भारत में पैथोलॉजी लैब कैसे खोले | How to open a pathology lab in India

आज बढ़ते प्रदूषण और खराब खान पान व मानसिक तनाव जैसे स्वास्थ्य जैसे कारकों की वजह से हर व्यक्ति किसी न किसी बीमारी की चपेट में कभी न कभी आ ही जाता है, और किसी भी बीमारी के लिए डाक्टर सबसे पहले उससे जुड़े जांच करवाते है, जिसके लिए पैथोलॉजी ही भेजा जाता है, तो आज हम पैथोलॉजी लैब से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी के विषय के चर्चा करेंगे।

पैथोलॉजी क्या है

पैथोलॉजी का अर्थ देखे तो-

ये अंग्रेजी के pathology शब्द से बना है, जो दो शब्दों pathos और logy से मिलकर बना है।

Pathos  का = Disease           Logy  का अर्थ = study 

अर्थात Disease की study करने को ही पैथोलॉजी कहते है।

व्यक्ति को हुई बीमारी का अध्ययन करना पैथोलॉजी के अंतर्गत आता है, आज लोगो को होने वाली बीमारियों का अध्ययन करके उसका पता लगाना ही पैथोलॉजी हैं।

पैथोलोजिस्ट कौन होते है

वे लोग जो व्यक्ति को कौन सी बीमारी हुई है, उसके बारे में जांच करके हमे बताते है, जिससे हमें इलाज मिल पाता है।

अतः बीमारियों की सही जांच करके हमे बताने वाले लोगो को ही पैथोलोजिस्ट कहते है।

पैथोलॉजी लैब क्या है

वो जगह जहा पर बीमारियों की जांच के लिए कार्य होते है, जहा से कोई भी बीमार व्यक्ति अपने खून या डॉक्टरों के अनुसार बताई गई जांच कराकर बीमारी की सही निदान(diagnosis)  कराकर बेहतर और सही उपचार करा पता है, उस जगह को पैथोलॉजी लैब कहते है।

अर्थात बीमारियों की पता लगाने के लिए जांच से जुड़ी प्रकिया को करने के लिए जो लैब बने होते है, वो पैथोलॉजी लैब कहा जाता है।

पैथोलॉजी लैब से अलग अलग तरह के जांच करके रिपोर्ट तैयार की जाती है, जो मरीज़ों द्वारा आगे के उपचार में उनकी मदद करती है।

पैथोलॉजी लैब खोलने के लिए कौन से कोर्स करने होते है

किसी भी पैथोलॉजी लैब खोलने के लिए कुछ जरूरी कोर्स का करना बहुत जरूरी है, जिसको करके ही कोई पैथोलॉजी लैब में काम को कर सकता है, क्योंकि बिना ज्ञान के कोई भी काम करना सही नही होता।

पैथोलॉजी लैब के लिए जरूरी कोर्स-

  • DMLT
  • BMLT
  • CMLT
  • MLT

CMLT कोर्स

Certificate in medical laboratory technology  (CMLT) का पूरा नाम होता है, ये एक सर्टिफिकेट कोर्स होता है।

योग्यता

10 th  या 12th  पास 

अवधि

6 महीने से 1 साल अधिकतम

फीस

15000 से 20000 फीस में ही CMLT कोर्स को पूरा किया जा सकता है।

DMLT कोर्स

Diploma in medical laboratory technology (DMLT) का पूरा नाम होता है, जिसे करके भी आप पैथोलॉजी में काम करने के योग्य हो सकते है।

योग्यता

12th  विज्ञान विषय से

अवधि

1 साल

फीस

20000 से 25000

सैलरी

शुरुआत में लगभग 10000 रुपये

BMLT कोर्स

Bachelor in medical laboratory technology ((BMLT) का पूरा नाम होता है।

योग्यता

12th  विज्ञान विषय से

अवधि

3 साल

फीस 

30000 से 40000 के लगभग

MLT कोर्स

Master in laboratory technology

ये सबसे हाई लेवल कोर्स होता है, जिससे करके आप अपना पैथोलॉजी लैब का काम कर सकते है, इसको करने पर सैलरी सबसे ज्यादा मिलती है, क्योंकि इसको करने वाले सबसे ज्यादा पैथोलॉजी सेक्टर के ज्ञान वाला माना जाता है।

ये सभी पैथोलॉजी अर्थात बीमारियों के जांच से सम्बंधित जानकारी प्रदान करने वाले कोर्स होते है, जिसमे सभी तरह की जांच को करने का पूरा प्रोसेस विस्तार से बताया जाता है, जिससे पैथोलोजिस्ट किसी भी मरीज़ का जांच सही तरह से करके उसकी बीमारी की सही डियग्नोसिस कर सके।

पैथोलॉजी लैब में कौन से इक्विपमेंट (Equipment) आवश्यक होते है

किसी भी पैथोलॉजी लैब बिना इक्विपमेंट के बेकार है, तो किसी भी पैथोलॉजी लैब के मुख्य रूप से कुछ जरूरी इक्विपमेंट इस्तेमाल किये जाते है, जिनको जांच के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

“बिना इक्विपमेंट के पैथोलॉजी लैब वैसा है, जैसे जंग के मैदान में बिना हथियार”।

पैथोलॉजी लैब में आवश्यक इक्विपमेंट-

  • फ्रीज़
  • इनक्यूबेटर
  • डेस्कटॉप/लैपटॉप
  • सॉफ्टवेयर(रिपोर्ट से जुड़े डाटा कलेक्शन के लिए)
  • डस्टबीन(उसे किये गए प्रोडक्ट व सामग्री को फेकने के लिए)
  • टॉयलेट (यूरिन व स्टूल टेस्ट के लिए)
  • माइक्रोस्कोप(छोटे आकार के cell व tissue की जांच के लिए)
  • सेंट्रीफ्यूज
  • कैलोरीमिटर(कैलोरी माप के लिए)
  • पिपेट(pippete)

ये सभी मुख्य इक्विपमेंट होते है, जिन्हें पैथोलॉजी लैब में इस्तेमाल किया जाता है।

पैथोलॉजी लैब में जरूरी सामग्री व टूल्स में इंजेक्शन, टेस्ट ट्यूब, फ्लास्क, स्लाइड, व अन्य जरूरी छोटे छोटे टूल्स भी इस्तेमाल किये जाते है।

पैथोलॉजी लैब खोलने के लिए जरूरी लाइसेंस कौन से लगते है

किसी भी पैथोलॉजी लैब के लिए कुछ जरूरी लाइसेंस मुख्य हैं-

  • Pollution control board registration (pollution  control वाले आकर पैथोलॉजी का कचरा खुद ले जाते, व pollution कंट्रोल का काम करते है)
  • Paramedical council of India registration(paramedical council से केकानूनी तौर ओर मान्यता)
  • Pathologist registration(जांच करने के काम के लिए valid मान्यता प्राप्त करने में)

ये सभी जरूरी लाइसेंस किसी भी पैथोलॉजी लैब खोलने में जरूरी है।

पैथोलॉजी लैब कैसे खोले

पैथोलॉजी खोलने के लिए कुछ नियम व शर्तों के अनुसार क्रमबद्व कार्य करके आसानी से लैब खोला जा सकता है।

  • पैथोलॉजी से जुड़े कोर्स को करे।
  • लैब के लिए जगह चयन करें।
  • लैब के लिए registration व लाइसेंस बनवाये।
  • लैब के लिए जरूरी इक्विपमेंट खरीदे व सेटअप करे।
  • पैथोलोजिस्ट व डॉक्टर को रख्खे।
  • मार्केटिंग करे।
  • मरीज़ों का आवश्यकतानुसार जांच करे, रिपोर्ट तैयार करे।
  • रिपोर्ट देकर मुनाफा कमाये, व मरीज़ की उपचार में मदद करे।

इन क्रमबद्व प्रोसेस के द्वारा आसानी से पैथोलॉजी लैब खोल जा सकता है।

पैथोलॉजी लैब में कौन कौन सी जांच होती है

पैथोलॉजी लैब में बहुत सारी बीमारियों की dignosis के लिए जांच की जाती है।

ये जांच मुख्य रूप से निम्न होते है-

  • Bile duct brushing
  • Bladder washing
  • Anal smear cytology
  • Ascites fluid cytology
  • Body cavity washing
  • Cyst fluid cytology
  • Bronchial brushing
  • Bronchial washing
  • Direct immunofluorescencent microscopy
  • Duodenal brushing
  • Esophageal brushing
  • Gastric brushing
  • Foreign bodies
  • Electron microscopy diagnostic
  • Bone marrow biopsy tissue examination
  • Breast core biopsy tissue examination
  • Fine needle aspiration
  • CSF cytology
  • Gastrointestinal biopsy tissue examination
  • Gynecological pap smear
  • Kidney biopsy tissue examination
  • Intraoperative consultation
  • Liver biopsy tissue examination
  • Lymph biopsy tissue examination
  • Pericardial fluid cytology
  • Pancreatic brushing
  • Peritoneal fluid cytology
  • Product of conception for tissue examination
  • Rectal brushing
  • Skin biopsy
  • Sputum cytology
  • Synovial fluid cytology
  • Thoracic fluid cytology
  • Urine cytology
  • Common bile duct brushing

इस तरह पैथोलोजी लैब में पूरे बॉडी से जुड़े हुए टेस्ट होते है, जिनका अध्ययन एक पैथोलोजिस्ट करता है, ज्ञान अर्जित करता है, ऊपर दिए गए टेस्ट उनमे से कुछ मुख्य है, व इसके अलावा भी बहुत से टेस्ट है जिनकी जांच इन्ही लैब में कराकर उपचार कराने के लिए काम किया जाता है।

इन टेस्ट से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए पैथोलोजिस्ट व कोर्स द्वारा और बेहतर जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

पैथोलॉजी लैब खोलने में कितना लागत लगती है

पैथोलॉजी लैब खोलने में लागत का आधार मुख्य रूप से डॉक्टर की पेमेंट, कुछ बिजली बिल, जमीन किराया या लैब किराया(हमेशा अर्थात हर महीने वाली लागत)

इक्विपमेंट की खरीद, सेटअप में खर्च (एक बार वाली लागत)

इसमें कुल खर्च 2 लाख से 2.5 लाख रुपये के करीब लगता है, इसमें मुख्य लागत इक्विपमेंट और सेटअप ही होता है, बाकी तो हर महीने का का खर्च है।

पैथोलॉजी लैब में मुनाफा कितना होता है

पैथोलॉजी लैब के इस काम मे शुरुआत में लगभग 20000 से 30000 तक लगभग मुनाफा हो सकता है, व लैब की पहुँच मार्किट में बढ़ने पर यह मुनाफा 50000 तक भी जा सकता है।

काम को लेकर लगन व ईमानदारी काम मे सफलता दिलाने वाली होती है।

इस प्रकार एक पैथोलॉजी लैब खोलकर कोई भी व्यक्ति मरीज़ों की  मदद के साथ अच्छा मुनाफा कमाकर अपने आने वाले कल को सुरक्षित कर सकता है।

FAQ

Q : पैथोलॉजी लैब के लिए सबसे सस्ता व काम अवधि वाला कोर्स कौन सा है?

पैथोलॉजी लैब के लिए सबसे सस्ता व कम अवधि वाला कोर्स CMLT है, जो एक certificate कोर्स है, व 6 month अवधि का है।

Q : सही शुगर टेस्ट कब होता है?

सही शुगर टेस्ट बासी पेट कराया जाता है।

Q : CBC टेस्ट में मुख्य रूप से किसकी जांच होती है?

CBC टेस्ट में मुख्य रूप से हीमोग्लोबिन, प्लेटलेट्स, RBC, WBC, लिम्फोसाइट्स, जैसे कंटेंट की जांच होती है।

Q : किसी एक लोकप्रिय पैथोलोजी लैब का नाम बताए?

डॉ लाल पैथोलोजी लोकप्रिय लैब में से एक है, जिनका लैब हर जिले व जगह होता ही है, व यहां की जांच पर लोगो का विश्वास भी ज्यादा होता है।

अन्य पढ़े :

भारत में हॉस्पिटल कैसे खोले

मेडिकल स्टोर कैसे खोले

होम्योपैथिक क्लीनिक कैसे खोले

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: