प्लाईवुड बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | Plywood Manufacturing Business in Hindi

आज कल टेक्नोलॉजी व बढ़ते विकास के चलते हर चीज़ को बेहतर दिखाने पर ज़ोर दिया जा रहा है, चाहे घर हो, दफ्तर हो या कोई अन्य जगह जहां भी आप अपना काम करते हो या रहते हो, घरों व दफ्तरों को बेहतर दिखाने के लिए अच्छे से अच्छी चीज व सामग्री का इस्तेमाल किया जा रहा है, इसी प्रकार घर के दरवाजों, खिड़कियों, अलमारियों, व अन्य चीज़ जो लकड़ी से बनी हो, उनको अच्छा और आकर्षक दिखाने के लिए प्लाईवुड एक बहुत अच्छा विकल्प होता है, जिससे इसकी मांग भी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, तो आज हम प्लाईवुड बिज़नेस के विषय मे जानकारी लेंगे, जिनमे निम्न बाते होंगी-

प्लाईवुड क्या होता है, प्लाईवुड बिजनेस क्या होता है, प्लाईवुड कैसे बनता है, प्लाईवुड का इस्तेमाल किन जगहों पर किया जाता है, प्लाईवुड का बिजनेस के लिए जरूरी जानकारी क्या है,प्लाईवुड बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करे, प्लाईवुड बिजनेस के लिए जरूरी मशीन क्या है, प्लाईवुड बिजनेस में कौन से लाइसेंस जरूरी है, प्लाईवुड बिजनेस में raw मटेरियल क्या लगता है,प्लाईवुड बिज़नेस में मैन पावर कितने लगते है, प्लाईवुड बिजनेस में टारगेटेड कस्टमर कौन है, प्लाईवुड बिजनेस किन प्रोडक्ट की मांग होती है, प्लाईवुड बिजनेस की टॉप कंपनियों के नाम क्या है, प्लाईवुड बिजनेस में लागत कितनी लगती है, प्लाईवुड बिज़नेस में मुनाफा कितना है,

प्लाईवुड क्या है

वुड को लेयर में कट करके उसे एक के ऊपर पेस्ट करने पर जो बनाया जाता है, उसे प्लाईवुड कहते है, प्लाईवुड घरों में, दफ्तरों में, व अन्य जगहों में लकड़ी के दरवाजे व खिड़कियों आकर्षक दिखाने में इस्तेमाल किये जाते है।

प्लाईवुड बिजनेस क्या है

प्लाईवुड बिजनेस प्लाईवुड की बढ़ती मांग को देखते हुए प्लाईवुड की मैन्यूफैक्चरिंग व बिज़नेस करके जब मुनाफा कमाया जाता है, उसे ही प्लाईवुड बिज़नेस कहते है।

आज कल बढ़ती लाइफस्टाइल के साथ साथ हर चीज़ को बेहतर करने व आकर्षक दिखाने का प्रयास किया जा रहा, जिससे घरों में इस्तेमाल प्लाईवुड का बिजनेस वर्तमान में मुनाफा कमाने का अच्छा विकल्प होता है।

प्लाईवुड कैसे बनता है

प्लाईवुड बनाने का एक क्रमबद्व विधि होती है, जो निम्न है-

  • कटर व पिलर की मदद से पेड़ो की लेयर के रूप में काट लेना।
  • आवश्यकता के अनुसार साइज के कटिंग व उनके कोर या edge बनाना।
  • ग्लू के मदद से उन लेयर को एक के ऊपर पेस्ट करना।
  • प्लाईवुड प्राइमर या पेंट कलरिंग करना
  • पॉलिशिंग कर प्लाईवुड तैयार करना

इस प्रकार एक लकड़ी से एक प्लाईवुड तैयार कर मार्किट में इसकी बिक्री कर मुनाफा कमाया जाता है।

प्लाईवुड का बिजनेस के लिए जरूरी जानकारी क्या है

किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले उससे सम्बंधित जानकारी होना बहुत जरूरी है।

इसी प्रकार प्लाईवुड बिजनेस में जरूरी जानकारी निम्न है-

  • मार्किट में प्लाईवुड की मांग की जानकारी रखनी चाहिए, की कितनी मांग किस तरह के प्लाई की है।
  • मार्किट में प्लाईवुड की प्राइस की सही जानकारी जरूर रख्खे, जिससे सही प्राइस द्वारा ग्राहको को अपने तरफ खींच सके।
  • किस तरह के प्लाई की मांग ज्यादा, मतलब प्लाई की क्वालिटी व क्वांटिटी की जानकारी रख्खे।
  • प्लाईवुड तैयार करने के पूरे प्रोसेस की जानकारी रख्खे।
  • कौन मशीन किस काम के लिए है, इसकी जानकारी रखते हुए उसके दाम की भी जानकारी रख्खे, जिससे अपने बिज़नेस की साइज व बजट के अनुसार लागत लगाई जा सके।
  • मार्केटिंग स्ट्रेटेजी क्या क्या हो सकती है, जिससे ग्राहको को आकर्षित किया जा सके, इसकी अच्छी समझ रखना।
  • टारगेटेड कस्टमर की जानकारी रखना, की प्लाई की जरूरत किन लोगों को ज्यादा पड़ सकती है, उनकी जानकारी होना जरूरी है, जिससे ग्राहको को एक बार ढूढ़कर दुबारा ये काम उनसे आसानी से किया जा सके।
  • प्लाईवुड की पहचान होनी चाहिए।

प्लाईवुड बनाने बिजनेस को कैसे शुरू करे

प्लाईवुड बिजनेस को शुरू करने का प्रोसेस निम्न होता है-

मार्किट के जानकारी प्राप्त करना

किसी भी बिजनेस की शुरुआत उसकी जानकारी लेकर ही करना चाहिए, जिससे बिजनेस को सफल व मार्किट में नाम बनाया जा सके,इसके लिए प्लाईवुड की कितनी मांग मार्केट में है, कितनी मात्रा में एक दिन उत्पादन किया जा रहा, कितना अच्छा क्वालिटी देकर मार्किट में बिज़नेस जमाना है, ये सभी जानकारी जरूर रख्खे।

जगह का चयन करना

जगह का चुनाव करते समय हमेशा ध्यान देना चाहिए, की जिस भी चीज़ का बिज़नेस हम कर रहे, उस एरिया में उसकी मांग कितनी है, raw मटेरियल की पहुँच के अंदर हो रहा या नही, साधन है या नही।

बिजनेस के लिए जगह कोशिश करे ऐसी हो जहा से लकड़ियों की सप्लाई आसानी से की जा सके।

जगह लगभग मैन्युफैक्चरिंग के बिजनेस के 1000 से 2000 स्क्वायर फिट के लगभग होनी चाहिए, जिससे मशीनों के सेटअप व बिजनेस के सेटअप में जगह की कमी न हो।

बिजनेस के लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन बनवाना

किसी भी बिजनेस को मार्किट में कानूनी तौर पर मान्य के लिए लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है।

प्लाईवुड बिजनेस में जरूरी लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन निम्न हैं-

  • Udhyog का रजिस्ट्रेशन कराना (किसी भी बिजनेस के लिए कानूनी रूप से जरूरी)
  • बिजनेस की शॉप का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट(शॉप की ओनरशिप का प्रूफ के लिए)
  • स्टेट पॉल्युशन कंट्रोल बोर्ड द्वारा NOC रजिस्ट्रेशन(नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट)
  • BIS सर्टिफिकेट (ISI मार्क्स)- ब्रांड की पहचान के लिए
  • बिजनेस की ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन- बिज़नेस के ब्रांड को सेफ रखने के लिए जिससे कोई दूसरा उसे कॉपी न करे)
  • कमर्शियल बिजली कनेक्शन(बिजली की बचत के लिए)

ये सभी सर्टिफिकेट, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन प्लाईवुड के बिज़नेस के लिए जरूरी होते है, जिनसे बिज़नेस को कानूनी तौर पर बिज़नेस करने का मान्यता मिल जाती है।

बिजनेस में इस्तेमाल मशीनों को खरीदना

प्लाईवुड बिजनेस में भी प्लाईवुड को तैयार करने के लिए मशीनों की आवश्यकता पड़ती है।

ये मशीन निम्न है –

  • Peeler (लकड़ी की छाल उतारने के लिए)
  • Venner router (लकड़ी को चारों तरफ से 
  • Veneer cliper 
  • Gluing machine (कटी हुई लकड़ी की लेयर को चिपकने के लिए)
  • Veneer splicer (टुकड़ो में बांटने के लिए)
  • Conveyer or roller (लकड़ी को गोल करने के लिए)
  • Venner drying machine (सुखाने के लिए)
  • Pressing machine (प्लाईवुड को प्रेस करके एक दूसरे पर पेस्ट करने में मदद के लिए)
  • Drying press (सुखाने के लिए)
  • Venner splinter
  • Plywood edge(core or corner) making machine (प्लाईवुड के कोने को सही आकार देने के लिए)
  • Sanding machine (scraper belt, drum)
  • Boiler with accessories (उबालकर प्लाईवुड तैयार करने के लिए)
  • Polishing (प्लाईवुड को पोलिश करने के लिए)

ये सभी मशीन प्लाईवुड को तैयार करने में इस्तेमाल की जाती है, जिससे आसानी से प्लाईवुड ज्यादा से ज्यादा बेहतर व ज्यादा उत्पादन किया जा सकता है।

मैनपावर बनाना या तैयार करना

किसी भी बिजनेस को चलाने के लिए उसमे लोगो की जरूरत पड़ती है, और ये काम बिज़नेस की साइज पर निर्भर करती है, सामान्यतः प्लाईवुड के मैन्युफैक्चरिंग बिज़नेस में 20 से 30 वर्कर की नियुक्ति की जा सकती है, जिसे बाद में बिज़नेस बढ़ने पर बढ़ाया जा सकता है।

कच्चा माल खरीदना

जिस भी बिजनेस को किया जाता है, उससे जुड़ा raw material मतलब कच्चा माल को खरीदना बहुत जरूरी होता है, पहले कम मात्रा में खरीदकर बिजनेस शुरू करना चाहिए, जब बिज़नेस बढ़ता व मुनाफा देने लगे तो आप मात्रा बढ़ा सकते है।

कच्चे माल में लकड़ी के लठ्ठे, timber, glue,  core होते है, जिनके द्वारा प्लाईवुड तैयार किया जाता है।

बिजनेस की मार्केटिंग करना

बिजनेस की मार्केटिंग बिजनेस की सफलता का आधार है इसीलिए मार्केटिंग करना बेहद जरूरी काम होता है।

बिज़नेस की मार्केटिंग के निम्न तरीके है-

  • पब्लिसिटी के द्वारा बिजनेस की मार्केटिंग
  • सेल्स प्रमोशन(sales promotion)
  • सोशल वेबसाइटों पर add करके।
  • बैनर, पम्पलेट, बिज़नेस कार्ड के द्वारा मार्केटिंग

इन सभी मार्केटिंग के तरीके में सब मे address, contact number, work को जरूर डालना चाहिए, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग व ग्राहको को आकर्षित किया जा सके।

प्लाईवुड तैयार कर मुनाफा कमाना

मशीनों की मदद व वर्कर की कुशलता के साथ प्लाईवुड तैयार किया जाता है, जिसे थोकविक्रेता, बड़ी बड़ी कंपनियों, कारखाने, कॉरपोरेट सेक्टरों में सप्लाई कर मुनाफा कमाया जाता है।

इस प्रकार इस पूरे प्रोसेस द्वारा प्लाईवुड बनाने का बिजनेस करके अपने कैर्रीयर को एक बेहतर दिशा दिया जा सकता है।

प्लाईवुड बिजनेस में किन प्रोडक्ट की मांग होती है

प्लाईवुड बिजनेस में बहुत सारे प्रोडक्ट को बनाकर उन्हें मार्किट में बेचकर मुनाफा कमाया जाता है।

ये प्रोडक्ट निम्न है-

  • Wooden plywood
  • Bamboo plywood
  • Veneer manufacturing
  • Medium density fiberboard manufacturing
  • Laminated structural wood members manufacturing
  • Fabricated structural wood members manufacturing
  • Oriented still board manufacturing
  • Plastic faced plywood manufacturing
  • Wood products manufacturing(with sheet and boards)
  • Ruff trustees manufacturing
  • Producing wood chips
  • Particleboard manufacturing

ये सभी प्रोडक्ट अलग अलग जगहों पर अलग मांग रखते है, तो आप किन्ही भी प्रोडक्ट के चयन करके मार्किट में सफलता को देखते हुए बिज़नेस को कर सकता है।

प्लाईवुड बिजनेस की टॉप कंपनियों के नाम क्या है

प्लाईवुड बिजनेस की टॉप कंपनियों के नाम निम्न है-

  • Garnet plywood
  • Sonear
  • Wigwam
  • Bhutan tuff(bringing home the nature)
  • Archidply
  • Merino blockboard
  • Kitply(kitply industry Ltd)
  • Duro ply(commercial plywood)
  • Greenply  plywood
  • Centuryply

ये सभी कंपनियां टॉप 10 के अंतर्गत आने वाली कंपनियां है, जो plywood मैन्युफैक्चरिंग करके मुनाफा कमाती है।

प्लाईवुड बनाने का बिजनेस में कितनी लागत लगती है

प्लाईवुड बिजनेस में मशीनरी, व कच्चे माल व सेटअप व लाइसेंस बनवाने में कुल लागत लगभग 50000 से लगभग 1 लाख न्यूनतम लगाकर प्लाईवुड बिज़नेस शुरू किया जा सकता है।

बड़े पैमाने पर ये बिजनेस करने के लिए लगभग लाख से 1 करोड़ तक लागत लग सकती है, जिसके द्वारा आप लोन ले सकते है।

प्लाईवुड बनाने का बिजनेस में कितना मुनाफा होता है

प्लाईवुड बिजनेस उत्पादन व क्वालिटी पर टिकता है, जिसमे न्यूनतम 15 से 40 % तक रिटर्न्स के चांस होते है मुनाफा अगर देखे तो लगभग 30000 से 40000 महीना तक शुरुआती दौर में हो सकता है, जिसके द्वारा व्यक्ति आने बिज़नेस को आगे बढाकर उसके भविष्य को बेहतर बना सकता है।

इस प्रकार प्लाईवुड बिजनेस करके इसके इच्छुक लोगों को बुसिनेजस व कैर्रीयर का बेहतर विकल्प मिल सकता है, जिसके द्वारस वो अपने व अपने आने वाले कल के लिए प्लानिंग कर सकता है।

प्लाईवुड बिजनेस में इछुक लोगो द्वारा पूछे जाने वाले सवाल जो लोगो द्वारा ज्यादा पूछे जाते है-

Q : प्लाईवुड के प्रकार कितने है?

प्लाईवुड के प्रकार 4 है-  सामान्य, लिबास सजावटी,पेंटिंग, सजावटी प्लाईवुड मुख्य होते है।

Q : प्लाईवुड कौन सा अच्छा होता है?

MDF प्लाईवुड सबसे अच्छा होता है, यह बहुत ज्यादा तापमान पर पाउडर लकड़ी के फाइबर से बनाया जाता है,प्लेट सतह चिपटी व सपाट होती है,व सॉफ्ट होने के साथ साथ अच्छी क्वालिटी व कैपेसिटी वाला होता है, जो जल्दी खराब नही होता है।

Q : कमर्शियल प्लाई की कीमत क्या है?

कमर्शियल प्लाई की कीमत न्यूनतम 40/sq.ft व अधिकतम 189/sq.ft  होती है।

Q : फायर सेफ प्लाई की कीमत क्या है?

फायर सेफ प्लाई की कीमत 55/sq.ft न्यूनतम व 261/sq.ft अधिकतम कीमत है।

Q : लकड़ी वाले प्लाई की वर्तमान में कीमत क्या है?

लकड़ी वाले प्लाई की अभी कीमत 60 रुपये के लगभग थी, जो अब बढ़कर 80 से 90 हो चुकी है।

Q : सबसे मजबूत लकड़ी किस पेड़ की होती है?

सबसे मजबूत देवदार के पेड़ की लकड़ी होती है, जो सख्त व मजबूत होने के वजह ज्यादातर मजबूत फर्नीचर व गेट , खिड़कियों को बनाने में इस्तेमाल की जाती है।

Thanks

अन्य पढ़े :

अगरबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

जूते बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

फर्नीचर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: