LED Bulb या Light Manufacturing Business कैसे शुरू करें

आज साइंस और टेक्नोलॉजी में हो रहे नए नए विकास के द्वारा ऐसे कई उपकरण, मशीन, व टेक्नोलॉजी बन गयी है, जो हमारे दैनिक जीवन को आसान बनाती है, उनमे से ही एक है LED, जो कि कम बिजली में ज्यादा रोशनी देकर बिजली के खर्च में बचत का एक बहुत अच्छा साधन है, आज हम सब लेड के विषय मे ज्यादा से ज्यादा जानने की कोशिश करेंगे।

LED क्या है इसके मुख्य उपयोग क्या है?

LED एक प्रकाश विद्युत उत्सर्जक होता है, इसमें विद्युत धारा को प्रकाश में बदलकर प्रकाश या रोशनी देता है।

ये एक p-n डायोड होता है(डायोड means +ve चार्ज रखने वाला)।

LED में अर्धरचालक के रूप में गैलियम आर्सेनाइड या इरीडियम आर्सेनाइड होता है, जो प्रकाश को देता है।

LED बल्ब क्या होता है

LED बल्ब नार्मल बल्ब से कम पावर consumption लेने वाला व ज्यादा रोशनी देने वाला बल्ब होता है।

आज वर्तमान में लेड बल्ब का इस्तेमाल प्रत्येक जगह चाहे घर हो, आफिस हो, या कोई दफ्तर हर जगह ज्यादा रोशनी देने व कम वाट में चलने वाला ये बल्ब हमेशा मांग में रहता है।

LED बल्ब बिज़नेस क्या होता है

LED बल्ब की मांग के चलते इसको बेचकर मुनाफा कमाने वाले बिज़नेस को लेड बल्ब का बिज़नेस कहते है, एलईडी बल्ब की फायदे व मांग की वजह से आज वर्तमान में इसका बिज़नेस एक अच्छा मुनाफा व सफलता देने वाला बिज़नेस होता जा रहा है, इसके इस्तेमाल को देखते हुए हम ये कह सकते है कि 2025 तक ये बिज़नेस और भी मुनाफा व सफल बिज़नेस की लिस्ट में शामिल हो जाएगा।

LED का उपयोग कहा करते है

LED का उपयोग मुख्य रूप से टेलीफोन, डिजिटल घड़ी, कैलक्यूलेटर, स्विच बोर्ड जैसी जगहों पर किया जाता है।

LED Manufacturing का बिज़नेस घर से कैसे शुरू करे

LED का बिज़नेस करने के लिए सबसे पहले इस बिज़नेस की जानकारी मार्किट व अन्य LED बिज़नेस को करने वालो से जानकारी लेकर प्लान व स्ट्रेटेजी तैयार करके इस बिज़नेस की प्लानिंग करते है।

LED बिज़नेस को शुरू करने के निम्न क्रम होते है-

जगह की चुनाव करे 

ऐसी जगह चयन करें जहां मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी मशीने, रॉ मटेरियल, जहा ट्रांसपोर्ट की सुविधा हो, मांग हो।

लाइसेंस व registration  बनवाना

किसी भी बिज़नेस में लाइसेंस व registration  उसको कानूनी तौर पर मान्यता व मार्केट में establish होने में मदद करता है।

LED बिज़नेस में भी मुख्य लाइसेंस व registration  निम्न लगते है-

  • स्टेट गवर्नमेंट से उद्योग लाइसेंस
  • म्युनिसिपल कार्पोरेशन व नगर निगम से बिज़नेस के लिए लाइसेंस
  • कमर्शियल बिजली कनेक्शन

ये सभी मुख्य लाइसेंस व registration  द्वारा बिज़नेस को मार्केट में एक वैध मान्यता मिलती है।

बिज़नेस सेटअप व रॉ मेटेरियल की खरीद करना

LED के इस बिज़नेस में जरूरी रॉ मटेरियल व जरूरी उपकरण को खरीदकर उसकी सेटअप जहाँ भी बिज़नेस को शुरू करना हो, वही कर लेते है।

लेड बल्ब के बिज़नेस के लिए रॉ मटेरियल जो इस्तेमाल किये जाते है, उसकी लिस्ट निम्न है-

  • सोल्ड़िंग वायर
  • सोल्ड़िंग पेस्ट
  • सोल्ड़िंग आयरन
  • MC  PCB
  • हीट सिंक कंपाउंड
  • एल्युमिनियम होल्डर
  • एल्युमिनियम टिक्की
  • स्क्रू 
  • डिफ्यूजर (बल्ब बॉडी)
  • ड्राइवर

ये सभी मुख्य लेड बल्ब के रॉ मटेरियल है, जो बल्ब को बनाने में इस्तेमाल किये जाते हैं।

LED बल्ब में इस्तेमाल मशीने खरीदना 

LED बल्ब के मैन्युफैक्चरिंग में कुछ जरूरी मशीन इस्तेमाल की जाती है, जिनके द्वारा इन एलईडी बल्ब की मैन्यूफैक्चरिंग का काम किया जाता है।

ये मशीने जो उपयोग की जाती है- एलईडी बल्ब बनाने की मशीन कितने की है?

पंचिंग मशीन – 800

टिक्की फिटिंग मशीन- 12000

हीट सिंक बल्ब मेकिंग मशीन- 3000

ये सब मुख्य मशीन होती है, जो एलईडी बल्ब में इस्तेमाल की जाती है।

ये एलईडी बल्ब मैन्युफैक्चरिंग किट 35 रुपये/ किट ऑनलाइन मौजूद है

ब्रांडिंग करना व मार्केटिंग करना

अपने एलईडी के बिज़नेस को मार्किट में एक पहचान व भरोसा दिलाने के लिए मार्केटिंग व ब्रांड देना बहुत अहम होता है, जिससे ज्यादा से ज्यादा ग्राहको को अपने बिज़नेस की ब्रांड के तरफ आकर्षित किया जा सकते।

ब्रांड की प्रिंट के लिए लैज़र प्रिंटिंग मशीन का इस्तेमाल करके किसी भी मेटल पर प्रिंट करके ब्रांड को मार्केट में पहचान दिला सकते है।

मार्केटिंग के लिए ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरीको का इस्तेमाल करके मार्केटिंग करनी चाहिए।

ऑनलाइन में सोशल वेबसाइट व नेटवर्किंग में बिज़नेस add डालकर।

ऑफलाइन में पम्पलेट, बैनर, बिज़नेस कार्ड को बनवाकर मार्केटिंग की जा सकती है।

LED बल्ब की मैन्यूफैक्चरिंग करके मार्केट थोकविक्रेता को बेचना व फिक्स कस्टमर को बेचना

LED बल्ब मैन्युफैक्चरिंग के बाद अपने फिक्स कस्टमर या थोकविक्रेता को बेचकर अपने ब्रांड को मार्किट तक पहुचाना पड़ता है।

मुनाफा कमाना

थोकविक्रेता को अपने ब्रांड का लेड बेचकर अच्छा मुनाफा कमाया जाता है, जिससे बिज़नेस को आगे बढाने में मदद मिलती है, व ग्राहको को व ब्रांड को मार्किट में अच्छी पहचान बनाने में मदद मिलती है।

इस क्रम में बिज़नेस को सेटअप करके कोई भी व्यक्ति इस एलईडी बल्ब बिज़नेस को शुरू कर सकता है व लेड बल्ब का बिज़नेस काम लागत ज्यादा मुनाफा दिलाने वाला बिज़नेस है, जिसकी तरफ आज बहुत लोग आकर्षित हो रहे है, व अच्छा मुनाफा कमा रहे है।

एलईडी बल्ब बनाने का तरीका क्या है?

LED बल्ब बिज़नेस में बल्ब की मैन्यूफैक्चरिंग निम्न तरह की जाती है-

  • सामग्रियों का चयन जिसमे ड्राइवर, सोल्ड़िंग वायर, सोल्ड़िंग पेस्ट, MC PCB, बॉडी, टिक्की, होल्डर, व अन्य चीज़े ले।
  • सबसे पहले MC PCB के बैक साइड में हीट सिंक लगाते है, जिससे हीट ज्यादा न हो बल्ब में।
  • हीट सिंक लगाने के बाद MC PCB को एल्युमिनियम टिक्की पर उभरे हुए साइड पर लगा देते है, व स्क्रू फिटिंग की मदद में MC PCB के मिडिल होल को सही से सेट करते हुए, स्क्रू को स्क्रू फिटिंग मशीन द्वारा फिट कर देते है।
  • स्क्रू फिट करने के बाद ड्राइवर को MC  PCB के मिडिल होल से उसके वायर को ले जाकर पॉजिटिव वायर को MC PCB के पॉजिटिव sign पर, व नेगेटिव वायर को उसके नेगेटिव sign पर आयरन सोल्ड़िंग मशीन की मदद से सोल्ड़िंग मशीन को हीट करके फिट कर लेते है।
  • अब ड्राइवर के दूसरे end  को डिफ्यूजर या बॉडी के निचले पार्ट में बड़े होल साइड से डालकर, ड्राइवर के वायर को होल्डर में वायर सोल्ड़िंग मशीन की मदद से जोड़ लेते है।
  • पंचिंग मशीन से होल्डर को फिट करके तैयार कर लेते है।
  • टिक्की को टिक्की फिटिंग मशीन की मदद से अच्छे से बॉडी में फिट कर लेते है।
  • लास्ट में बॉडी के गोल पार्ट को भी फिट करके बल्ब को तैयार कर लिया जाता है।
  • बल्ब की बॉडी पर अपने ब्रांड के लोगो लेज़र प्रिटिंग मशीन से प्रिंट कर पैक कर मार्किट में बेचकर मुनाफा कमा लिया जाता है।

LED बनाने के 9 वाट की किट कितने की मिलती है

लेड बनाने की 9 वाट किट में भी सभी सामग्री जैसे ड्राइवर, टिक्की, एल्युमिनियम होल्डर, बॉडी,  MC PCB मौजूद होती है, जो अमेज़न में भी उपलब्ध है-

LED बल्ब बिज़नेस व मैन्युफैक्चरिंग में लागत कितनी लगती है

LED बल्ब बिज़नेस में लागत का आधार है-

  • रॉ मटेरियल
  • मशीने
  • वर्कर सैलरी
  • सेटअप
  • पंचिंग मशीन – 800

टिक्की फिटिंग मशीन- 12000

हीट सिंक बल्ब मेकिंग मशीन- 3000

लेज़र प्रिंटिंग मशीन भी सेकेण्ड हैंड भी ले तो सस्ते में मिल सकती है।

ये सभी मशीन एक बार लागत लगाने वाली लागत होती है।

इसके अलावा मैन पावर सैलरी, रॉ मटेरियल में 35 रुपए/ किट की दर से देखे तो अधिकतम रॉ मटेरियल में लागत शुरुआती बिज़नेस में 1000 किट या रॉ मटेरियल व सैलरी मासिक 5000 से 10000 के लगभग लगेगी।

शुरुआत के बिज़नेस में अधिकतम अधिकतम लागत 120,000 से 150,000 में ये बिज़नेस शुरू किया जा सकता है।

और सबसे मुख्य बात इस बिज़नेस में वाट के हिसाब से किट की प्राइस भी रहती है, लागत भी लगती है।

LED बल्ब Manufacturing बिज़नेस में कितना मुनाफा होता है

LED बल्ब के बिज़नेस कम लागत में ज्यादा मुनाफा देने वाला बिज़नेस है, अगर एक बल्ब की कीमत 100 रुपये है, व 10 से 20 बल्ब भी बिक रहे, तो एक दिन में बल्ब बिक्री द्वारा 1000 से 2000 के करीब मुनाफा हुआ तो, मासिक 30000 से 40000 तक मुनाफा कमाया जा सकता है।

अलग अलग ब्रांड व वाट के बल्ब की प्राइस भी अलग अलग होती है।

इस प्रकार लेड बल्ब का बिज़नेस काम लागत ज्यादा मुनाफा दिलाने वाला बिज़नेस है, जिसकी तरफ आज बहुत लोग आकर्षित हो रहे है, व अच्छा मुनाफा कमा रहे है।

FAQ

Q: एलईडी बल्ब कितने का मिलता है?

LED की प्राइस वाट के अनुसार व क़्वालिटी के आधार पर न्यूनतम 75 रुपये से 699 तक की होती है। Amazon पर भी इसकी प्राइस आप देख सकते है

Q: एलईडी बल्ब की असेम्बली में इस्तेमाल सामग्रियों के नाम क्या है?

एलईडी बल्ब की असेम्बली में इस्तेमाल सामग्री सोल्ड़िंग आयरन, सोल्ड़िंग पेस्ट, स्क्रू, सोल्ड़िंग वायर  मुख्य होते है।

Q: LED का फुल फॉर्म क्या होता है?

LED का फुल फॉर्म light emitting diode होता है।

Q: LED बल्ब नार्मल बल्ब से क्यों अलग है?

LED बल्ब पावर consumption में नार्मल बल्ब से बहुत कम है। अर्थात अगर नार्मल 1 बल्ब 100 वाट ले रहा, तो 10 LED 100 वाट लेंगे। बिजली बचत में इसका अहम रोल होता है।

Thanks

अन्य पढ़े :

प्लाईवुड बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

नोटबुक मेकिंग बिजनेस कैसे शुरू करें

फर्नीचर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

Share this:

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: