगा, शॉप कहां पर होनी चाहीये, कितनी बडी शॉप होनी चाहीये, किस तरहा का फर्नीचर आप बेचेंगे, कौन कौन से लाइसेंस आप को लेने होंगे और इस बिजनेस का फ्यूचर कैसा है

ये सारी बाते आप को फर्नीचर की दुकान खोलने से पहले सोचनी चाहिये। आइये आपको इनमें से चंद मुद्दो पर अवगत कराते है ताकी आप अपने शॉप के सपने को साकार कर सके।

फर्नीचर शॉप बिजनेस की स्कोप

सबसे पहले ये जानना जरुरी है की इस बिजनेस का फ़्युचर क्या रहेगा और क्या ये बिजनेस प्रोफ़ीटेबल है। वैसे देखा जाये तो बढती आबादी और लोगो कि आय के हिसाब से काफी सारे लोग फर्नीचर नया लेना और बदलना पसंद करते है। हालांकी ये कोइ रोजमर्राह की चिज नही है तो लोग चंद सालो मे एक बार खरीदते है।

स्कोप के हिसाब से अगर देखा जाये तो ये अच्छा बिजनेस है पर आप को इस बिजनेस को जमाना आना चाहिये और काफी महेनत करने की तैयारी रखनी चाहिये। अगर देखा जाये तो स्कोप निर्भर करता है की आप किस तरह के फर्नीचर में डील करते है। पर ये जरुर कहा जा सकता है की इस बिजनेस का स्कोप भारत में अभी भी बहुत है और इसी लिये काफी सारी कंपनीयां भी इस मार्केट में लीडर है।

फर्नीचर की दुकान के लिए सही लोकेशन क्या होना चाहिए

शॉप को शुरू करने से पहले आप को ये मालूम होना चाहिये की आप का जो क्स्टमर होगा वो कौन से वर्ग से होगा। अगर आप डीझाइनर फर्नीचर में जा रहे हो तो आप को एक हाइ प्रोफ़ाइल एरीया में शोप चाहिये वर्ना सामान्य फर्नीचर के लिये आप कोइ भी मुख्य मार्ग पर हो ऐसी शोप ले सकते है।

अगर आप कहीं अंदरुनी हिस्से में शॉप लेते है तो आप को डाइरेक्ट कस्टमर का फ़ायदा कम मिलेगा जिस से आप का बिजनेस प्रभावित हो सकता है। अगर आप कोइ बहुमंजीला इमारत में शोप लेते है तो जरुरी है की आप का शोप ग्राउन्ड फ़्लोर पर हो ताकी कस्टमर सीधा शोप के भीतर आकर प्रोड्क्ट्स को देख सके।

अगर आप का शॉप तीसरी या उस से उपर की मंजील पर रहा तो कस्टमर का आना मुश्किल हो जायेगा और आप के बिजनेस पर इसका उल्टा असर हो सकता है। शॉप की जगह और एरीया बिजनेस के ग्रोथ में बहुत अहम रोल अदा करते है और इसीलिये शॉप का चयन बहुत ही संभालकर करना होता है। आप आसानी से शॉप की जगह बदल नही पाओगे तो पुरा अभ्यास करने के बाद ही एक शॉप को पसंद करे जहां आप बिजनेस को अच्छे से ओपरेट कर सके।

फर्नीचर की दुकान खोलने के लिए कितनी इन्वेस्टमेंट की जरूरत हो सकती है

कोइ भी बिजनेस की शुरुआत में इन्वेस्टमेंट करना पडता है पर हर बिजनेस में लगनेवाली राशी अलग अलग होती है। फर्नीचर शॉप का बिजनेस ऐसा बिजनेस है जिस में आप को कम से कम पांच लाख की राशी शुरुआत में लग सकती है। हालांकी वो निर्भर करता है की आप कितने बडे पैमाने पर शॉप शुरु कर रहे हो।

सबसे पहले आप को ये तय करना रहता है की आप कौन कौन से फर्नीचर में डील करेंगे। आप अगर डीझाइनर फर्नीचर में डील करे तो आप को एक बढीया सा शो रूम खोलना पडेगा और उस में डीझाइनर फर्नीचर लगाना पडेगा ताकि जो कस्टमर आये उसे फर्नीचर अच्छे से देखने को मिले।

अगर आप सामान्य घरेलु फर्नीचर में डील करना चाहते हो तो ये राशी कम हो सकती है। एक अच्छा सा शोरुम खोलने के लिये आप के पास कम से कम 1500 से 2500 स्क्वायर फ़ीट की जगह होनी चाहिये। अपना स्टॉक रखने के लिये आप को एक वेरहाउस भी चाहिये होगा। अगर आप कोमर्शियल फर्नीचर में डील करते है तो आप के पास उपयुक्त फर्नीचर होना चाहिये जो की इस क्षेत्र की जरुरत को पुरा कर सके।

फर्नीचर शॉप बिजनेस के लिए फाइनेंस

इस बिजनेस को जारी रखने के लिये और आगे बढ़ाने के लिये आप को अच्छा निवेश करना रहेगा। अगर आप के पास खुद की पुंजी है तो आप सारा एनालिसीस कर के लगा सकते है। आप के पास बेंक से ऋण लेने का विकल्प भी है। शॉप शुरू करने से पहले आप के पास सारे केल्क्युलेशन्स होने चाहिये की आप को कितनी पुंजी लगानी पडेगी, उस पर कितना सुद भरना पडेगा

अगर loan लिया है तो उस की किश्त कितनी आयेगी और कब तक में वो लोन भरपाइ हो जायेगा। इन सब गीनती के बाद ही आप आगे बढकर बिजनेस को शुरु कर सकते है। इन में से एक भी पोइन्ट अगर छुट गया तो आपको काफ़ी नुकसान भी सहन करना पड सकता है।

फर्नीचर की दुकान से कितना प्रॉफिट हो सकता है

कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले ये जानना बहुत ही जरुरी है की उस की प्रोफ़ीटेबीलिटी क्या है। फर्नीचर बिजनेस में आप 20 से 30 प्रतिशत मार्जिन रखकर चल सकते है। ये मार्जिन वैसे तो कम दीखता है पर क्युकी इस में हर एक आइटम की कीमत ज्यादा होती है आप अच्छा प्रॉफिट कर सकते है।

अगर आप डिजाइनर या कमर्शियल फर्नीचर में डील करे तो ये प्रॉफिट मार्जिन और बढ सकता है। अगर आप का खुद का मेन्युफ़ेक्चरींग युनिट हो तो और मुनाफा की आप उम्मीद रख सकते है।

फर्नीचर की दुकान के लिए जरुरी लाइसेंस

आप को शॉप शुरु करने के साथ ही कुछ कानुनी लाइसेंस भी लेने होंगे। आप को जीएसटी के लिये apply कर के जीएसटी नंबर लेना पडेगा और शॉप के लिये शॉप एन्ड एस्टाब्लिश्मेन्ट लाइसेंस भी लेना पडेगा। आप इस के लिये प्रोफ़ेशनल की सहायता भी ले सकते है जिस की थोडी फीस लगेगी पर आप को ये लाइसेंसे मिल जायेंगे जिस के बाद आप अपने बिजनेस को रफ़्तार दे सकेंगे।

आप को एक बिल बुक भी चाहिये जिस पर आपका जीएसटी नंबर होना चाहिये। अगर आप फर्नीचर का निर्यात करना चाहते है तो आप को एक्स्पोर्ट इम्पोर्ट लाइसेंस भी लेना होगा। अगर आप हेन्डीक्राफ़्ट फर्नीचर में डील करते हो तो आपको संबंधित सरकारी विभाग से भी लाइसेंस लेना होगा।

आप को विविध लाइसेंस अपनी शॉप पर इस तरह लगाने होते है की आम जनता को भी वो आसानी से दीखे। आप को अपना अकाउंट मेनेज करने के लिये एक CA या एकाउंटंट भी रखना होगा।

फर्नीचर शॉप बिजनेस की मार्केटींग है जरूरी

बिजनेस चाहे कोइ भी हो आप जब तक ग्राहको तक पहुंच नही पाते तब तक आप का बिजनेस आगे नही बढ सकता। इस के लिये जरुरी है की आप अपने फर्नीचर शॉप की अच्छी मार्केटींग करे। अगर आप मार्केटींग जानते है तो आप खुद एक योजना बनाकर आगे बढ सकते हो वर्ना आप कीसी प्रोफ़ेशनल्स की भी सहायता ले सकते हो।

इस दौर मे आप को ऑफलाइन एवं ऑनलाइन दोनो मार्केटींग करना चाहिये। आप के बिजनेस की एक वेबसाइट भी आपको बनवानी चाहिये। आप पेंफ़्लेट्स, होर्डींग्स, बेनर्स, रोड शो इत्यादि के जरिये ऑनलाइन मार्केटींग कर सकते है। ऑनलाइन मार्केटींग के लिये आपको अपनी website का SEO( search engine optimization ) भी करवाना चाहिये। आप सोशल मिडीया की मदद से भी अपनी प्रोडक्ट्स का मार्केटींग कर सकते है।

अपनी फर्नीचर शॉप की बिक्री कैसे बढ़ाए

अब अगर आप ने शॉप शुरु भी कर दी है तो बात आती है बिक्री की। कोइ भी शॉप बिना सेल्स के नही चलती। आप के लिये अब जरुरी होगा की लोगो को पता चले की इस एरीया में ऐसी कोइ शॉप खुली है जहां फर्नीचर मिलता है। इस के लिये आप विविध माध्यमो की सहायता से लोगो से जुड सकते है।

आप डिस्काउंट ऑफर्स चला सकते है, नजदीक के एरिया में मार्केटींग कर सकते है। अगर आप कोमर्शियल फर्नीचर में डील करते है तो ऑफिस में जा कर बात कर सकते है, कोर्पोरेट टाइअप कर सकते है। आप events को sponsor कर के उन से जुड सकते है। नजदीक में चलनेवाले क्लबो में अपना प्रेजेंटेशन रख सकते है और मेंबर को ग्रुप डिस्काउंट ओफ़र कर सकते है। इस से आपका पर युनिट प्रोफ़िट कम हो सकता है पर कुल मिलाकर आप का सेल्स बढेगा और प्रोमोशन भी होगा।

कुछ जरूरी टिप्स

बिजनेस के बारे में कहा जाता है की शुरू करना तो आसान होता है पर उसे चलाना इतना आसान नही होता। इसी लिये नये बिजनेस को शुरू करने से पहले जरुरी है की आप को उस क्षेत्र का कोइ अनुभव हो या कोइ अनुभवी इन्सान आप के साथ जुडा हो। इस से आप को आनेवाली हर स्थिती का पहले से आकलन होगा और बिजनेस को कोइ दिक्कत नही आयेगी।

आप के पास सप्लाय लाइन, मेन्युफ़ेक्चरींग लाइन, मेन्टेनन्स, ट्रान्स्पोर्टेशन और मार्केटींग सब की यथा योग्य अनुसुची एवं संपर्क होने चाहीये की जीन की जरुरत बिजनेस में कभी भी हो सकती है।

बिजनेस शुरु करना अलग चीज है और उसे प्रोफ़ीटेबल बनाना अलग। आप को ये दोनो चीजे आनी चाहिये तभी ये बिजनेस आप को एक सही दीशा दे पायेगा।

फर्नीचर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू कर सकते है यहाँ से पढ़े

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: