इत्र बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Perfume Manufacturing Business Full Process in Hindi

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का स्वागत है। आप सभी परफ्यूम के बारे में जानते होंगे, परफ्यूम का अर्थ होता है इत्र। यदि आप आज के समय मे बिजनेस करने के बारे में सोच रहे है तब आपके लिए सबसे अच्छा बिजनेस परफ्यूम बनाने का होगा, आज के समय में परफ्यूम की मांग काफी अधिक है ऐसे में यदि आप परफ्यूम बनाने का बिजनेस स्टार्ट करते है तब आपको काफी फायदा होगा, आज हम इस पोस्ट के माध्यम से परफ्यूम कैसे बनाते है, परफ्यूम क्या चीज से बनता है, घर मे परफ्यूम कैसे बना सकते है, घर मे इत्र बनाने की विधि, परफ्यूम बनाने की मशीन, परफ्यूम बनाने की प्रक्रिया, बिजनेस करने का स्थान, परफ्यूम बिजनेस की मार्केटिंग कैसे करे आदि के बारे में विस्तार से बात करेंगे, तो चलिए दोस्तों हम परफ्यूम बनाने के बिजनेस के बारे में जानते है।

परफ्यूम मेकिंग बिजनेस क्या है :

आज के समय मे बिजनेस की डीमंड बहुत ज्यादा है ऐसे में परफ्यूम मेकिंग बिजनेस एक तरह का इत्र बनाना है, इसमें विभिन्न तरह के रॉ मटेरियल जैसे फूल, शराब, पशु पदार्थ व सिंथेटिक केमिकल के माध्यम से लिक्विड का निर्माण करते है जिसे परफ्यूम कहते है, इस सब को बनाने के प्रोसेस व मार्केटिंग करने को परफ्यूम मेकिंग बिजनेस कहते है।

परफ्यूम बनाने में उपयोग किया जाने वाला रॉ मटेरियल :

आज के समय मे परफ्यूम बनाना बहुत ही आसान हो गया है, यदि आप परफ्यूम बनाना चाहते है तब आपको कई तरह का समाग्री का प्रयोग करना होगा तथा इन सभी सामग्रियों के मदद से सुगंध प्राप्त किया जाता है, आइये जानते है कौन से रॉ मटेरियल लगता है-

• शराब- यदि आप परफ्यूम बनाने जा रहे है तब आपको शराब की आवश्यकता होगा क्योकि परफ्यूम में इसका इस्तेमाल काफी अधिक होता है, अलग अलग परफ्यूम में शराब की मात्रा अलग होता है, पर हर तरह के परफ्यूम में शराब मौजुद होता है।

• फूल : यदि आप परफ्यूम बनाने जा रहे है तब आपको फूल के रस का प्रयोग करना पड़ेगा ऐसे में आपको फूल की आवश्यकता पड़ेगा, एक परफ्यूम के बोतल में 15% से 30% तक फूल के रस होते है। फूल के साथ ही आप घास, कई तरह के मसाला, फल, लकड़ी, रेजिन, कोयले के तार, बालसम, पेट्रोकेमिकल, कोयला व पत्तियों का भी प्रयोग किया जाता है।

• पशु पदार्थ : इत्र बनाने के लिए पशु स्त्राव का भी प्रयोग किया जाता है, पशु पदार्थ का प्रयोग फिक्सडेटिव के रूप में किया जाता है ताकि परफ्यूम में जो भी चीजे डाली जा रही है वह आपस मे चिपका रहे, साथ ही यह इत्र को वाष्पीकरण से बचाता है।

• सिंथेटिक केमिकल : बहुत सारे कृत्रिम रसायनों का प्रयोग परफ्यूम बनाने में किया जाता है क्योकि कुछ फूलों में प्राकृतिक तेल नही होते है ऐसे में सिंथेटिक केमिकल का प्रयोग इत्र में खुश्बू लाने के लिए किया जाता है। 2000 ऐसे फूल है जिससे प्राकृतिक तेल निकाले जा सकते है।

परफ्यूम बनाने के लिए रॉ मटेरियल कहाँ से खरीदे :

यदि आप परफ्यूम बनाने जा रहे है तब आपको रॉ मटेरियल खरीदते वक़्त इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप जो भी शराब, फूल, पशु पदार्थ व सिंथेटिक केमिकल खरीद रहे है वह शुद्ध है या नही, शुद्ध हो तभी खरीदे ऐसे में नही। आप रॉ मटेरियल ऑफलाइन बाजार से खरीदे क्योकि ऑनलाइन खरीदते है तब आपके पास फूल को आने में वक़्त लगेगा ऐसे में वह खराब भी हो जाता है, इसलिए रॉ मटेरियल आप अपने नजदीकी मार्केट से खरीद सकते है आपको आसानी से मिल जायेगा। साथ ही आप कम जगह पर कुछ फूल के पौधे लगा सकते है व फूल का उत्पादन कर, परफ्यूम बना सकते है।

परफ्यूम बनाने में प्रयोग होने वाला मशीन :

यदि आप परफ्यूम बनाने जा रहे है तब आपको दो तरह के मशीन की आवश्यकता पड़ेगा वह निम्न है-

• इत्र बनाने की मशीन – इत्र बनाने की मशीन आपको ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों माध्यम में मिल जायेगा, इत्र बनाने के लिए एक ही मशीन लगता है जिसकी कीमत 2.50 लाख के करीब होता है, इसमें सभी काम एक साथ हो जाता है, तथा आपको एक दूसरे मशीन की आवश्यकता पड़ेगा।

• परफ्यूम फीलिंग मशीन – परफ्यूम बनाने के बाद उसे बोतल में भरने के लिए एक दुसरे मशीन की आवश्यकता पड़ेगा जिसकी कीमत है 70 हजार रुपये, आप इसे ऑनलाइन व ऑफलाइन जैसे चहाते है खरीद सकते है।

घर मे परफ्यूम कैसे बना सकते है (Perfume Making Process)

हम घर पर भी परफ्यूम बना सकते हैं लेकिन इसके लिए हमें सबसे पहले परफ्यूम बनाने की विधि को सीखना होगा तो आइए हम बताते हैं कि घर पर इत्र कैसे बनाएं।

परफ्यूम बनाना बहुत ही आसान है निम्न स्टेप को फ़ॉलो करे-

• सर्वप्रथम आपको परफ्यूम बनाने के लिए फूल का इंतजाम करना होगा जिस तरह का भी परफ्यूम बनाना चाहते है उस तरह का फूल आपके पास होना चाहिए।

• इसके पश्चात आपको निष्कर्षण विधि अपनाना होगा, परफ्यूम बनाने के लिए फूलों तथा पेड़ों के पत्तियों का रस या फिर उनका तेल निकालना होगा, आपको फूलों तथा पेड़ों से किसी भी तरह का सहायता ले सकते है।

• इसके बाद आपको मैक्रेशन प्रोसेस करना होगा। मैक्रेशन प्रोसेस का प्रयोग निष्कर्षण विधि के लिए किया जाता है तथा इस प्रक्रिया में हिट का प्रयोग किया जाता है तथा फूलों व पौधों से तेल निकालना होता है

• अब तेल निकल जाता है फिर आपको ब्लेंडिंग करना होगा, तेल जो प्राप्त हुआ है उसे खुश्बू में बदलना पड़ता है, फिर आपको इसमें एक निश्चित अनुपात में शराब मिलाना होगा, फिर इत्र को रख दिया जाता है।

• ब्लेडिंग करने पश्चात अब आपको कुछ दिनों तक या फिर कुछ महीनों तक परफ्यूम की एजिंग करना होता है, फिर जो उसका सुगन्ध होता है वह निकल जाता है व इत्र की सुगंध आने लगता है, यदि नही हुआ रहता है ऐसा फिर पुनः ब्लेडिंग किया जाता है।

• अब आपको एजिंग करने के बाद अपने परफ्यूम की पैकिंग करनी होगी उसके लिए आप पैकिंग मशीन का इस्तेमाल कर सकते है वह बोतल में बन्द कर दे, इस तरह से आपका इत्र बनकर तैयार हो गया है।

परफ्यूम बनाने में कितना लागत लगता है :

यदि आप परफ्यूम बनाने के बिजनेस स्टार्ट कर रहे है तब आपको शुरुआत में मशीन का खर्च उठाना पड़ेगा, आपको दो मशीन लेना होगा तथा दोनों की कीमत 3 लाख से 4 लाख रुपये के मध्य है, इसके साथ ही आप रॉ मटेरियल लेते है वह 60-70 हजार रुपये तक मे आसानी से आ जायेगा, व परफ्यूम के लिए बोतल 5 हजार में 500 बोतल मिल जाएगा, ऐसे में आपको इधर उधर मिलाकर कुल लागत मूल्य 5 लाख रूपये के करीब आएगा, व आप 5 लाख रुपये में अपना परफ्यूम बनाने का बिजनेस स्टार्ट कर सकते है।

परफ्यूम बनाने का व्यापार में लाभ (Profit)

यदि आप परफ्यूम का बिजनेस स्टार्ट करते है तब आपको बहुत फायदा है क्योंकि मशीन में आपको एक बार इन्वेस्ट करना है, साथ ही मशीन का मेंटेनेंस भी कम है। इसके बाद आपको सिर्फ रॉ मटेरियल में खर्च करना होगा, तथा आपका माल जीतने रुपये में बिकता है आप उसमें 50-60% पैसे कमा सकते है, इस तरह से यदि आप परफ्यूम का बिजनेस स्टार्ट करते है तब आपकी कमाई बेहतरीन है, इसमें आपको काफी लाभ होगा।

परफ्यूम बनाने का व्यापार का पंजीकरण (registration )

यदि आप परफ्यूम बनाने के बिजनेस करते है तब आपको कुक कानूनी कार्यवाही करनी होगी तथा इसके साथ कुछ पेपर वर्क करना होगा, ऐसे में आपको अपने बिजनेस के लिए ट्रेंड लाइसेंस आवश्यकता होगा तथा आपको municipal corporation के commerce department में ट्रेंड लाइसेंस के लिए आवेदन करना होगा। इसके बाद आपको अपने बिजनेस का रेजिस्ट्रेशन OPC, LLP या PVT.LTD आदि में से किसी एक मे कराना होगा, तथा आपको अपने बिजनेस का GST number देना होगा एवं अपको इनकम टैक्स रीटन फाइल करना पड़ेगा। इसके साथ ही आपको पैन कार्ड की आवश्यकता पड़ेगा, तथा एक्टिव एकाउंट कमर्शियल बैंक में होना चाहिए।

परफ्यूम बनाने के व्यापार की मार्केटिंग

वर्तमान समय मे बहुत सारे छोटे छोटे परफ्यूम बनाने वाली कंपनियां है, क्योकि परफ्यूम का डिमांड काफी ज्यादा हो गया है ऐसे में आप अपने परफ्यूम की ब्रांडिंग अवश्य करे, इसके लिए आपको सोशल मीडिया का मदद लेना चाहिए जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम व ट्विटर के माध्यम से आप अपने परफ्यूम बिजनेस का प्रोमोशन कर सकते है, इसके साथ ही आप अपने परफ्यूम को e-commerce के साथ जोड़ सकते है जैसे amazon, flipkart में डायरेक्ट सेल कर सकते है। शहर के चौराहे पर पेन परफ्यूम का ऐड लगवा सकते है, इसके साथ ही आप अपने परफ्यूम की क्वालिटी बेहतरीन रखे जिससे कोई भी यदि एक बार उपयोग करता है फिर वह बार बार इस परफ्यूम का प्रयोग कर सके। आप अपने परफ्यूम की मार्केटिंग करने के लिए मेकअप स्टोर व गिफ्ट हाउस वालों से कॉन्ट्रैक्ट ले सकते है आदि तरह से आप अपने परफ्यूम की मार्केटिंग कर सकते है।

Frequently asked questions

Q-1 सबसे बेहतरीन इत्र कौन से है?

Ans- इत्र अल काबा (Attar Al Kaaba) है, यह शानदार परफ्यूम ऑयल अल हरमैन रेंज में इसे सबसे बेहतरीन माना जाता है।

Q-2 इत्र के कितने प्रकार है?

Ans- इत्र को मुख्यत: तीन प्रकार में रखा गया है जैसे टॉप/ हेड नोट्स, मीडिल/ हार्ट नोट्स तथा तीसरा बेस नोट्स आदि रुप में तीन भाग में रखा गया है, ऐसा इसके उपयोग तथा खासियत व सुगंध आदि को ध्यान में रखते हुए किया गया है।

Q-3 इत्र के लिए मशहूर जिला कौन सा है?

Ans- इत्र के लिए उत्तरप्रदेश के कन्नौज जिले को इत्र के लिए मशहूर मानते है तथा इसे इत्र की राजधानी भी कहते है।

Q-4 Deo क्या है?

Ans- Deo एक सुगन्धित पदार्थ है, इसे शरीर मे लगाया जाता है तथा इसके माध्यम से शरीर में पसीने से उतपन्न दुर्गंध को हटाया जाता है।

Q-5 परफ्यूम का प्रयोग किसमें करते है?

Ans- परफ्यूम का प्रयोग सीधे शशरीर मे न करके, कपड़े के ऊपर में किया जाता है, ताकि सुगंध बना रहे, क्योकि परफ्यूम शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है।

यदि आप परफ्यूम बनाने की सोच रहे हैं या परफ्यूम का व्यापार करने की सोच रहे हैं तो आपके मन में किसी भी प्रकार का क्वेश्चन हो तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं हम कमेंट में आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूर्ण कोशिश करेंगे।

हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर आपको कैसा लगा। आपके सुझाव समाधान हमारे लिए बहुत ही कारगर साबित होंगे।

अन्य पढ़े :

ईट बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

साबुन बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

हवाई चप्पल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: