दूध उत्पादन व्यवसाय कैसे करें Milk Dairy Business Plan in Hindi

दूध उत्पादन व्यवसाय कैसे करें – दूध उत्पादन का व्यवसाय एक ऐसा व्यवसाय जिससे सभी परिचित हैं भारत मे तो यह व्यवसाय एक पारंपरिक व्यवसाय हैं, जिसमे लोग दुधारू पशुओं जिसमें गाय, भैस, बकरी, आदि शामिल हैं, उनका पालन करते हैं, उसके बाद उनके द्वारा प्राप्त दूध का व्यवसाय करते हैं

दूध उत्पादन का व्यवसाय आज भी ग्रामीण इलाको में किसानों की जीविका का एक प्रमुख आधार है पूरे विश्व मे दूध की बढ़ती मांग के कारण आज दूध उत्पादन का व्यवसाय एक बहुत अच्छे व्यवसायों में गिना जाता है आज बहुत से ऐसी कंपनियां खुल रही हैं, जो दूध के व्यापारियों से दूध लेकर उन्हें पैकिंग करके बेचती हैं इसके बदले में वो इनको अच्छी कीमत भी अदा करती हैं

इस प्रकार आज इस बिज़नेस को जो भी करेगा वह बहुत फायदा कमा सकता है लेकिन थोड़ा दुर्भाग्य भी है वो यह है कि हमारे देश में दूध उत्पादन के जरिये पैसे कमाने का तरीका तो बहुत पुराना है, लेकिन अच्छी तकनीकी ज्ञान की कमी, और दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के वैज्ञानिक तरीकों की जानकारी के मामले में हमारे देश के दूध उत्पादक कुछ पीछे है लेकिन अब धीरे धीरे जागरूकता आ रही हैं, और व्यापारियों का मुनाफा भी बढ़ रहा है तो चलिए जानते है कि दूध उत्पादन के व्यवसाय के बारे में

दूध उत्पादन व्यवसाय के लिए बाजार

दूध उत्पादन का व्यवसाय यदि आप कर रहे हैं तो आपको इसके बाजार के संबंध से ज्यादा चिंता करने की जरूरत नही है, क्योंकि यह कोई ऐसा बिज़नेस नही है जो नया है, या जिसमे आपको नया बाजार बनाना पड़ेगा यह एक ऐसा बिज़नेस है, जिसका बाजार पूरा भारत में है

शायद ही यहां कोई घर ऐसा होगा,जो दूध का किसी न किसी तरीके से उपयोग नही करता होगा सुबह की चाय या कॉफी से लेकर रात को दूध पी के सोने तक हम दूध का उपयोग करते ही हैं इसके साथ ही यदि पूरे विश्व बाजार की बात करें तो भारत पूरे विश्व मे दुग्ध उत्पादन के मामलें में पहले स्थान पर है वही गाय के दूध के उत्पादन के मामले में भारत आज दूसरे स्थान पर है

इस तरह से हम आज दुनिया को दूध निर्यात भी कर रहे हैं 2015-16 के बाद से भारत के दूध उत्पादन को क्षमता में बहुत इजाफा देखने को मिला है इस तरह देखा जा सकता है, की किसी भी दुग्ध उत्पादक के पास दूध बेचने के लिए कई रास्ते होते हैं वह दूध का इस्तेमाल डेरी के लिए दूध की आपूर्ति में कर सकता है

दूध उत्पादन का व्यवसाय शुरू करने से पहले किन बातों पर ध्यान देना चाहिए

दूध उत्पादन का व्यवसाय एक व्यवसाय है, जिसमें आप लाखों कमा सकते हैं, लेकिन इसके लिए भी आपके पास एक सफल योजना होना बहुत जरूरी होती है उदाहरण के लिए आपको यह जानकारी होनी चाहिए कि किस नस्ल के पशु अच्छा दूध का उत्पादन कर सकते हैं इसके साथ ही उनको पोषक आहार देने के संबंध में भी आपको जानकारी होना चाहिए इस तरह कुछ और बिंदु है जिनके बारे में आपको व्यवसाय शुरू करने से पहले सोचना जरूरी है

1) दूध उत्पादन व्यवसाय शुरू करने के पहले ही आपको यह निर्धारण करना पड़ेगा कि आप कितने पशुओं को शुरू के पालेंगे, और आपके दूध बेचने के लिए बाजार कौन से हैं

2) यदि आप दूध उत्पादन के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ विशेषज्ञों से पशुपालन के संबंध में सलाह लेनी चाहिए जैसे पशुओं के लिए किस तरह का आहार सही रहेगा पशुओं को बीमारियों से दूर कैसे रखें इसके लिए आप किसी डॉक्टर आदि की सलाह भी ले सकते हैं

3) पशुओं से दूध के अलावा भी आप कचरे, गोबर के रूप में कई अपशिष्ट पदार्थ भी पाते है आपको इसके प्रबंधन से संबंधित जानकारी हासिल करनी चाहिए, साथ आप इनसे कैसे उर्वरक आदि बना सकते हैं, यह जानकारी हासिल कर सकते हैं

4) आपको पशुओं के गर्भधारण आदि के संबंध में भी जानकारी रखनी पड़ेगी यदि आप पशुपालक है तो आपके लिए पशुओं का कृतिम गर्भ धारण कराना ज्यादा बेहतर होता है क्योंकि इससे आप अच्छी नस्ल के पशु पा सकते हैं

5) पशुओं से दूध निकालने के संबंध में आधुनिक तकनीकी का ज्ञान अवस्य होना चाहिए साथ ही इस क्षेत्र में क्या कुछ नया हो रहा है, और इसमे कौन सी नई संभावनाएं है, उन्हें अवस्य तलाशना चाहिए

दूध उत्पादन व्यवसाय के लिए कौन से पशु दुधारू नस्ल के हैं?

हमारे देश मे दूध उत्पादन के लिए मुख्यतः दो पशुओं का उपयोग किया जाता है गाय और भैंस इन दोनों में कुछ ऐसी खास नस्लें भी होती हैं जो दूध देने के मामलें में बहुत अच्छी होती है के एक वक्त में में 10 लीटर से भी ज्यादा दूध देने में सक्षम होती हैं यदि इन नस्लों को पाला जाए तो आप ज्यादा मात्रा में दूध उत्पादित कर सकते हैं

गाय की नस्लें

साहिवाल, गिर, जर्सी, रेड सिंधी, ब्राउन स्विस

भैस की कुछ नस्लें

मुर्रा, सुरती, भद्वारी, मेहसाना, जाफराबादी, नील रवि, नागपुरी

दूध उत्पादन व्यवसाय के स्तर

दूध उत्पादन का व्यवसाय पशुओ की संख्या के आधार पर कुछ भागों में विभाजित किया जा सकता है जो इस प्रकार है

लघु डेयरी फार्म

लघु डेयरी फार्म दूध उत्पादन के क्षेत्र में व्यवसाय करने का सबसे प्रारूप है इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको बहुत अधिक निवेश करने की जरूरत नही होती है इसके लिए आप किसी अच्छी नस्ल की दो गाय लेकर इस व्यवसाय को आसानी से शुरू कर सकते हैं

लघु डेरी में निवेश

इस व्यवसाय की शुरूआत बहुत ही कम निवेश पर हो जाती है इसके लिए आप कुल निवेश का 65% बैंक से लोन ले सकते हैं 25% गव्य विकास निदेशालय की तरफ से मिलता है आपको इस व्यवसाय में 5-10% खुद से लगाना पड़ता है इस तरह आपको इस व्यवसाय में आर्थिक मदद मिल जाती है

लघु डेयरी फार्म व्यवसाय से होने वाली कमाई

किसी भी दुधारू पशु को पालने के दौरान उसके खानपान और स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना पड़ता है इसके लिए आपको हर माह पैसे भी लगाने पड़ते हैं उसके लिए उत्तम किस्म के भोजन की व्यवस्था, दवाइयां, साफ सफाई आदि में कुछ पैसा लगता है यदि हर माह लगने वाले इस खर्च को निकाल दिया जाए तो आप साल के आसानी से 40000-45000 रु कमा सकते हैं

मिनी डेयरी फार्म

यह फार्म लघु फार्म से थोड़ा बड़ा फार्म होता है इस फार्म में आप कम से कम 5 गाये रख सकते हैं इस फार्म के लिए भी आपको वही प्रबंध करने पड़ते हैं जो लघु फार्म के लिए करने पड़ते हैं इस फार्म को शुरू करने के लिए आपको थोड़ी ज्यादा जगह की जरूरत पड़ सकती है

मिनी डेयरी फार्म शुरू करने में होने वाला निवेश

यदि मिनी डेयरी फार्म में होने वाले निवेश की बात करें तो यह 2.5 लाख तक हो सकता है इसमे से आपको ठीक वैसे ही 65% लोन, 25% तक गाय विकास निदेशालय की तरफ से तथा बाकी की रकम आपको खुद लगानी पड़ेगी इसमे आपको गायों के भोजन आदि में अधिक निवेश करना पड़ेगा

मिनी डेयरी फार्म से होने वाला मुनाफा

मिनी डेयरी फार्म शुरू करने में लगत बढ़ रही हैं, तो इसमे होने वाला मुनाफा भी बढ़ेगा यहां पर लगात प्रमुख रूप से इनके रखरखाव में बढ़ेगी आपको प्रतिमाह इसके लिए अधिक मात्रा में पोषक आहार आदि खरीदना पड़ेगा इस प्रकार इनके भोजन, रखरखाव, लोन की किस्तें आदि का खर्च निकाल दिया जाए तो आप इस बिज़नेस के द्वारा साल के 1 लाख से भी ज्यादा कमा सकते हैं

व्यावसायिक डेयरी फॉर्म

यह डेयरी फार्म बड़े स्तर पर शुरू किया जाता है यदि आपके पास पशुपालन से संबंधित पर्याप्त अनुभव हैं, साथ ही इसके लिए आपके पास जगह आदि की कमी नही है तो यह व्यवसाय आपके लिए ही है यह व्यवसाय आपसे अधिक निवेश की मांग करता है इस वजह से आप यह व्यवसाय तभी शुरू करें जब आप आर्थिक रूप से सक्षम हों क्योंकि इस व्यवसाय में महीने का होने वाला खर्च की लाखों के ऊपर चला जाता है यदि आप इतना हर माह खर्च कर पाने में सफल नही हो पाते हैं तो आप घाटे में भी जा सकते हैं

व्यावसायिक डेयरी फॉर्म शुरू करने में निवेश

इस व्यवसाय में आपको कम से कम 15 से 20 लाख रु तक का निवेश करना पड़ सकता है इसके लिए आप बैंक आदि से लोन भी ले सकते हैं इस व्यवसाय को शुरू करने के लिये बैंक आपको 75% तक का लोन दे सकती हैं विभागीय अनुदान के तौर पर आप 2 लाख रु पा सकते हैं बाकी के बचे पैसे आपको लगाने पड़ेंगे

व्यावसायिक डेयरी फॉर्म व्यवसाय से कमाई

इस व्यवसाय से आप बहुत अधिक कमा सकते हैं, बस उसके लिए आपको अपने डेयरी के पशुओं का खानपान आदि का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा यदि सभी खर्चों और लोन आदि के किस्तों को काट दें तो आप सालाना 10 लाख से भी ज्यादा कमा सकते हैं

इन में से किसी भी प्रकार के कोई भी दूध उत्पादन का व्यवसाय शुरू कर सकता है

11 Comments

Leave a Reply to DHANANJAY KUMAR YADAV Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: