फर्नीचर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | Furniture Making Business Plan in Hindi

हेलो दोस्तों आज हम आप लोगो को फर्नीचर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करे पूरी जानकारी हमारे इस आर्टिकल में देने जा रहा हूँ कैसे आप यह बिजनेस शुरू कर के अच्छे खासे पैसे कमा सकते है कहते हैं अगर किसी इंसान में कोई भी एक स्कील हो, तो वो कभी भूखा नहीं रह सकता बल्कि अपनी स्कील के दम पे अपना खुद का बिजनेस शुरू करके अच्छा खासा कमा सकता है।

ऐसा ही स्कील पर आधारित फर्नीचर बनाने का बिजनेस आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं। यदि आपको फर्नीचर बनाने का और उसे डिजाइन करने का शौक है, तो आप एक प्रोेफेशन डिजाइनर बन सकते हैं।

सभी घरों में टेबल, कुर्सी आदि कई सारे सजावटी फर्नीचर के सामान का उपयोग होता है, ऐसे में आप स्वयं ऐसी फर्नीचर की चीजें डिजाइन करके उसे अच्छे खासे दामों में बेच सकते हैं। तो आज हम बता रहे हैं आपको ‘‘फर्नीचर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें‘‘।

फर्नीचर क्या है

फर्नीचर लकड़ी से बनाने वाला, घरों को आकर्षक बनाने वाला, व हमारी संस्कृति को खुद में समाने वाला एक आरामदायक निर्माण है, जिसको आज प्रत्येक घरों में इस्तेमाल किया जाता है।
“डिज़ाइन संस्कृति बनाती है, सांस्कृतिक मूल्य बनाते है, मूल्य हमारे भविष्य को बताते है”।

फर्नीचर को संस्कृति को समाने वाला निर्माण उसमे मौजूद बहुत सी कला, रचना, डिज़ाइन, व उपयोगिता को बताने के लिए किया जाता है।

फर्नीचर मेकिंग बिजनेस क्या है

फर्नीचर को तैयार कर मार्केट में बेचकर, सप्लाई करके मुनाफा कमाने के कार्य को फर्नीचर मेकिंग बिजनेस कहा जाता है। आज कोई भी शादी हो, या कोई खास त्योहार, या किसी नई आफिस,स्कूल, बिल्डिंग का निर्माण, उसके सेटअप में सबसे पहले फर्नीचर की जरूरत पड़ती है जिससे आज फर्नीचर बिजनेस की बढ़ती मांग के चलते लोग इस काम को सीखकर या वर्कर को रखकर, इस काम द्वारा अच्छा मुनाफा कमा रहे है।

फर्नीचर मेकिंग के बिजनेस को कैसे शुरू करे

फर्नीचर मेकिंग के बिजनेस को शुरू करने के लिए कुछ जरूरी स्टेप होते है।

 जो मुख्य है-

  • मार्किट में फर्नीचर की मांग, यानी कौन की लकड़ी के फर्नीचर ज्यादा मांग में है, मार्केट में अलग अलग लकड़ियों की प्राइस का जानकारी रखे।
  • फर्नीचर को बनाने के बिज़नेस में सही जगह का चयन करें।
  • बिजनेस से जुड़ी लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन कराए।
  • बिजनेस के लिए जरूरी मशीनों को खरीदे व सेटअप करे।
  • फर्नीचर बनाने के लिए वर्कर की नियुक्ति करे।
  • Raw material को थोकविक्रेता व मार्केट से खरीदे।
  • बिजनेस की मार्केटिंग करे।
  • फर्नीचर तैयार करवाये।
  • ग्राहको व बड़े बड़े कॉरपोरेट सेक्टर, ठेकेदारों व construction sector में बेचे।
  • फर्नीचर सप्लाई करके मुनाफा कमाये।

इस प्रकार एक फर्नीचर का बिजनेस करने वाला व्यक्ति फर्नीचर के द्वारा अच्छा मुनाफा कमाता है।

फर्नीचर बनाने के बिजनेस में जगह कितनी आवश्यकता होती है

  • फर्नीचर को बनाने में एक खुले व बड़े जगह की जरूरत होती है, जहां पर फर्नीचर बनाने में इस्तेमाल मशीनों, उपकरणों, औजारों, व अन्य आवश्यक सामग्रियों को रखने या सेटअप आसानी से किया जा सके।
  • फर्नीचर के इस बिजनेस को ऐसी जगह करे, जहां फर्नीचर के लिए raw material , आसानी से मिल सके।
  • साधनो के, ट्रांसपोर्ट की अच्छी सुविधा मौजूद हो।
  • जगह लगभग 1200 से 1500 square fit  हो, जहां आसानी से सभी चीज़ों को बनाने में मुश्किलें न हो।
  • बिजनेस के लिए जगह ऐसी जगह हो, जहां फर्नीचर से जुडी मांग हो, व मुनाफा कमाया जा सके।

फर्नीचर मेकिंग के बिजनेस के लिए raw material कौन से इस्तेमाल किये जाते है

फर्नीचर मेकिंग के बिजनेस में कुछ जरूरी raw  material का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे फर्नीचर को बनाने में मदद मिलती है।

ये raw material मुख्य रूप से निम्न है-

  • लकड़ी (wood)
  • लकड़ी को सुरक्षित रखने वाला (wood preservative)
  • चिपकने के लिए (Adhesive)
  • प्राइमर
  • पेंट
  • ग्लास
  • सनमाईका
  • प्लाई

किसी भी फर्नीचर को बनाने में मुख्य रूप से ये सभी raw  material होते है, जिनके द्वारा फर्नीचर को आकर्षक व आरामदायक बनाया जाता है, कटिंग करके पार्ट को adhesive द्वारा चिपकाकर, sanding, प्रिमर, पेंट करके किसी भी फर्नीचर को तैयार किया जाता है, जिससे उसकी चमक व मजबूती सालो तक बनी रहती है।

फर्नीचर मेकिंग बिजनेस में कौन सी मशीने इस्तेमाल की जाती है

फर्नीचर मेकिंग बिजनेस में मशीने काम की क्वालिटी को और बेहतर बनाने व ज्यादा उत्पादन के लिए इस्तेमाल की जाती है।

ये मशीन है-

  • Hand cutting machine (लकड़ी की कटाई के लिए)
  • Wood planner (लकड़ी को सतह को प्लेन करने में)
  • Wooden hack saw
  • Hand drill machine (लकड़ियों में छेद करने में)
  • Belt sander (चमक को लाने में)
  • Buffing machine

फर्नीचर निर्माण में क्या-क्या हो सकता है 

फर्नीचर निर्माण में कई तरह की चीजें शामिल हो सकती है। सभी घरों में बैठने के लिए कुर्सी, टेबल की जरूरत होती है। इतना ही नहीं ज्यादातर घरों में डबल बेड, सिंगल बेड, कपड़े रखने के लिए अलमारी, सामान रखने के लिए शेल्वेज, सजावट के लिए कुछ छोटे-मोटे आइटम, खिड़की, दरवाजे, खिलौने, मंदिर, झूला आदि ऐसे कई सामान होते हैं, जो ज्यादातर लोग अपने घरों में उपयोग में लेते ही हैं। जो ज्यादा पैसा खर्च नहीं कर सकता वो भी अपने घर पर आए मेहमानों के बैठने के लिए कुर्सियां और टेबल खरीदता ही है। ज्यादातर घरों में कम्प्यूटर भी आ चूका है तो कम्प्यूटर रखने के लिए अक्सर लोग टेबल भी बनवाते हैं।

ऐसे में एक अच्छी अपार्चूनिटी आपके सामने है। आप खुद सोचेंगे तो आपके सामने ऐसी कई सारी चीजें होगी या आ जाएगी जो कि लकड़ी से बनकर तैयार होती है। आप इन सभी चीजों में अपनी स्कील को आधार बनाएं, क्योंकि बनाते बहुत हैं। लेकिन ऐसा बनाओ जो आप जैसा कोई बनाने की कोशिश करें तो भी नहीं बना सके और आपकी डिजाइन को पसंद करके लोग केवल आपके पास ही फर्नीचर बनवाने के लिए आए।

फर्नीचर मेकिंग बिजनेस में मैनपॉवर की आवश्यकता कितनी होती है

फर्नीचर मेकिंग के बिजनेस में वर्कर या मैनपॉवर बिज़नेस की साइज पर निर्भर करती है, छोटे बिजनेस में कम लोगो या वर्कर व बड़े बिजनेस में ज्यादा वर्कर की आवश्यकता होती है। फर्नीचर मेकिंग के इस बिजनेस में शुरुआत में लगभग 4 से 5 वर्कर व बड़े बिज़नेस में 10 से 12 मैनपॉवर की आवश्यकता होती है, जिससे समय से काम को किया जा सके।

फर्नीचर को बनाने का प्रोसेस क्या होता है

फर्नीचर को बनाने का प्रोसेस एक क्रमबद्व तरीके से करने से होता है, कोई भी स्टेप या प्रोसेस को न करने से फर्नीचर की क्वालिटी में फर्क़ आता है।

फर्नीचर बनाने का प्रोसेस-

  • ग्राहक की मांग के अनुसार लकड़ी की व्यवस्था करना।
  • ग्राहको के मांग के अनुसार कागज़ पर लकड़ी के डिज़ाइन तैयार कर लेना।
  • फर्नीचर बनाने वाले औजारों व उपकरणों से लकड़ी को कट कर उस फर्नीचर के अलग अलग पार्ट के आकार का कट करके तैयार करना।
  • नॉन मेटिंग(जो सतह नही मिलनी, चिपकनी) की sanding करके उसे साफ व चमकाया जाता है।
  • आवश्यकता अनुसार सभी पार्ट को पेंच  कारपेन्टरी इंस्ट्रूमेंट की मदद से फिट व चिपकाया जाता है।
  • फिर दुबारा sanding व डिफेक्ट चेकिंग की जाती है।
  • वुड प्राइमर की मदद से लकड़ियों को सुरक्षित रखने के लिए प्राइमर किया जाता है।
  • पूरा प्राइमर का एक कोट सूखने पर दूसरा कोट किया जाता है।
  • आखिर में पेंट करके उत्पाद या फर्नीचर को तैयार कर लिया जाता है।

फर्नीचर के लिए ग्राहक कैसे बनाएं 

फर्नीचर का बिजनेस शुरू करने के बाद आप आसानी से अपने कस्टमर्स बना सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको ऐसे फर्नीचर का निर्माण करना होगा जिसे देखते ही कस्टर आपके उस फर्नीचर की ओर आकर्षित हो जाए। कहने का तात्पर्य है कि आप काम बारिकी से तथा सफाई से करें जो कस्टर्म को उसकी ओर आकर्षित कर दे।

इसके बाद आप तरह-तरह के छोटे-छोटे सजावटी सामान बनाके उसे ओनलाइन स्टोर पे बेच सकते हैं। सौ में से एक व्यक्ति ऐसा भी होगा जो आपकी मांगी गई रेट में उसे खरीद लेगा। इसके बाद तो ग्राहक बनाने के लिए आप फर्नीचर का काम करने हेतु दुकानों और मकानों के लिए ओर्डर ले सकते हैं।

आप किसी मकान के लिए डेकोरेशन से संबंधित ओर्डर ले सकते हैैं जिसमें आप फर्नीचर की शेल्वेज, कुछ सजावटी सामान आदि बनाकर दे सकते हैं। इसके साथ-साथ आप ज्यादा से ज्यादा कस्टमर्स की नजरों में अपने फर्नीचर की यूनिक से यूनिक डिजाइन लेकर आएं।

फर्नीचर बनाने के बिजनेस में मुनाफा कितना होता है

फर्नीचर बनाने के बिजनेस में आप पानी की तरह पैसा कमा सकते हैं। क्योंकि इसमें आपकी कारीगरी आपको लागत से दुगुना या तीगुना मुनाफा दिलवा सकती है। एक टेबल बनाने में यदि आपके 1500 की लागत आ रही है, तो आप आसानी से उसे 3500 से चार हजार तक बेच सकते हो।

इसके अलावा अगर आप कभी किसी मकान में फर्नीचर का ओर्डर लेते हो, तो आप उसमें बहुत बड़ा लाभ कमा सकते हो। कहने का अर्थ है अगर आप महीने के तीस टेबल भी बनाके बेचते हो, तो भी आप आसानी से चालिस से पचास हजार रुपये कमा सकते हो, हालांकि अन्य चीजों पर मुनाफा ज्यादा हो सकता है।

FAQ

Q : लकड़ी के फर्नीचर बनाने वाले को क्या कहते है?

लकड़ी के फर्नीचर बनाने वालों को कारपेंटर कहते है।

Q : लकड़ी के फर्नीचर में प्राइमर का इस्तेमाल क्यों करते है?

लकड़ी के फर्नीचर में प्राइमर का इस्तेमाल लकड़ी को दीमक से लकड़ी के कीड़े से बचाने के लिए करते है, जिससे लकड़ी को सुरक्षित रख सके।

Q : लकड़ी के फर्नीचर को कितने भागो में बांट सकते है?

लकड़ी के फर्नीचर की 4 भागो में बांट सकते है-

  • घरेलू फर्नीचर
  • कॉरपोरेट फर्नीचर
  • होटल फर्नीचर
  • फर्नीचर के अन्य भाग

ये सब इनके अंर्तगत आते है।

अन्य पढ़े : 

फर्नीचर की दुकान कैसे खोले पूरी जानकारी

प्लाईवुड बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

8 Comments

Leave a Reply to Mohd atif khan Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: