बैंक के क्लर्क कैसे बने क्या प्रक्रिया है पूरी जानकारी

जानिए बैंक में क्लर्क कैसे बने पूरी जानकारी

जब आप बैंक में जाते हैं तब आपको बैंक में बहुत से लोग काम करते हुए दिखाई पड़ते होंगे उनमें से कुछ लोग आपकी सेवा में तत्पर रहते हैं जब भी आप बैंक से संबंधित किसी समस्याओं से जूझते हैं और उन समस्याओं को जिनसे शेयर करते हैं और समाधान हासिल करते हैं उन्हें आमतौर पर बैंक कर्मी या बैंक क्लर्क के रूप में जाना जाता है। बैंकिंग सेक्टर हमारे देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है जो यदि ना हो तो हम कभी भी सीधे होकर चल नहीं सकते हैं। इस सेक्टर में कार्य करना बहुत ही सौभाग्य की बात होती है। क्या आप भी बैंक के क्लर्क बनना चाहते हैं तो आज हम इसी बात पर चर्चा करेंगे कि आप बैंक के क्लर्क कैसे बनेंगे क्या प्रक्रिया है? आइए जानते हैं।

बैंक क्लर्क के कर्तव्य और जिम्मेदारियां

मुख्य रूप से बैंक में तीन प्रकार के क्लर्क होते हैं जैसे

ब्याज क्लर्क- बैंक और ऋणों और अन्य निवेशों से बैंक के ग्राहकों के ब्याज को बचाने के लिए ब्याज की रिकॉर्डिंग करने का कार्य ब्याज क्लर्क का होता है।

ऋण क्लर्क- ऋण की जानकारी को रिकॉर्ड करना और व्यवस्थित करने का कार्य ऋण क्लर्क का होता है।

स्टेटमेंट क्लर्क- ग्राहकों के खातों की जांच की मासिक बैलेंस शीट तैयार करने का कार्य स्टेटमेंट क्लर्क का होता है।

इसके अतिरिक्त बैंक के क्लर्क का कार्य कैश डिपॉजिट करना, कैश देना, पासबुक कि अच्छे से एंट्री करना, आरटीजीएस, एनईएफटी, चेक जमा करना, डीडी बनाना यह सभी प्रकार के कार्य बैंक के क्लर्क का होता है।

Education Qualification

यदि आप बैंक के क्लर्क बनना चाहते हैं तो आप की शैक्षणिक योग्यता कम से कम ग्रेजुएशन होनी ही चाहिए। अगर आप कॉमर्स फील्ड से है तो यह नौकरी आपके लिए कुछ हद तक आसान साबित हो सकता है क्योंकि अकाउंट का भी काम होता है। आपको कंप्यूटर में कार्य करना आना चाहिए साथी साथ जिस स्थान में रहकर आवेदन कर रहे हैं उस स्थान की स्थानीय भाषा की जानकारी पूर्ण रूप से आपको होनी चाहिए।

Age limit

बैंक का क्लर्क बनने के लिए हर एक कैटेगरी के लोगों के लिए आयु सीमा अलग-अलग है। सबसे पहले हम बात करते हैं जनरल कैटेगरी वाले लोगों के लिए- आपकी आयु सीमा 20 से 28 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। फिर आते हैं ओबीसी जिनको 3 वर्ष की और छूट मिलती है या नहीं 32 वर्ष की आयु तक आप यह फॉर्म भर सकते हैं। एससी एवं एसटी वालों को 5 वर्ष की छूट और प्राप्त होती है। अंत में स्पेशल कैटेगरी के लोगों के लिए 10 वर्ष की छूट और होती है।

बैंक क्लर्क एग्जाम कैसा होता है?

वैसे तो बैंक का एग्जाम बहुत ही कठिन एग्जाम होता है इसमें तीन मुख्य परीक्षा पहले होती थी, प्रीलिम्स, फिर होता था मैन और फिर होता था इंटरव्यू। मगर अब सिर्फ दो ही परीक्षा होती है प्रीलिम्स और मेन। इसलिए परीक्षा बहुत ही कड़ाई से होती है। चूंकि यह एग्जाम बैंक का होता है इसलिए आपको बैंकिंग क्षेत्र कि हर छोटी सी छोटी बात की जानकारी होना अति आवश्यक है क्योंकि बैंक से संबंधित भी कुछ प्रश्न किए जाते हैं।

इसके अतिरिक्त इंग्लिश भाषा की जानकारी भी आपको मुख्य रूप से होनी चाहिए क्योंकि अंग्रेजी भाषा के भी लगभग 40 से 50 प्रश्न होते हैं। गणित का भी ज्ञान होना अति आवश्यक है क्योंकि गणित से भी प्रश्न पूछे जाते हैं। फिर आता है रीजनिंग एबिलिटी जो कि बैंक के एग्जाम में बहुत अधिक मायने रखता है।

Important Exams for Bank क्लर्क

आईबीपीएस (IBPS) बैंकिंग क्लर्क एग्जाम के लिए सबसे बड़ा बैंक है जो प्रतिवर्ष यह परीक्षा लेता है और यह बहुत ही कठिन परीक्षा होती है जिसका कटऑफ भी बहुत ऊपर होता है लेकिन यदि आप अच्छे से मेहनत करेंगे तो आप अवश्य है इस परीक्षा में सफल हो सकते हैं।

एसबीआई की ओर से भी बैंकिंग क्लर्क की परीक्षा ली जाती है जो कि आईबीपीएस के तुलना में थोड़ा सा आसान होता है लेकिन फिर भी क्लर्क की परीक्षा बैंक की परीक्षा ही होती है इसलिए यहां पर भी आपको मेहनत करनी है

Last 5 years प्रश्न पत्र

अगर आप पहली बार यह परीक्षा देने जा रहे हैं और आपको परीक्षा के प्रश्नों का पैटर्न नहीं मालूम है तो आप लास्ट 5 साल के प्रश्न पत्र को देख सकते हैं और प्रश्न पत्र यदि सवाल हो तो वह भी आपके लिए बहुत अच्छा साबित हो सकते हैं आप उन प्रश्न पत्रों को देखकर अपनी तैयारी करना आरंभ कर दीजिए इंटरनेट पर भिन्न-भिन्न वेबसाइट पर फ्री में भी मॉक टेस्ट लिए जाते हैं उन परिक्षा को देने का प्रयास करें और अपनी पढ़ाई अच्छे से करें पढ़ाई में किसी भी तरीके का कोई भी लापरवाही यदि आप नहीं करेंगे तो आप अवश्य परीक्षा में सफल होंगे।

एंट्रेंस एग्जाम के सब्जेक्ट के अंतर्गत आपका जो विषय कमजोर है उस विषय पर ज्यादा से ज्यादा पढ़ाई करें मेहनत करें और सफलता हासिल करें।

परीक्षा पास करने की स्ट्रेटेजी

बैंक की परीक्षा को पास करना मानो सात समुंदर पार कर जाना।किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए आपको अपना एक गोल निर्धारित करना होगा जैसे आप बोर्ड की परीक्षा को पास करने के लिए दिन रात मेहनत किया करते थे ठीक उसी प्रकार से आपको यह परीक्षा भी पास करने के लिए दिन रात मेहनत करनी होगी एक गोल सेट करना होगा एक रूटीन बनाना होगा उसी रूटीन को फॉलो करते हुए आपको प्लानिंग भी करना होगा जिससे कि आप एक बार में इस परीक्षा को पास कर जाए।

यदि आप बैंक एग्जाम के लिए अच्छे से तैयारी करना चाहते हैं तो आप किसी कोचिंग में भर्ती हो सकते हैं या फिर स्वयं तैयारी करना चाहते हैं तो आजकल बहुत सारे एजुकेशन पोर्टल भी आ चुके हैं जहां पर आप खुद को रजिस्टर करके पढ़ाई कर सकते हैं इसके अतिरिक्त आप स्वयं करंट अफेयर्स की जानकारी रखें बैंक से संबंधित सभी प्रकार के न्यूज़ को सुनें और ज्यादा से ज्यादा 10 से 12 घंटे अवश्य पढ़ें।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि किस एजुकेशन इंस्टीट्यूट से पढ़ने से अच्छा आप स्वयं ही अपनी तैयारी करें क्योंकि आपको आपसे बेहतर कोई नहीं जान सकता एजुकेशन इंस्टीट्यूशन वाले भी बनी बनाई चीजों को फॉलो करते हुए आपको जानकारियां देते हैं इससे अच्छा आप सुनाएं खोजे सीखे और खोजते खोजते ही आप बहुत कुछ जान सकेंगे इसलिए यदि आप स्वयं तैयारी करें तो यह आपके self-confidence को बढ़ाने में भी बहुत मदद करेगा और आपका प्रेम हमेशा एक्टिवेट रहेगा क्या आप को पढ़ना है और आपका ध्यान घूम फिर कर आपके पढ़ाई के ओर ही अग्रसर रहेगा।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: